निष्पक्ष पारदर्शी चुनाव के लिये वैलेट पेपर ही बेहतर माध्यम लोकतंत्र की रक्षा सभी राजनैतिक दल ही नहीं, नागरिकों का कर्तव्य

विलेज टाइम्स समाचार सेवा: जिस तरह के आरोप-प्रत्यारोप ईवीएम मशीनों को लेकर राजनैतिक दलों के बीच रहे और जिस तरह की चर्चायें इलेट्रॉनिक उपकरणों को लेकर सामने है। ऐसे में निष्पक्ष पारदर्शी चुनावों के लिये जरुरी है कि चुनाव वैलेट पेपर के साथ वीडियोग्राफी के माध्यम से कराये जाये। जिससे किसी को शिकवा शिकायत का मौका न मिल सके और लोग निर्भीक भांव से अपने मतों का इस्तेमाल कर सके। 

जिसके लिये देश के राजनैतिक दल ही नहीं, नागरिकों को भी पहल करनी चाहिए क्योंकि यह जबावदेही किसी भी लोकतंत्र में केवल राजनैतिक दलों की ही नहीं आम नागरिक की ही होती है। अगर किसी भी निष्पक्ष संस्था को लेकर अगर कोई सवाल है तो उनका निदान भी स्वस्थ लोकतंत्र में आवश्यक होता है। 

अब इसे हम अपने लोकतंत्र का सौभाग्य कहे या र्दुभाग्य कि आज भी देश की 80 करोड़ से अधिक आबादी सस्ते राशन की मोहताज तो आधी आबादी आज भी अशिक्षित और अजागरुक है। यह हमारी असफलता ही है कि जिन 70 वर्षो में हमारी 3-3 पीढिय़ां सफर कर चुकी हो और इतनी बड़ी तादाद में लोग सस्ते राशन और शिक्षा के मोहताज है उसमें भी राष्ट्रीय शिक्षा का पूर्णता आभाव, तो अन्दाजा लगाया जा सकता है कि लोकतंत्र को ईवीएम की जरुरत है या वैलेट पेपर की, निर्णय देश को करना है। 
जय स्वराज
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment