मप्र में सिंधिया नेतृत्व पर कमलनाथ का ब्यान, कॉग्रेस को शुभ संकेत

वीरेन्द्र शर्मा, विलेज टाइम्स समाचार सेवा : कॉग्रेस के पास से आये हालिया ब्यान को लेकर लोगों की क्रिया, प्रतिक्रिया जो भी हो। मगर कॉग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने मप्र में सिंधिया नेतृत्व की बात स्वीकार कर यह साबित कर दिया। कि उनकी कितनी गहरी आस्था कॉग्रेस और कॉग्रेस आलाकमान के लिये है। जिस स्थिति से मप्र ही नहीं समुचे देश में कॉग्रेस गुजर रही है, ऐसे में कमलनाथ का यह व्यान कि मप्र में सिंधिया के  नेतृत्व में चुनाव लडऩे में उन्हें कोई परेशानी नहीं और वह आलाकमान से सिफारिश करेगें कि वह सिंधिया को मप्र में मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित करें। यह मप्र कॉग्रेस ही नहीं, समुची कॉग्रेस के लिये शुभसंकेत है। 

अगर कमलनाथ की दूर दृष्टि और दिग्वििजय सिंह के राजनैतिक अनुभवों का लाभ सिंधिया का चेहरा सामने रख 2018 के आसन्न चुनावों में कॉग्रेस को मिलता है तो कोई कारण नहीं जो मप्र में कॉग्रेस की सरकार पूर्ण बहुमत में कॉग्रेस की सरकार न बने। क्योंकि ज्योतिरादित्य सिंधिया वह ऊर्जावान युवा नेता के रुप में समुचे मप्र में अपनी छवि कायम करने में कामयाब रहे है। जिनके बारे में विरोधी भी यह कहते नहीं थकते कि वह नीति सिद्वान्तों एवं जनसेवा के साथ जीवन मूल्यों की जीवन्त राजनीति करते है। इसी का परिणाम है कि कॉग्रेस के लगभग सभी वरिष्ठ नेताओं का उन्हें समुचे मप्र में स्नेह हासिल है और उनके नेतत्व में युवाओं, बुद्धिजीवी एवं मातृशक्ति की एक लंबी चौड़ी फौज है। भाजपा की 13 वर्ष पुरानी सरकार से दो-दो हाथ प्रदेश, शहर, गांव, गली के मुद्दों एवं भ्रष्टाचार और कुशासन के खिलाफ करने तैयार है।

देखना होगा कि नाथ का यह व्यान कितना कॉग्रेस के लिये कारगार होगा, यह तो आने वाला समय ही तय करेगा अगर आलाकमान सिंधिया के नेतृत्व को लेकर निर्णय जल्द करता है तो निश्चित ही कॉग्रेस के लिये यह बड़ी संजीवनी साबित होगा 
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment