महिला सशक्तिकरण से मजबूत होगी नारी

देवास/ महिलाओं को सशक्त बनाने का यह मतलब नहीं है कि हम पुरूषों से मुकाबला कर रही है। महिलाओं के अलग गुण होते हैं तथा पुरूषों अलग गुण होते है। ईश्वर ने हमें सशक्त बनाया है, हमें दूसरों से मुकाबला करके क्या करना है। महिलाओं में स्नेह, प्रेम, कोमलता, सौंदर्यता के स्वाभाविक गुण होते हैं, जो महिलाओं को महान बनाते हैं। समाज में अगर पुरूषों की आवश्यकता हैं, तो उतनी ही समाज में महिलाओं की आवश्कता है।
महिलाएं भी समाज का अभिन्न अंग है और महिलाओं के होने से घर-परिवार बनता है तथा अपने आसपास प्रेम, स्नेह तथा कोमलता का वातावरण स्वत: ही बनता है। नारी से परिवार में समृद्धि आती है तथा समाज से अंधकार का नाश होता है। महिला अगर सशक्त होगी तो समाज में उचित स मान होगा। हम अच्छी बेटी बने, अच्छी बहू बने तथा आगे चलकर अच्छी सास बनें। उक्त विचार महिला सशक्तिकरण विभाग द्वारा महिला सशक्तिकरण एवं बेटी बचाओ अभियान पर आयोजित कार्यशाला में महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्रीमती नीलम सूद ने व्यक्त किये। कार्यक्रम में महिला बाल विकास अधिकारी श्रीमती तृप्ति त्रिपाठी, श्रीमती अनुपमा गोखले, परियोजना अधिकारी श्री जीवन देथलिया सहित विभागीय अधिकारी/कर्मचारी, आगंनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका तथा बडी सं या में महिलाएं उपस्थित थीं। कार्यशाला का शुभारंभ अतिथियों द्वारा मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर चित्र पर माल्यार्पण कर किया गया। 

भू्रण हत्या पर नाटक का मंचन किया, महिलाएं हुई भावुक 
कार्यशाला में बागली क्षेत्र की आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं श्रीमती किरण वर्पे एवं अन्य कार्यकर्ताओं द्वारा कन्या भू्रण हत्या के विषय पर एक नाटक का मंचन किया गया। नाटक मंचन इतना मार्मिक रहा कि मंचन के दौरान कुछ महिलाएं भावुक होकर अपनी आंखों से आंसू नहीं रोक पाई। इस नारी प्रेरक मंचन को देखकर सभी भावविभोर हो गए। इसके साथ ही कन्या भू्रण हत्या एवं घरेलू हिंसा पर आधारित वीडियो फिल्म को दिखाया गया।

नारी को सशक्त बनाना होगा
कार्यक्रम में उपस्थित विशेष अतिथि श्रीमती अनुपमा गोखले ने अपने प्रोजेक्टर के माध्यम से फिल्म का प्रदर्शन कर उपस्थित सभी महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि हमें आज सशक्त बनना होगा। हमें अगर कोई राह में छेड़कानी करता हैं, अश्लील इशारें करता हैं या फिर हमें देखकर फिल्मी गाने गाता हैं तो तुरंत हमें उसका विरोध करना चाहिए, अगर हम एक बार सशक्त होकर विरोध करना प्रारंभ कर देंगी तो महिलाओं पर कोई अत्याचार, शोषण और छेड़छाड़ नहीं कर पाएंगा। हमें भी गरीमा पूर्ण जीवन जीने का हक है, मगर समाज में यह व्यवस्था नहीं है। हमें अपने आप को सशक्त बनाना है, जिससे हम गरीमापूर्ण जीवन जी सकें। हम अगर सशक्त बनेगी तो हमारी बेटियां आगे चलकर कल्पना चावला की तरह अंतरिक्ष में दौड़ेंगी।

इन सशक्त महिलओं का हुआ स मान
महिला सशक्तिकरण पर आयोजित कार्यक्रम में महिलाओं एवं उसे सशक्त बनाने व उत्थान के लिए उत्कृष्ट कार्य करने वाली नारी शक्ति फूलकुुंवर बाई, रेखाबाई, डॉ. पल्लवी जोशी, श्रीमती रूक्कैया काजी, रामदुलारी बाई, शकीना शेख का स मान किया गया। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती अर्चना नीलकंठ ने किया तथा अंत में आभार श्री अशोक त्रिपाठी ने माना।

रायपुर : कृषि विकास योजनाओं से हुई किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत: श्री बृजमोहन अग्रवाल
रायपुर, ०२ नवंबर २०१४ कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा है कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित में चलाई जा रही योजनाओं से आज प्रदेश के किसानों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ हुई है। किसानों की मेहनत के कारण राज्य को सर्वाधिक धान उत्पादन के मामले में दो बार राष्ट्रीय कृषि कर्मण पुरस्कार से भी नवाजा गया है। कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल आज जांजगीर-चाम्पा जिले के विकासखण्ड मुख्यालय पामगढ़ में कृषि विभाग और एम.बी. फाउण्डेशन द्वारा आयोजित भव्य किसान सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। कृषि मंत्री ने इस अवसर पर जिलेवासियों को राज्योत्सव की बधाई और शुभकामनाएं दी तथा क्षेत्र के ११२ किसानों को २१ लाख ३९ हजार रूपए की अनुदान राशि के उन्नत कृषि उपकरण तथा २१ किसानों को ४ लाख ५४ हजार रूपए नलकूप की अनुदान राशि के चेक वितरित किए। कृषि मंत्री और उपस्थित अतिथियों द्वारा इस अवसर इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा जारी इंदिरा किसान मितान बुलेटिन का विमोचन भी किया गया। कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश के किसान धान के अलावा दलहन, तिलहन व उद्यानिकी फसलों सहित जैविक खेती की ओर अग्रसर हो ताकि उन्हें अतिरिक्त आमदनी हो सके और छत्तीसगढ़ विकास के पथ पर ओर तेजी से अग्रसर हो सके। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी बाजपेयी ने प्रदेशवासियों को जो अलग राज्य की सौगात दी है, उसी के कारण आज यहां सभी क्षेत्रों में विकास परिलक्षित हो रहा है। आज हर खेत में पानी, सिंचाई के लिए बिजली, समर्थन मूल्य पर धान खरीदी तथा फसल क्षति पर मुआवजा के लिए बीमा की व्यवस्था राज्य सरकार कर रही है। पहले किसानों को पंप के कनेक्शन से ३ से ४ सालों तक चक्कर लगाना पड़ता था पर आज पंप कनेक्शन के एक भी प्रकरण लंबित नही रहते है कृषि मंत्री ने कहा कि जांजगीर-चांपा प्रदेश का सबसे सिंचित जिला है और यहां के किसान प्रदेश में सबसे ज्यादा धान का उत्पादन करते है। धान उत्पादन के लिए प्रदेश को दो बार राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिला है उसमें सबसे ज्यादा भागीदारी जांजगीर-चांपा जिले के किसानों की रही है। इसके लिए वो सभी बधाई के पात्र है। कृषि मंत्री ने इस अवसर पर किसानों का आह्वान किया कि वो धान के अलावा दलहनी, तिलहनी व उद्यानिकी फसलों को अधिक से अधिक लगाएं ताकि उन्हें अधिक आमदनी प्राप्त हो सके। इसके साथ ही पशुपालन, मछलीपालन तथा गाय पालन व्यवसायों को भी अपनाएं ताकि उन्हें अतिरिक्त आमदनी प्राप्त हो सके और वो आने वाली पीढ़ियों को एक समृद्ध विरासत दे सके। कृषि मंत्री ने किसानों से यह भी कहा कि वे रासायनिक खाद से होने वाले नुकसानों को देखते हुए जैविक और आर्गेनिक खेती को अपनाएं, ताकि उनकी उपज और जमीन दोनों पूर्ण रूप से सुरक्षित रहे। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा आने वाले तीन सालों में प्रदेश के शतप्रतिशत किसानों को उनकी भूमि से संबंधी हेल्थ कार्ड प्रदान किए जाएंगे ताकि वे अपनी जमीनों की जरूरतों को जान समझकर सही खाद एवं दवा का उपयोग कर बेहतर आमदनी प्राप्त कर सके।

वैश्विक दौर में मीडिया ने देश में विश्वसनीयता बनाई -मु य सचेतक, विधानसभा
जयपु$र, 2 नव बर। विधानसभा के मु य सचेतक श्री कालूलाल गुर्जर ने कहा है कि वर्तमान वैश्विक दौर में मीडिया ने देश में जो विश्वसनीयता को बनाए रखा है। उन्होंने कहा कि मीडिया को विश्वसनीयता कायम रखते हुए नए बदलाव के दौर में नई परिभाषा लिखने व योजनाओं की क्रियान्विति में अपनी भूमिका को तय करने का काम करना चाहिए। श्री गुर्जर रविवार को चित्तौडग़ढ़ में सैनिक स्कूल के सभागार में नेशनल यूनियन ऑफ जनर्लिस्ट (इंडिया) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के समापन समारोह में विभिन्न प्रांतों से आए पत्रकारों को मु य अतिथि के पद से संबोधित कर रहे थे। श्री गुर्जर ने चित्तौडगढ़ की बलिदानी धरती पर पन्नाधाय, पद्मिनी, महाराणा प्रताप और मीरां के गौरव का स्मरण भी किया। उन्होंने पत्रकारों को जनचेतना का प्रहरी बताते हुए कहा कि वे यथार्थ को लिखते है एवं कल्पना की उड़ान का उनके जीवन में कोई स्थान नहीं है। उन्होंने मीडिया कर्मियों को याद दिलाया कि उनका यह पेशा भरण पोषण के अलावा जन सेवा का अधिक है। उनकी कलम जो बोलती है और लिखती है उस पर लोगों का भरोसा और विश्वास है। श्री गुर्जर ने कहा कि शिक्षक अपने विद्यार्थियों को शिक्षा का सही ज्ञान देकर जि मेदार नागरिक बनाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाए। उन्होंने प्रजातंत्र में वोट की अनिवार्यता की जरूरत बताते हुए अन्य देशों में शिक्षा पद्वति के उदाहरण देते हुए अनिवार्य सैनिक शिक्षा पर बल दिया सांसद श्री सी.पी. जोशी ने कहा कि आज देश की नई गौरवगाथा लिखी जा रही है उसके लिए राष्ट्रीय नेतृत्व के साथ साथ पत्रकार अहम भूमिका निभा रहे हैं। देश को विकास की धारा में लाने में उन्होंने पत्रकारिता की अहमियत पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि भारत के प्रति दुनिया की सोच बदली है इसमें पत्रकारों की अहम भूमिका है। 

SHARE
    Blogger Comment

1 comments:

  1. महिलाओं के सशक्तिकरण पर एक महान और सूचनात्मक पोस्ट शेयर करने के लिए धन्यवाद | हां, यह सही है, कि नारी शक्तीकरण से मजबूत होगी नारी । इस पथ पर चलकर मनीषा बापना नारी सशक्तिकरण के लिए काम कर रही हैं।

    ReplyDelete