कानून की धज्जियां उड़ाने वालो पर, शासन की गाज, मनरेगा में उपयंत्री निलंबित

म.प्र. शिवपुरी, 26 अगस्त 2014/ लम्बे समय से म.प्र. के शिवपुरी जिले में कानून की धज्जियां उड़ा मनमाने ढंग से कार्य करने वालो पर आखिर शासन की गाज गिर ही पड़ी, जिसके चलते एक उपयंत्री को निलंबित होना पड़ा! वहीं एक समूह की सेवाऐं समाप्त कर गड़बड़ी करने वाले मत्स्य विभाग और अन्ता व्यावसायी निगम के मामलो में एफआईआर कराने के निर्देश दिये है!
इतना ही नहीं एक अन्य आदेश में अगले एक महीने तक किसी भी खदान दारी को सीमाकंन न होने तक उत्खनन न करने की हिदायत दी गई है! साथ ही 5 दुग्ध व्यापारियों पर जुर्माना किया गया है! इतना ही नहीं आनन-फानन में शिवपुरी आये ग्वालियर संभाग के कमिश्नर ने कलेक्टेट कार्यालय में बैठक कर अधिकारियों को सख्त हिदायत देते हुये कहां कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के प्रकरणों का निराकरण गंभीरता से करे मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 181 से प्राप्त शिकायतों का निराकरण गंभीरता के साथ किया जावे, अधिकारी एल-1 स्तर पर ही प्रकरणों का निराकरण सुनिश्चित करें।

संभागायुक्त श्री खरे ने कहा कि राज्य शासन का मुख्य उद्देश्य मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के माध्यम से आवेदन को त्वरित निराकरण कराना है। यह राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता वाली योजना है। उन्होंने राजस्व, खाद्य विभाग, शिक्षा विभाग, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के लंबित आवेदनों की विभागवार समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि आवेदन पत्रों का निराकरण प्रथम स्तर पर ही किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अधिकारी जो भी निराकरण करे, वह तर्क संगत और सकारण होना चाहिए। उन्होंने सभी अधिकारियों को आगाह किया कि लापरवाही वश अगर प्रकरणों का निराकरण नहीं किया जाता है तो उसके गंभीर परिणाम आएगें। उन्होंने सभी अधिकारियों को डे-टू-डे मानीटरिंग करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने 7 दिवस उपरांत पुनः समीक्षा करने के निर्देश भी कलेक्टर को दिए।

वहीं कलेक्टर राजीव दुबे ने कड़ा रूख अपनाते हुये महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना के अंतर्गत निर्माण कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में जनपद पंचायत खनियांधाना में पदस्थ उपयंत्री एस.सी.जैन को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इसके साथ ही निर्माण कार्य में कोई अनियमितता के लिए संबंधित सरपंचों के विरूद्ध पंचायत राज्य अधिनियम की धारा 40 और धारा 92 के अंतर्गत कार्रवाई करने के निर्देश एसडीएम पिछोर को दिए है।

इसी कड़ी में शिवपुरी जिले में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना तथा म.प्र. वाटर सैक्टर रिस्ट्रक्चरिंग प्रोजेक्ट के तहत वर्ष 2008-09, 2009-10 तथा 2010-11 में मत्स्य विभाग शिवपुरी में 90 नावें फर्म फिशरमेंश इटारसी जिला होशंगाबाद से क्रय की गई। जिसकी गुणवत्ता की शिकायत पर कलेक्टर द्वारा विशेषज्ञ कमेटी से जांच करायी तो टेण्डर में दर्शाये आकार 12ग्4ग्2 फीट के स्थान 12ग्4ग्1) फीट की नावें थी तथा जी.आई.शीट की मोटाई 20 गेज के स्थान पर 22 गेज पायी गयी। तत्कालीन कलेक्टर के आदेश पर एम.के.दुबे तत्कालीन सहायक संचालक मत्स्य शिवपुरी ने थाना कोतवाली शिवपुरी में अपराध दर्ज कराया जो क्रमांक 244/12 आई.पी.सी. 420, 34 के तहत दर्ज है तथा संबंधित आरोपियों के खिलाफ जेल की कार्रवाई की गई है। उसके विरूद्ध दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जाएगी।

जनसुनवाई के दौरान अंत्यावसायी निगम के माध्यम से ऋण दिलवाने के बदले में 25 हजार रूपए की रिश्वत की शिकायत पर प्रकरण की जांच कर रिश्वत लेने वाले व देने वाले दोनों के विरूद्ध आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने के निर्देश जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण विभाग को दिए है। इसी प्रकार शिक्षा गारंटी केन्द्र टोड़ा विकासखण्ड कोलारस के गुरूजी खुमान सिंह को ड्यूटी से अनुपस्थित रहने की शिकायत पर उसकी सेवाएं समाप्त करने के निर्देश जिला शिक्षाधिकारी को दिए।

इसी प्रकार माध्यमिक शाला भड़ौता जनपद कोलारस में बच्चों को निम्न गुणवत्ता निर्धारित मेन्यू की पूर्ति न करने, बच्चों को खाना बर्तनो के स्थान पर कागजों में प्रदाय करने जैसी शिकायतों के आधार पर विद्यालय में मध्यान्ह भोजन वितरित करने वाले ‘जय मां काली स्वसहायता समूह’ को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है। उल्लेखनीय है कि गत दिवस इसी विद्यालय में मध्यान्ह भोजन की अव्यवस्था की शिकायत पर शाला के प्रधानाध्यापक को कलेक्टर द्वारा निलंबित कर दिया गया है।

एक अन्य कार्यवाही में खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम 2006 के अंतर्गत जिले के 5 दूध विके्रताओं की आकस्मिक जांच के सैम्पल लिए गए, जो अमानक स्तर के पाये जाने पर 80 हजार रूपए जुर्माना किया गया है।
अपर कलेक्टर श्री दिनेश जैन से प्राप्त जानकारी के अनुसार खाद्य सुरक्षा एवं प्रसंस्करण के दल द्वारा पंकज शर्मा पुत्र सुरेश शर्मा निवासी शिवाजी नगर की बजरंग दूध डेयरी का दूध अमानक स्तर का पाये जाने पर 10 हजार रूपए, पंचम सिंह गुर्जर पुत्र खुमान सिंह गुर्जर निवासी पिपरोनिया शिवपुरी का दूध का सैम्पल अमानक पाये जाने पर 10 हजार रूपए, नीरज सेन पुत्र माखनलाल सेन शिवपुरी के दूध व दही का सैम्पल अमानक पाये जाने पर 25 हजार रूपए, चंदन जाट पुत्र नारायण सिंह जाट निवासी बाकड़े हनुमान की जाट स्वीट सेंटर पर बर्फी का नमूना अमानक पाये जाने पर 25 हजार रूपए तथा नीरज सेन पुत्र माखन सेन तहसील करैरा जिला शिवपुरी के आॅटो से पनीर का सैम्पल अमानक पाये जाने पर 10 हजार का जुर्माना लगाया गया है।
वहीं जिले भर में चल रहे अन्धाधुंध अवैध उत्खनन के मामलो में बड़ी छापामारी एवं राजसात की कार्यवाही के अलावा कलेक्टर ने जिले में पत्थर के अवैध उत्खन्न को नियंत्रित करने के उद्देश्य से आगामी एक माह के लिए पत्थर, फर्सी की सभी वैध-अवैध खदानों से उत्खन्न कार्य दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत प्रतिबंधित कर दिया गया है।

श्री दुबे ने कहा कि समाचार पत्रों/आम जनता से प्राप्त शिकायतों से ज्ञात हुआ है कि अवैध उत्खन्न के कारण शिवपुरी जिले में लोक प्रशांति विक्षुब्द न हो, इसे दृष्टिगत रखते हुए दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144(1) के अधीन शिवपुरी जिले के समस्त फर्सी पत्थर के लीज धारियों को आदेशित किया है कि जिले की सभी फर्सी पत्थर खदानों का जब तक सीमांकन नहीं हो जाता है, तब तक कोई भी लीज धारी उत्खनन कार्य नहीं करेंगे और न ही लीज क्षेत्र के आस-पास लीज की आड़ में अवैध उत्खनन करने देंगे। शिवपुरी जिले में स्थित खदानों के सीमांकन कार्य हेतु जिले के सभी तहसीलदारों को आदेशित किया है कि वह अपने-अपने क्षेत्र में स्थित खदानों का सीमांकन कार्य करने हेतु एक दल बनाकर सीमांकन कार्य 29 सितम्बर 2014 तक सीमांकन रिपोर्ट अनिवार्यतः प्रस्तुत करे। यदि कोई भी लीज धारी एवं अन्य व्यक्ति द्वारा इस आदेश का उल्लंघन करता है तो उसके विरूद्ध दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने श्री कल्याणसिंह को राज्यपाल नियुक्त होने पर बधाई दी
जयपुर, 26 अगस्त। मु यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने वरिष्ठ नेता एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मु यमंत्री श्री कल्याणसिंह को राजस्थान का राज्यपाल नियुक्त किये जाने पर हार्दिक बधाई दी है।
श्रीमती राजे ने कहा कि श्री कल्याणसिंह का सार्वजनिक जीवन में ल बा अनुभव रहा है। प्रदेश के विकास में उनके मार्गदर्शन एवं अनुभव का लाभ मिलेगा।


चन्‍द्रबाबू नायडू ने उमा भारती से मुलाकात की
नई दिल्ली 26-अगस्त, 2014आंध्र प्रदेश में जल संरक्षण की एक पायलट परियोजना का निर्धारण
आंध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्री श्री चन्‍द्र बाबू नायडू ने आज केन्‍द्रीय जल संसाधन, नदी विकास तथा गंगा पुनरूद्धार मंत्री सुश्री उमा भारती से मुलाकात की। केन्‍द्रीय मंत्री ने श्री नायडू से अनुरोध किया कि वे अपने राज्‍य के किसी एक स्‍थान के बारे में सुझाव दें जिसे उनके मंत्रालय द्वारा शुरू की जाने वाली जल संरक्षण की तीन पायलट परियोजनाओं में शामिल किया जा सके। इस प्रयोजन के लिए चयन किये गये दो अन्‍य स्‍थानों में ओडिशा का बोलांगीर-कालाहांडी क्षेत्र तथा बुन्‍देलखण्‍ड को शामिल किया गया है। आंध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्री ने उनसे अपने राज्‍य से संबंधित विभिन्‍न मुद्दों पर बात की तथा पोलावरम विकास प्राधिकरण का शीघ्र गठन करने के लिए अनुरोध किया। श्री नायडू ने केन्‍द्रीय मंत्री को जल संसाधन मंत्रालय द्वारा शुरू की जाने वाली विभिन्‍न परियोजनाओं में अपने राज्‍य की तरफ से पूरा सहयोग देने का आश्‍वासन दिया। श्री नायडू ने आने वाले वर्षों में आंध्र प्रदेश को सूखे से मुक्‍त प्रदेश बनाये जाने के लिए भी केन्‍द्र का सहयोग मांगा है। इस मुलाकात के अवसर पर श्री नायडू के साथ केन्‍द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री अशोक गजपति राजू एवं आंध्र प्रदेश के कुछ संसद सदस्‍य भी उनके साथ उपस्थित थे।

SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment