सड़क पर तैनात शिव की सुरक्षा

विलेज टाइम्स, म.प्र. शिवपुरी, फरवरी 2016- कुछ हो न हो मगर सड़क पर तैनात शिव सरकार की सुरक्षा देख सुख की अनुभूति अवश्य होती है। नाम है डायल 100 नई नवेली सफारी सुरक्षा गार्ड सहित हाईटेक तकनीक से लेस सुसज्जित है, जो किसी भी नागरिक के असुरक्षित मेहसूस होने पर 100 डायल करते ही तत्काल उसकी सुरक्षा में पहुंच जाती है। कन्सेप्ट जिसका भी हो मगर म.प्र. में कमाल का साबित हो रहा है। 


किसी भी शहर में प्रवेश से पहले नाके, चौराहों पर तैनात डायल 100 इस बात का परिणाम है कि म.प्र. पुलिस नागरिकों की सुरक्षा को लेकर कितनी संवदेनशील है। 
मगर वर्तमान माहौल के बीच जिस तरह की घटनायें म.प्र. में घट रही है उनके मद्देनजर म.प्र. पुलिस को नागरिकों की सुरक्षा को लेकर और अधिक अपडेट होने की जरुरत है, जिसमें म.प्र. सरकार की भूमिका अहम है। वर्तमान में सुरक्षा को लेकर जो हालात म.प्र. में है, उससे निवटने सरकार को 2 कदम और आगे बढ़ा चाकचौबंद सुरक्षा के इन्तजाम करने की आवश्यकता है। प्रायोगिक तौर पर कोई नया सिस्टम नहीं बल्कि मौजूद पुराने सिस्टम को ही डबलब कर नया रुप दिया जा सकता है। म.प्र. के बेरोजगार, युवा शक्ति की भूमिका अहम हो सकती है। 
अगर म.प्र. सरकार कानूनी तौर पर कानून बना 18 से 21 वर्ष के अच्छे कदकाठी के मजबूत युवाओं की पलटन एक निश्चित मानदेय जो 10 से 15 हजार हो सकता है। 3 वर्ष के लिये उपयोग में ला सकती है। जिन्हें बेहतर फिजीकल ट्रेनिंग के बाद नागरिकों की सुरक्षा में पुलिस के साथ शहर, कस्बा स्तर पर 100 के साथ ऑन कॉल तैनात किया जाये। और 3 वर्ष की सन्तोष जनक सेवा पश्चात पुलिस भर्ती में प्राथमिकता दी जाये तो डायल 100 की तरह डायल 100 तत्काल सुरक्षा शहर, कस्बों को मुहैया कराई जा सकती है। साथ ही पुलिस को भी अच्छे मजबूत कदकाठी नौजवानों फिजीकल रुप से फिट फौज मिल सकती है। 
अपुष्ट सूत्रों की माने तो जिस डायल 100 की तैनाती में सरकार 600 करोड़ से अधिक की धनराशी खर्च रही है। अगर कस्बा शहर की स पूर्ण सुरक्षा में अगर सरकार 15 हजार रुपये प्रति सैनिक खर्चती है तो लगभग 460 करोड़ का अतिरिक्त खर्च हो सकता है। मगर म.प्र. का नागरिक स पूर्ण सुरक्षित स्वयं को सकेगा। जिसमेें हर जिले को 500 नौजवान का अतिरिक्त मौजूद बल के अलावा मिल सकेगें। 
बहरहाल जो भी हो अगर सरकार तत्काल केवल फिजीकल पैमाना निर्धारित कर इन्टर, हाईस्कूल पास 25000 नये युवाओं को रोजगार दे, प्रदेश की सुरक्षा सुनिश्चित करती है तो यह शिव सरकार का प्रदेश की सुरक्षा के एक ऐतिहासिक कदम होगा, और बात-बात पर तनाव पूर्ण स्थिति बल का इन्तजार पुलिस की बैज्जती, तोड़ फोड़, आगजनी करने वालो से तत्काल निपटा जा सकता है और म.प्र. के शान्तप्रिय नागरिक सुकून से रह सकेगें। 
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment