बैठक का सच प्रवक्ता बताएंगे: यशोधरा राजे सिंधिया

विलेज टाइम्स सम्पादक वीरेन्द्र शर्मा से खेल युवा कल्याण, धर्मस्व विभाग मंत्री से सीधी बात 
सवाल- बैठक को लेकर छपी खबरों का सत्य क्या है जिसमें आपके नाम को कोड किया गया है, और एक विभाग आपसे बेहतर परर्फोमेन्स के बावजूद वापिस लिया गया है?
जबाव-हर मंगलवार को होने वाली मंत्री मण्डल की बैठक में जनहित व जनकल्याणकारी नीतियों से जुड़े कई मुद्दों पर चर्चा होती है। जिसकी जानकारी बैठक पश्चात विधिवत सरकार के प्रवक्ता द्वारा दी जाती है। अब मुझसे आप किस विषय पर जबाव चाहते है मुझे नहीं पता, मैं बस मंत्री होने के नाते इतना कहना चाहती हूं कि किसी भी सरकार के मंत्री मण्डल विस्तार और विभागों की जबावदेही सौपना सरकार के मुखिया का विशेषधिकार होता है, उसमें किन्तु, परन्तु का कोई स्थान नहीं होना चाहिए।

सवाल- क्या आपको नहीं लगता कि जिस तरह से देश के इतिहास में पहली मर्तवा किसी प्रदेश की इंवेस्टर्स मीट में 24 देशों के अलावा देश के लगभग अधिकांश बड़े औद्योगिक घरानों ने निवेश की मंशा से सिरकत की, वाणिज्य एवं उघोग विभाग का आपके नेतृत्व में एक बड़ा प्रयास था।  प्रदेश में उघोग स्थापित करने की दिशा में, मगर ठीक अगली इन्वेस्टर्स मीट से पूर्व ही आपसे वाणिज्य उघोग विभाग वापिस ले लिया गया, इसे आप किस दृष्टि में देखती है?
जबाव- देखिये हमारे यशस्वी ऊर्जावान मुख्यमंत्री एक लंबी सोच और बेहतर समझ वाले ऊर्जावान नेता है, जिनकी लोकप्रियता के आगे अब विपक्ष भी बोना नजर आता है। हमारे मुख्यमंत्री जी की सक्रियता का परिणाम है कि विपक्ष पर अब मुद्दे ही नहीं बचे। रहा सवाल मंत्री मण्डल विस्तार का तो यह उनका विशेषाधिकार है उन्हें जनहित में प्रदेश हित में जो उचित लगा उन्होंने निर्णय लिया, इसमें मैं क्या कह सकती हूं।

सवाल- 75 वर्ष का फार्मूला केन्द्र में फेल हो चुका मगर मप्र में कड़ाई से पालन से होने के नाते, सरकार के दो सहयोगी वरिष्ठ मंत्री उसी फार्मूले के तहत मंत्री मण्डल से बाहर हो गये। जिसे लेकर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भी अपनी पीढ़ा वरिष्ठ पार्टी नेताओं की पार्टी में हालत को लेकर व्यक्त कर चुकी है, क्या कहेगीं आप?
जबाव- यह संगठन और आलाकमान से जुड़ा विषय है, मुझे इसमें कुछ नहीं कहना।

सवाल- क्या आपकों नहीं लगता कि इस मंत्री मण्डल विस्तार से सरकार काफी मजबूत और बेहतर परिणाम देने की स्थिति में आ गयी है।
जबाव- उन्होंने पलट वार करते हुये कहा कि क्या इससे पूर्व सरकार कमजोर थी। उन्होंने कहा सरकार पहले भी मजबूत थी आज भी है और भविष्य में भी मजबूत ही रहेगी, और 2018 में भी हमारी ही सरकार बनेगी। किसी को संदेह नहीं होना चाहिए क्योंकि हमारे लोकप्रिय मुख्यमंत्री जी ने जनकल्याणकारी योजनाओं में क्रान्तिकारी तथा मजबूत निर्णय लिये है। जिसमें महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में लिये गये निर्णय ऐतिहासिक है, हां कुछ निरंकुश नौकरशाह अवश्य है, जो मनमानी करते है, मगर उसके लिए भी मु यमंत्री जी ने मंत्री अधिकारियों की संयुक्त बैठक ले, यह स्पष्ट कर दिया है कि फाईलों की गति निरन्तर बनी रहे, जिससे कार्यो में रुकावट न आने पाये। 
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment