विवादों के बीच बड़े परिणाम नेहा का, लक्ष्य पर विराम

विलेज टाइम्स, म.प्र. शिवपुरी- जब से शिवपुरी जिला पंचायत सीइओं के रुप में आई.ए.एस अधिकारी नेहा मारव्या की पदस्थापना हुई तभी से विवादों से उनका चोली दामन का साथ रहा है। और इस दौरान वह सर्वाधिक चर्चा में तब आयी जब उन्हें शिवपुरी जिले के प्रभारी कलेक्टर के रुप में एक माह तक कार्य करने का मौका मिला। मगर इस बीच न तो उन्होंने अपनी कार्यप्रणाली के तीखे तेवर छोड़ें, न ही मिलनसार व्यवहारिक नजरियां, काम से काम और सिर्फ कानूनन, सरकार का काम उनकी कार्यप्रणाली में शुमार रहा। इस बीच उन्होंने अपने कार्यालय जिला पंचायत में भी बड़े पैमाने पर सर्जरी की और मैदानी अमले को भी चुस्त दुरुस्त किया।  

ये अलग बात है कि विधि अनुसार अपने कार्यप्रणाली को अंजाम देने वाली इस युवा आई.ए.एस. पर कर्तव्य निर्वहन के दौरान, व्यवहारिक सवाल भले ही उनके अधीनस्थ अधिकारी, कर्मचारियों ने दबी जुबान में उठाये हो, तो कुछ मैदानी कर्मचारी अपने मुखिया के व्यवहार से असहमत उनकी शिकायत लेकर कलेक्टर तक पहुंच, आर-पार के मूड में नजर आये हो। 

मगर इन सब के बीच नेहा की कार्यप्रणाली ने वह परिणाम ला खड़े किये। जो बड़े तो है ही, और जिले की सेहत के लिये भी बेहतर साबित हुये है, जिन लक्ष्यों को पाने वर्ष भर हर जिला ऐड़ी चोटी का जोर लगाता है मगर वह लक्ष्य नेहा मारव्या पाने में सफल रही।  

सूत्रों की माने तो वर्ष 2016-17 के लक्ष्य 31 मार्च तक सरकार की प्राथमिकता वाली विभिन्न योजनाओं में हासिल कर लिये गये। जिसमें 42000 शौचालय, 20300 प्रधानमंत्री आवास, 11000 इन्दिरा आवास एवं 1252 मुक्तिधाम का लक्ष्य पूर्ण कर लिया गया है। इसके अलावा कपिल धारा के कूप, खेल, मैदान सुदूर सडक़ के लक्ष्य भी शतप्रतिशत हासिल किये गये है। इतना ही नहीं पंचपरमेश्वर योजना के तहत हर गांव के लिये 3 वर्ष की डीपीआर तैयार कर कार्यो की शुरुआत इस बात के संकेत है कि वर्ष-2017-18 के लक्ष्य भी समय से पूर्ण कर लिये जाये, तो कोई अतिसंयोक्ति न होगी।  

अगर विगत वर्षो में फिसड्डी रहने वाले इस जिले के ग्रामीण विकास की रफतार यही रही, तो विवादों का घर बना सीइओ जिला पंचायत का कारवां इस वर्ष भी खासे परिणाम लाने में सफल और सक्षम रहेगा। मगर हालिया खबर यह है कि विकास कार्यो के बढ़ते दबाव के बीच इस आई.ए.एस के तेवर वैसे के वैसे है जो चर्चा का विषय भी है। 
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment