बोले जेटली, महंगाई पर काबू पाना बड़ी चुनौती

नई दिल्ली। मोदी सरकार में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज अपना पहला बजट पेश कर दिया। बजट पेश करते हुए जेटली ने कहा कि जनता ने बदलाव के लिए वोट दिया है। हमारी सरकार को सिर्फ 45 दिन हुए हैं ऐसे में बहुत बड़े बदलाव की उम्मीद ना करें। बजट पेश होने से ठीक पहले हुई कैबिनेट मीटिंग में बजट को मंजूरी मिल गई।

इससे पहले जेटली बजट की कॉपी लेकर वित्त मंत्रालय से निकलकर राष्ट्रपति भवन गए थे। जहां जेटली ने राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से मुलाकात की और बजट की कॉपी दी। जेटली ने कहा कि यह एनडीए का पहला बजट है और महंगाई पर काबू पाना हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती है। इसके अलावा देश में गरीबों के लिए काफी काम करना है। साथ ही उन्होंने कहा कि विकास दर को दो अंकों में लाना सरकार का लक्ष्य है। जेटली ने कहा कि दुनिया में वित्तीय गिरावट का असर भारत पर भी पड़ा है। उन्होंने कहा कि विकास के लिए बड़ा फंड जरूरी है।

जेटली ने बीमा क्षेत्र में ४९ फीसदी एफडीआई का प्रस्ताव दिया साथ ही कहा कि सरकार एफडीआई को प्रोत्साहित करेगी। जेटली ने कहा कि सरकार रक्षा क्षेत्र में २६ फीसदी एफडीआई को मंजूरी देगी। टैक्स से जुड़े झगड़े सीबीडीटी कमेटी के जरिए निपटाए जाएंगे। जीएसटी लाने पर भी विचार हो रहा है। बैंकों को जवाबदेह और स्वायत्त बनाया जाएगा।

जेटली ने कहा कि १०० नए स्मार्ट सिटी बनाने का प्लान है जबकि १०० शहरों का आधुनिकीकरण भी किया जाएगा। स्मार्ट शहरों के लिए ७०६० करोड़ रुपये का प्रस्ताव है। पर्यटन बढ़ाने के लिए ई वीजा की जरूरत है। देश के नो हवाई अड्डों पर ई वीजा की सुविधा दी जाएगी।सरकार पेट्रोलियम पर सब्सिडी की समीक्षा करेगी साथ ही नई यूरिया नीति लाएगी। काले धन पर जेटली ने कहा कि ये अर्थव्यवस्था के लिए अभिशाप है। काला धन वापस लाना होगा। वित्त मंत्री ने कहा कि तीन साल में अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना चुनौती होगा। विकास के लिए बड़े फंड की जरूरत होगी। हमारा लक्ष्य विकास दर को दो अंकों में लाना है।

भारत के पुनर्निर्माण का बजट - मुख्यमंत्री श्री चौहान
भोपाल : गुरूवार, जुलाई १०, २०१४, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज केन्द्रीय बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए आधुनिक भारत के पुनर्निर्माण का बजट बताया। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार ने जो घाव दिये थे, यह उन पर मरहम लगाने का प्रयास है। श्री चौहान ने कहा कि यह बजट शक्तिशाली, समृद्धशाली, गौरवशाली भारत की आधारशिला रखने वाला बजट है। उन्होंने कहा कि चाहे आंतरिक सुरक्षा का क्षेत्र हो अथवा शहरी-ग्रामीण विकास या अधोसंरचना का निर्माण, हर तरफ ध्यान दिया गया है। बजट में किसानों, गरीबों का खास ख्याल रखा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बजट से माताओं, बेटियों की जिन्दगी में नया सवेरा लाने की शुरूआत हुई है। इस बजट के दूरगामी परिणाम मिलेंगे।

मोदी सरकार का प्रथम बजट : अच्छे दिनों के लिए अच्छी शुरूआत : डॉ. रमन सिंह
रायपुर, १० जुलाई २०१४ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार ने आज संसद में पेश किए गए अपने प्रथम बजट में समाज के सभी वर्गों के हितों का ध्यान रखा है। उनके इस बजट से देश के विकास भारतीय अर्थव्यवस्था को नई ऊर्जा और नये उत्साह के साथ एक नई गति मिलेगी। यह आज की परिस्थितियों में देश को आर्थिक मजबूती के रास्ते पर ले जाने वाला सर्वश्रेष्ठ और संतुलित बजट है, जिससे यह साफ संकेत मिला है कि देश में अच्छे दिनों के आने की अच्छी शुरूआत हो गई है। मुख्यमंत्री ने मोदी सरकार के इस प्रथम बजट के लिए प्रधानमंत्री श्री मोदी और वित्त मंत्री श्री अरूण जेटली को बधाई दी है। डॉ. रमन सिंह ने कहा कि इस बजट से यह स्पष्ट संदेश मिला है कि प्रधानमंत्री श्री मोदी और उनकी सरकार अपने घोषणा पत्र के सभी वायदों को चरणबद्ध और योजनाबद्ध ढंग से पूर्ण करने के लिए वचनबद्ध है और उन्होंने इसकी शानदार शुरूआत कर दी है। डॉ. रमन सिंह ने केन्द्र के आम बजट पर आज यहां अपनी त्वरित प्रतिक्रिया में कहा कि इस आम बजट में छत्तीसगढ़ को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आई.आई.टी.) की सौगात मिली है। उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री श्री मोदी और केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री जेटली के प्रति आभार प्रकट किया। मुख्यमंत्री ने बजट में इनकम-टैक्स में छूट की सीमा बढ़ाने की घोषणा को भी देश के करोड़ों नौकरीपेशा और अन्य काम-काजी लोगों, वरिष्ठ नागरिकों तथा मध्यमवर्गीय और निम्न मध्यमवर्गीय परिवारों के लिए लाभदायक बताया है। उन्होंने कहा कि देशवासी आयकर में इस रियायत का इंतजार कई वर्षों से कर रहे थे। मोदी सरकार ने उनका इंतजार खत्म कर उन्हें आर्थिक रूप से काफी राहत दिलायी है। गृह ऋणों के ब्याज में छूट की सीमा डेढ़ लाख रूपए से बढ़ाकर दो लाख रूपए की गई है, जिसका फायदा सभी आयकर दाताओं को मिलेगा।

डॉ. रमन सिंह ने कहा कि केन्द्रीय वित्त मंत्री द्वारा प्रस्तुत इस बजट में देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने और महंगाई को कम करने के लिए काफी ठोस प्रावधान किए गए हैं,आगे चलकर जिनका फायदा आम जनता को मिलेगा। डॉ. रमन सिंह ने कहा कि केन्द्र के इस बजट में खनिजों की रायल्टी और खनन क्षेत्र में निवेश बढ़ाने के संबंध में जो घोषणा की गई है, वह खनिज बहुल छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों के लिए निश्चित रूप से लाभदायक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बजट में कई ऐसे जनकल्याणकारी प्रावधान और अनेक ऐसी नई योजनाओं की घोषणा की गई है, जिनका लाभ छत्तीसगढ़ को भी मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर गांव में बिजली पहुंचाने के लिए दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना सहित शिक्षकों के लिए पंडित मदन मोहन मालवीय टीचर्स प्रोग्राम, श्यामा प्रसाद मुखर्जी ग्रामीण मिशन, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, राज्यों के लिए राष्ट्रीय खेल अकादमी आदि से संबंधित घोषणाएं स्वागत योग्य हैं। डॉ. रमन सिंह ने कहा कि इस बजट में देश के राष्ट्रीय राजमार्गों के विकास, युवाओं के कौशल उन्नयन के लिए कुशल भारत (स्कील्ड इंडिया) कार्यक्रम, करोड़ों वनवासी भाई-बहनों के लिए वनबंधु कल्याण योजना जैसे स्वागत योग्य प्रावधान किए गए हैं। विलासिता की वस्तुओं पर टैक्स लगाकर राजकोष में राजस्व वृद्धि का अच्छा निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री ने बजट में महिलाओं के कल्याण तथा बालिकाओं की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए किए गए प्रावधानों का भी स्वागत किया है।

राजस्थान के सांसदों ने आम बजट का स्वागत किया
जयपुर, 10 जुलाई। राजस्थान के सांसद गण ने केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री अरूण जेटली द्वारा लोकसभा में वर्ष 2014-15 के लिए प्रस्तुत केन्द्रीय वित्त बजट की सराहना करते हुए इसे प्रगतिशील एवं विकासोन्मुख बजट बताया है तथा बजट में आम लोगों के हित में किए गए साहसिक फैसलों का स्वागत किया है। सांसदों ने बजट में राजस्थान सहित अन्य प्रदेशों में सोलर ऊर्जा परियोजनाओं के लिए 500 करोड़ रुपये का प्रावधान रखे जाने और राजस्थान में अल्ट्रा मॉर्डन पॉवर प्रोजेक्ट एवं कृषि विश्वविद्यालय की स्थापना और अजमेर को पर्यटन की हेरीटेज योजना में शामिल करने के लिए केन्द्रीय वित्त मंत्री का आभार व्यक्त किया है। केन्द्रीय रसायन एवं उर्वरक राज्य मंत्री श्री निहाल चंद सहित सांसद श्री भूपेन्द्र यादव, श्री दुष्यंत सिंह, श्री वी.पी. सिंह, श्री विजय गोयल, श्री अर्जुन राम मेघवाल, श्री रामनारायण डूडी, कर्नल सोना राम, श्री देवजी पटेल, श्री सांवर लाल जाट, महंत श्री चांदनाथ, श्री मानशंकर निनामा, श्री बहादुर सिंह कोली, श्री सुभाष बहेडिया, श्री चंद्र प्रकाश जोशी, श्री राहुल कस्वां, श्री हरीश चंद्र मीना, श्री रामचरण बोहरा, श्री राज्यवद्र्घन सिंह राठौड, श्रीमती संतोष अहलावत, श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, डॉ. मनोज राजोरिया, श्री ओम बिरला, श्री सी.आर. चौधरी, श्री पी.पी चौधरी, श्री हरिओम सिंह राठौड, श्री सुमेधानन्द सरस्वती, श्री सुखबीर सिंह जौनपुरिया, श्री अर्जुन लाल मीणा, श्री नारायण लाल पंचारिया आदि ने किसान विकास पत्र योजना पुन: शुरू करने के लिए वित्त मंत्री का आभार व्यक्त किया। सांसदों ने केन्द्रीय बजट में नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में विशेष प्रावधान करने, अर्फोडेबल हाउसिंग योजना को बेहतर बनाने, जी.एस.टी लागू करने पर सहमति देने, टैक्सटाईल सेक्टर में विशेष छूट के प्रावधान, होमलोन में छूट, छोटे व्यापारी के लिए छूट एवं नई यूरिया नीति बनाने की घोषणा के साथ भूमिहीन किसानों के लिए किए गए विशेष प्रावधानों की प्रशंसा भी की है। सांसदों ने खनिजों पर रायल्टी की दर में संशोधन करने के प्रस्ताव, भारतीय खाद्य निगम की पुन:संरचना करने, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना शुरू करने के प्रस्ताव, आर्सेनिक, लूरायड, भारी/विषैले पदार्थो, कीटनाशको से प्रभावित लगभग 20,000 बसावटों में सुरक्षित पेयजल उपलब्ध कराने के लिए एनआरडीडब्ल्यूपी के अन्तर्गत 3600 करोड़ रुपये प्रस्तावित करने, किसानों के लिए नई खेती तकनीकियों, जल संरक्षण, जैविक खेती से संबधित विषयों की समय सूचना देने के लिए किसान टी.वी. शुरू करने के प्रस्ताव तथा खनन को सुसाध्य बनाने के लिए आवश्यकता के अनुसार परिवर्तन करने के प्रस्ताव का स्वागत किया है। सांसदों ने कहा कि इस बजट में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के Óविजन-2020Ó की झलक दिखाई दी है।

SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment