सडक़ निर्माण, नाला सफाई के बीच, सिन्ध पहुंची संपबैल, कड़ी मेहनत का परिणाम देख प्रफुल्लित हुई यशोधरा

विलेज टाइम्स, म.प्र. शिवपुरी- शहर में जयपुर, हैदराबाद स्टाइल में बन रही सडक़ों और एक मुद्दत केे बाद खुद के अस्तित्व के लिये संघर्षरत नालो की ऐतिहासिक सफाई के बीच इंटेकबेल से चलकर संपबैल तक पहुंची सिन्ध को देख म.प्र. शासन की खेल एवं युवक कल्याण, धार्मिक न्याय, धर्मस्य मंत्री श्रीमंत यशोधरा राजे सिंधिया काफी प्रफुल्लित नजर आयीं। विगत वर्षो से तमाम बाधाओं को पार करती हुई आखिर सिन्ध संपबेल तक बड़े ही सुगमता से जा पहुंची। जिसे 25 जून तक फिल्टर प्लान्ट तक का सफर तय करना है उसके बाद सिन्ध का शुद्ध पेयजल शिवपुरी में होगा।

विगत वर्षो से मीटिंगों पर मीटिंग व सतत स्वयं भ्रमण कर, सिन्ध का समुची गर्मी व तपती दोपहर में निरीक्षण कर निगाह रखने वाली म.प्र. सरकार की खेल युवा कल्याण धार्मिक न्याय एवं धर्मस्य मंत्री ने जैसे ही इंटेकबेल के लीवर घुमाया इंटेकबेल पर लगी भारी भरकम मोटरों ने फर्राटे भरना शुरु कर दिया और अगले ही छड़ सिन्ध का जल स पबेल तक जा पहुंचा। जिसे देख उपस्थित लोगों व निर्माण कार्य में जुटे लोगों के बीच खुशी की लहर दौड़ पड़ी, जैसी कि खबर शिवपुरी शहर पहुंची लोग दांतों तले उंगली दबाने पर मजबूर दिखे। क्योंकि सियासी षडय़ंत्रकारियों का मानना था कि सिन्ध किसी भी सूरत में न तो हिलेगी, न ही मड़ीखेड़ा से चल, अपना शिवपुरी तक का सफर, कभी तय करेगी।

बहरहाल शुद्ध पेयजल के लिये कलफते लोगों में खुशी इस बात की है कि अगर 25 जून तक सिंध सतनबाड़ा स्थित फिल्टर प्लान्ट तक पहुंच जाती है जैसा कि उसे निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार सतनबाड़ा स्थित फिल्टर प्लान्ट तक पहुंचना है।

मगर सिन्ध को संपबेल में भरता देख मंत्री श्रीमतं यशोधरा राजे सिंधिया काफी प्रफुल्लित दिखी और उन्होंने समुची टीम को बधाई देते हुये आशा व्यक्त कि सिन्ध का शुद्ध पेयजल निर्धारित समय सीमा में शिवपुरी शहर वासियों को उपलब्ध हो।

ज्ञात हो कि शहर के अन्दर भी लाइन बिछाने का कार्य तेज गति से चल रहा है। इस बीच मंत्री यसोधरा राजे सिंधिया ने मड़ीखेड़ा पहुंच समुची कार्यवाही देख भरी दोपहर ही निरीक्षण किया घन्टो इंटेकबेल व संपबेल पर बिताने के बाद उन्होंने बगैर भोजन किये ही शहर भर में बन रही सडक़ों, पुलिया और नाला सफाई का कार्य पूर्व की भांति स्वयं साइट पर पहुंच कर देखा। मंत्री के इस तरह के तेवर देख फिलहाल अधिकारी सनाके में है। मगर इसके चलते अब निर्माण कार्य गति पकडऩे पर मजबूर है, जो उजाड़ हो चुके इस सुन्दर शहर केे लिये शुभ संकेत है।
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment