मुख्यमंत्री के अहम निर्णय के बीच मंत्री के इस्तीफे की मांग

वीरेन्द्र शर्मा, विलेज टाइम्स, म.प्र. शिवपुरी- म.प्र. में रेत के वैध-अवैध उत्खन्न पर मुख्यमंत्री के सख्त निर्णय के बीच प्रदेश सरकार के एक मंत्री पर आपराधिक  प्रकरण दर्ज होने के पश्वात विधानसभा में विपक्ष के नेता ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर धरना दे, संकेत स्पष्ट कर दिया है। कि अबकी बार भाजपा के खिलाफ जंग आर-पार की होगी। अब इसमें कितना सच कितना गलत है यह तो सडक़ पर विगत कई वर्षो से अपनो के ही कारण धक्के खाती कॉग्रेस ही जाने। मगर मुख्यमंत्री ने विगत कुछ दिनों में जो साहसिक निर्णय लिये है उनका सारा दारोमदार उन घोषणाओं पश्चात इनके क्रिन्यान्वयन पर है। जिस पर अभी भी म.प्र. सरकार अपनी पकड़ ठीक से नहीं बना पा रही है। 

कुछ माह पूर्व जिस तरह 75 प्रतिशत मार्क लाने वाले विघार्थियों को मुक्त शिक्षा एवं नर्मदा किनारे की शराब की दुकाने बन्द करने के निर्णय के बाद नर्मदा नदी से पूर्णता रेत उत्खन्न बन्द किये जाने के निर्णय निश्चित ही वह साहसिक निर्णय है जिसके दूरगामी परिणाम अवश्य प्रदेश के सामने होगें। काश कई अछूते पड़े अन्य क्षेत्रों में भी अगर मुख्यमंत्री साहसी निर्णय ले पायें, तो यह म.प्र. की भाजपा सरकार ही नहीं प्रदेश की करोड़ों करोड़ जनता के लिये लाभप्रद होगें। अहम मुद्दे सामने है। और निर्णय सरकार को लेना है। देखना होगा कितनी जल्द सरकार उन मुद्दों को छोड़ उन पर भी साहसिक निर्णय ले पाती है। 
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment