जनवेदना, सैलाब के बीच, नोटबंदी के शहीदों को, सिंधिया ने दी सामूहिक श्रद्धाजंली

व्ही.एस.भुल्ले। गांधी के गुनहगारों को सबक सिखाने, नोटबंदी के नाम आम गरीब, किसान, माता-बहिनो को अपनी सनक पूर्ण करने देश के 1 अरब से अधिक लोगों को लाइनों में खड़े करवाने वालो के खिलाफ, महान देश के एक अरब से अधिक महान नागरिकों से एक होकर, संघर्ष करने का आव्हन किया है। क्योंकि हमारी विविधता में एकता का होना ही हमारी राष्ट्र की महानता है।  एक व्यक्ति, एक विचार धारा, एक महान व्यक्ति की अंध भक्त सरकार के खिलाफ उसके केन्द्रीयकरण के मंसूवो को धरासायी करने, आज म.प्र. के शिवपुरी जिले में शहर कॉग्रेस द्वारा आयोजित जनवेदना रैली के मंच से हुंकार भरी, खचा-खच भरे सभा स्थल पर उमड़े जनसैलाब के बीच नोटबंदी के शहीदों को दो मिनिट का मौन रख, सामूहिक श्रद्धाजंली देने वाले सिंधिया ने केन्द्र व म.प्र. सरकार को आड़े हाथों लेते हुये कहा कि सरकार जब कोई काम नहीं कर पा रही, जनता से किये वायदे पूरे नहीं कर पा रही। इससे विचलित हो, सरकार जनसेवा से इतर कुछ ऐसे काम करने में जुटी है। जिससे न तो देश, न ही देश के लोगों का भला होने वाला है। सनक के रथ पर सवार केन्द्र की सरकार कभी ग्रीन इण्डिया तो कभी डिजीटल इण्डिया तो कभी स्वच्छता तो कभी अचानक नोटबंदी जैसा वेदनापूर्ण फरमान सुनाती है। केन्द्र की सरकार को पूरे ढाई वर्ष, तो म.प्र. की सरकार को 13 वर्ष पूर्ण हो चुके है, मगर उनके पास देश की जनता को बताने कुछ भी नहीं। 

उन्होंने कहा कि देश में स्वच्छता सडक़ों की साफ सफाई से नहीं, दिल, दिमाक की साफ सफाई से आयेगी। जो लोग राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का फोटो हटा, स्वयं का फोटो लगाने का मंसूबा पाल रहे है। ऐसे लोगों की मंशा कभी पूर्ण नहीं होने वाली क्योंकि हमारा देश विविधता वाला देश है और एक है। इसीलिये वह महान है। आज कॉग्रेस को आपके  साथ की जरुरत है। हम मिल-जुल कर यह जंग अवश्य जीतेगें है। क्योंकि हमारा राष्ट्र महान है और हम हमारे महान राष्ट्र की महानता को अछुड़ रखने देश के 1 अरब 30 करोड़ लोग कटिबद्ध है। 

उन्होंने कहा कि संविधान के किस कानून में लिखा है कि देश का नागरिक बैंको में जमा अपना धन अपनी मर्जी अनुसार नहीं निकाल सकता। मगर नोटबंदी के चलते देश के आम नागरिकों को मजबूर किया जा रहा है। केन्द्र व म.प्र. की राज्य सरकार को जादूगरों की सरकार करार देते हुये कहा कि आज पीढि़त मानवता इनकी जनविरोधी नीति, झूठे आश्वासनों से कलफ रही है और इनके मंत्रियों की मण्डली जनधन पर मजे कर रही है।  जो म.प्र. ही नहीं, देश की जनाकांक्षाओं के खिलाफ है, जिसके लिये सडक़ से लेकर संसद तक  कॉग्रेस संघर्ष के लिये तैयार है। 

उन्होंने कहा कि जब भी कॉग्रेस की सरकार म.प्र. व देश में आप लोगों के आर्शीवाद से सत्तारुढ़ होगी। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि देश के आम गरीब, मजदूर, किसान के साथ न्याय होगा। हमें हमारे पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और हमारी राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी जी के ऐतिहासिक निर्णय को नहीं भूलना चाहिए जिसके तहत देश के किसानों के हित में किसान के 72 हजारों करोड़ रुपये रिण माफी का फैसला लिया गया था। मुझे दु:ख ही नहीं, अफसोस है कि म.प्र. सरकार 3 वर्षो से प्राकृतिक आपदा झेल रहे, किसानों को 2 हजार करोड़ रुपये राहत बांटने का, जो वायदा किसानों से किया था। उसके तहत किसानों को आज तक एक रुपया तक नहीं मिला है। जो भाजपा सरकार की हकीकत जानने काफी है। 
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment