स्वाभिमान हमारी महान सांस्कृतिक विरासत, कर्तव्य निर्वहन वंशानुगत धरोहर- पवन मांझी

म.प्र. शिवपुरी- खुशहाल जीवन के लिये रागिनी हाईस्कूल में आयोजित स्वराज द्वारा चर्चा कार्यक्रम में खुशहाल जीवन पर बोलते हुये छात्र पवन मांझी ने बताया कि स्वाभिमान हमारी सांस्कृतिक विरासत तो कर्तव्य निर्वहन हमारी वंशानुगत धरोहर है। जो विपत्ति के क्षड़ों में हमें एकता का ऐहसास कराती है। 

इस मौके पर नमिता, हिवा खान, ज्योति शिन्दे, रोहित राजपूत, प्रदीप इत्यादि ने भी खुशहाल जीवन के बारे में अपने विचार रखें। अपने स्वराज विचार की परिकल्पना को समझने छात्रों के बीच पहुंचे स्वराज के मुख्य संयोजक व्ही.एस. भुल्ले ने बच्चों से खुशहाल जीवन के नुक्शे जानते हुये अपने उदबोधन में कहा कि इतनी कम उम्र के बच्चों से जीवन के गहरे ज्ञान को प्राप्त कर, में स्वयं को गौरान्वित महसूस कर रहा हूं। अगर सभी बच्चे खुशहाल जीवन की सच्चाई को जान, जीवन निर्वहन के प्रकृति प्रदत्त मार्ग को अंगीकार कर, अपने कर्तव्य उत्तरदायित्वों का निर्वहन करते है तो निश्चित ही व्यक्ति से व्यक्ति, परिवार से समाज और समाज से राष्ट्र के लिये ही नहीं, मानव एवं जीव, जगत के लिये एक बेहतर संदेश दे सकते है।

उन्होंने कहा कि जो लोग प्राकृतिक नियम सिद्धान्तों के संरक्षण में स्वयं का जीवन अपने कर्तव्य और उत्तरदायित्व निर्वहन के साथ जीने की कोशिश करते है उनका जीवन हमेशा खुशहाल और संपन्न बनता है। और वह समाज में एक ऐसे महा मानव के रुप में पहचाने जाते है जिनका लोग अनुशरण कर सके। 

उन्होंने महान भारत और भारत के महान नागरिकों की उपायदेयता पर प्रकाश डालते हुये कहा कि हमें भारत का नागरिक होने पर गर्व होना चाहिए क्योंकि इस महान भू-भाग पर आपने हमने नहीं, देश की, विश्व की महान विभूतियों ने जन्म लिया है जिन्होंने कभी न कभी समुचे विश्व में अपने यश और कीर्ति का परचम लहराया है। 

इस मौके पर उपस्थित स्कूल प्राचार्य महेश कुमार शर्मा ने स्वराज संयोजक व्ही.एस. भुल्ले का इतने अच्छे कार्यक्रम के लिये आभार व्यक्त किया, तो संचालन नम्रता सेना ने किया। इस बीच कार्यक्रम उपरान्त छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत भी किया गया
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment