दमन के खिलाफ, धिक्कार दिवस- त्रिस्तरीय पंचायती राज

विलेज टाईम्स, 29 अक्टूबर 2015। म.प्र. भोपाल चुने हुये पंचायतीराज प्रतिनिधियों के 28 अक्टूबर को आयोजित आन्दोलन को कुचल जाने से आक्रोशित पंचायतीराज संगठन के नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेस आयोजित कर पत्रकारों से कहा कि वह इस दमन के विरोध में धिक्कार दिवस मनायेगें। प्रेस कॉन्फे्रंस को स बोधित करते हुये पंचायतीराज संगठन के नेताओं ने कहा कि हम 1 न बर स्थापना दिवस को पूरे प्रदेश में धिक्कार दिवस के रुप में मनायेगें, उसके बाद फिर दिल्ली की ओर कूच कर देश के प्रधानमंत्री से मुलाकात कर म.प्र. की स्थति से उन्हें अवगत करायेगें। कि म.प्र. में किस तरह से जनभावनाओं का दमन हो रहा है।  


ज्ञात हो कि कुछ महिनों से त्रिस्तरीय पंचायतीराज संगठन के बैनर तले चुने हुये प्रतिनिधि पंचायती राज एक्ट 1993-94 को यथावत लागू करने की मांग कर रहे है। जिसको लेकर वह पहले 2 अक्टूबर को भोपाल के दशहरा मैदान में आन्दोलन करने वाले थे। मगर 29 अक्टूबर को सरकार के प्रतिनिधियों के आश्वासन पर रोक दिया गया था। मगर 11 अक्टूबर तक दिये गये आश्वासन पर अमल न होने के चलते 28 अक्टूबर को पुन: भोपाल में आन्दोलन का ऐलान हुआ जिसे गत दिनों भोपाल में शासन द्वारा अनुमति न दिये जाने के कारण पुलिस ने पूरी स ती से कुचल दिया। 

'आम जनता की पुलिस से अपेक्षाएं' एवं 'पुलिस की जवाबदेही' पर ०८ नवम्बर को होगी परिचर्चा
रायपुर. ३० अक्टूबर २०१५ छत्तीसगढ़ राज्य पुलिस जवाबदेही प्राधिकार द्वारा आगामी ०८ नवम्बर को आम जनता की पुलिस से अपेक्षाएं एवं पुलिस की जवाबदेही विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया जा रहा है। यह परिचर्चा राजधानी रायपुर के सिविल लाइन लाइन स्थित वृंदावन हॉल में दोपहर तीन बजे से शाम छह बजे होगी। विधि आयोग के अध्यक्ष एवं छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायधीश श्री टी.पी. शर्मा कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे। परिचर्चा में मुख्यमंत्री जनदर्शन के प्रभारी अधिकारी श्री संजीव बख्शी, छत्तीसगढ़ मानव अधिकार आयोग के पूर्व सदस्य श्री आर.के. बेहार, छत्तीसगढ़ रेंट कन्ट्रोल ट्रिब्यूनल के सदस्य संदीप बख्शी और पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर की विधि विभाग की प्राध्यापिका श्रीमती प्रिया राव विशिष्ट वक्ता के रूप में शामिल होंगे। परिचर्चा में राज्य पुलिस जवाबदेही प्राधिकार के सदस्य श्री आर.सी. पटेल प्राधिकार के गठन के उद्देश्य, पृष्ठभूमि, कार्यक्षेत्र, दायरे एवं शिकायत के प्रावधानों की जानकारी देंगे।

जनता की गाढ़ी कमाई को बर्बाद ना करें - मु यमंत्री
जयपुर, 30 अक्टूबर। Óसरकार आपको पैसा देकर आप पर विश्वास कर रही है। जनता की भलाई के लिए अच्छा काम करो, जनता की गाढ़ी कमाई का पैसा फालतू बर्बाद मत करो। याद रखो, हम सब जो भी यहां बैठे हैं जनता की सेवा के लिए ही है। इसमें अगर कोताही होती है तो मैं बर्दास्त नहीं करूंगी।Ó यह अल्फाज थे मु यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे के। स्थान था - नागौर कलेक्ट्रेट स्थित सभागार।

प्रदेशभर में पेयजल टंकियों का रैन्डम रीयलिटी चैक होगा
यहां आयोजित जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक में मु यमंत्री ने यह बात फिड़ौद गांव में निर्मित ग्रामीण गौरव पथ के निर्माण में पाई गई खामियों और रामसिया तथा फिडौद गांव में पेयजल आपूर्ति के लिए बनी पेयजल टंकियों की जर्जर हालत के बारे में चर्चा करते हुए कही। यहां गौरतलब है कि मु यमंत्री आपका जिला-आपकी सरकार कार्यक्रम के तहत नागौर जिले के दौरे पर अचानक निकली थीं। तब उन्होंने फिडौद गांव में निर्मित ग्रामीण गौरव पथ का निर्माण और पेयजल आपूर्ति के लिए बनी टंकियों का निरीक्षण किया था।
उन्होंने साफ कहा कि फिडौद और रामसिया में जो पेयजल जनता को वितरित किया जा रहा है वह पानी अधिकारी पीकर कर देखें। तब पता चलेगा कि यहां के लोग किस क्वालिटी का पानी पी रहे हंै। इसके साथ ही मु यमंत्री ने प्रदेश की सभी पेयजल टंकियों की समुचित सफाई के लिए विशेष अभियान चलाने के निर्देश देते हुए कहा कि सफाई की रैण्डम एवं रियलिटी चैकिंग भी की जाए। इसके बावजूद भी अगर कहीं पेयजल की टंकियों में गन्दगी मिली तो वह वरिष्ठ अधिकारियों के विरूद्घ कार्यवाही करने में नहीं हिचकेगी।

वेस्ट डिस्पोजल में विशेषज्ञ संस्थाओं से लें मदद
उन्होंने कहा कि अधिकारी स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर नगरीय क्षेत्रों में साफ-सफाई सुनिश्चित करने के लिए ठोस योजना बनाएं। इसके लिए कचरा निस्तारण हेतु स्थानों का चिन्हिकरण कर आमजन को उस स्थान का उपयोग करने के लिए जागरूक किया जाए और वेस्ट डिस्पोजल में विशेषज्ञ संस्थाओं से मदद ली जाए।

सरकार बनायेगी ट्रान्सफर पॉलिसी
मु यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि अध्यापकों तथा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं से जुडे अधिकारियों-कर्मचारियों के स्थानांतरण के मामले जयपुर के बजाय जिला स्तर पर निपटाने की व्यवस्था की जाएगी ताकि स्थानीय जरूरत के अनुसार उपलब्ध स्टाफ का समुचित उपयोग हो सके। इसके अलावा मु यमंत्री ने स्थानान्तरण नीति बनाने के भी संकेत दिए। श्रीमती राजे शुक्रवार को नागौर में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक को स बोधित कर रही थीं। उन्होंने प्रदेश भर में प्लास्टिक तथा पॉलिथीन के बैग के उपयोग पर प्रभावी रोक लगाने के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिए। मु यमंत्री ने कहा कि इस अभियान में आम लोगों, अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ-साथ जनप्रतिनिधि भी जुड़ें। उन्होंने पॉलिथीन की जगह कागज, कपड़े व जूट आदि के बैग इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए जागरूकता अभियान में स्कूली बच्चों को शामिल करने का सुझाव दिया।

राजस्व प्ररकणों का त्वरित निस्तारण करें
मु यमंत्री ने दूसरे सत्र की बैठक में उपखण्ड अधिकारियों एवं विकास अधिकारियों से कहा कि वो अपने-अपने क्षेत्र में रहकर विकास योजनाओं के समयबद्घ क्रियान्वयन के साथ लोगों की समस्याओं का तुरन्त निराकरण करें। उन्होंने कहा कि अधिकारी उनके राजस्व न्यायालय में विचाराधीन प्रकरणों का भी त्वरित निस्तारण करने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि भामाशाह योजना में लाभान्वित होने वालों के डेटा फीडिंग के कार्य में तेजी लाएं।
बैठक में सार्वजनिक निर्माण विभाग मंत्री श्री यूनुस खान, सहकारिता राज्य मंत्री श्री अजय सिंह किलक, सांसद श्री सीआर चौधरी तथा श्री हरिओम सिंह राठौड़, जिले के विधायक श्री हबीबुर्र रहमान अशरफी ला बा, श्रीराम भीचर, श्री मनोहर सिंह, श्री सुखराम नेतडिया, श्री विजय सिंह, डॉ. मंजू बाघमार, श्री मानसिंह किनसरिया, अतिरिक्त मु य सचिव श्री राकेश वर्मा, प्रमुख शासन सचिव स्थानीय निकाय श्री मंजीत सिंह, पुलिस महानिरीक्षक अजमेर रेन्ज श्रीमती मालीनी अग्रवाल, जिला कलेक्टर श्री राजन विशाल, पुलिस अधीक्षक श्री गौरव श्रीवास्तव सहित कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के कर्मियों को निदेशक ने दिलाई ज्ज्राष्ट्रीय एकता दिवस शपथज्ज्
पटना, ३० अक्टूबर, २०१५:- ३१ अक्टूबर को लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती प्रति वर्ष राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाई जाती हैं। इस वर्ष ३१ अक्टूबर शनिवार को पड़ता है और सचिवालय के कार्यालयों में शनिवार को अवकाश रहता है अतः उनकी जयंती जो ज्ज्राष्ट्रीय एकता दिवसज्ज् के रूप में मनाई जाती है उसके एवज में एक दिन पूर्व अर्थात ३० अक्टूबर शुक्रवार को उन्हें नमन करते हुए राष्ट्रीय एकता दिवस के आयोजन के सरकारी आदेश के आलोक में आज सूचना भवन के संवाद कक्ष में विभागीय कर्मियों की सभा बुलाई गई तथा निदेशक द्वारा सभी को राष्ट्रीय एकता दिवस शपथ दिलाई गई जो निम्न प्रकार है। मैं सत्यनिष्ठा से शपथ लेता हूँ कि मैं राष्ट्र की एकता, अखंडता और सुरक्षा को बनाए रखने के लिए स्वयं को समर्पित करूंगा और अपने देशवासियों के बीच यह संदेश फैलाने का भी भरसक प्रयत्न करूंगा। मैं यह शपथ अपने देश की एकता की भावना से ले रहा हूँ जिसे सरदार बल्लभभाई पटेल की दूरदर्शिता एवं कार्यो द्वारा संभव बनाया जा सका। मैं अपने देश की आंतरिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपना योगदान करने का भी सत्यनिष्ठा से संकल्प करता हूँ।

मुख्यमंत्री ने सरदार वल्लभभाई पटेल तथा आचार्य नरेन्द्र देव की जयन्ती पर ३१ अक्टूबूबरए २०१५ को सार्वर्जजनिक अवकाश घोषित किया
लखनऊरू ३० अक्टूबरए २०१५ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने सरदार वल्लभभाई पटेल तथा आचार्य नरेन्द्र देव की जयन्ती के अवसर पर ३१ अक्टूबरए २०१५ को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है। यह जानकारी आज यहां एक सरकारी प्रवक्ता ने दी।

SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment