मध्यप्रदेश के राष्ट्रीय राजमार्गों के सुधार के ठोस कदम उठाये जाएँगे

भोपाल :  लम्बे अरसे से खस्ता हाल मध्यप्रदेश के राष्ट्रीय राजमार्गों की दशा सुधारने की दिशा में आज दिल्ली में केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री श्री नितिन गडकरी ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, लोक निर्माण मंत्री श्री सरताज सिंह, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव के साथ एक मैराथन बैठक में ठोस कदम उठाने संबंधी निर्णय लिये।
केन्द्रीय श्रम मंत्री एवं ग्वालियर मध्यप्रदेश के सांसद श्री नरेन्द्र सिंह तोमर बैठक में विशेष रूप से मौजूद थे। इस लम्बी बैठक में राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अध्यक्ष सहित केन्द्र और राज्य के संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी तथा राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण कार्यों में लगी निर्माण कम्पनियों के नुमाइन्दे भी उपस्थित थे। बैठक में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने एक-एक कर ९ महत्वपूर्ण राष्ट्रीय राजमार्ग की स्थिति पर विस्तार से चर्चा की। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार इन सड़कों की मरम्मत पर अपनी तरफ से अब तक २९० करोड़ रुपये व्यय कर चुकी है। उन्होंने इसकी भरपाई केन्द्र से करने का आग्रह किया। बैठक में भोपाल-साँची, ग्वालियर-शिवपुरी, ओबेदुल्लागंज-बैतूल, इंदौर-देवास, खजुराहो-झाँसी, शिवपुरी-देवास, जबलपुर-लखनादौन, रीवा-कटनी-जबलपुर, सीधी-सिंगरौली, शहडोल-कटनी, जबलपुर-मण्डला-चिल्पी, रीवा-सीधी, (एन.एच.७५) तथा इंदौर से मध्यप्रदेश को गुजरात से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्गों के लंबित निर्माण कार्यों की सूक्ष्म समीक्षा की गई और निर्माण में आ रहे अवरोधों के निराकरण के व्यावहारिक हल भी सुझाये गये। केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री ने झाँसी-खजुराहो मार्ग को पर्यटन की दृष्टि से अंतर्राष्ट्रीय महत्व का निरूपित करते हुए इसे प्राथमिकता से पूरा करने पर बल दिया। मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय राजमार्गों के काम को गति देने के साथ विदिशा बाईपास निर्माण की स्वीकृति का अनुरोध किया। श्री गडकरी ने उन्हें आश्वस्त किया कि बाईपास के लिए जैसे ही ९० प्रतिशत जमीन अधिग्रहीत कर ली जाएगी तभी वर्क आर्डर जारी किया जा सकेगा। फिलहाल उन्होंने बाईपास की डी.पी.आर. प्रस्तुत करने को कहा ताकि टेक्निकल स्वीकृति दी जा सके। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में गाँवों का चयन २०१२ की जनगणना के हिसाब से करने तथा ५० मीटर के अधिक के पुलों के लिए भी केन्द्र द्वारा लागत वहन किये जाने का अनुरोध किया। उन्होंने मनरेगा में पक्के एवं स्थायी ढाँचागत सुविधाओं के निर्माण को बढ़ावा देने तथा श्रम एवं सामग्री के अनुपात को ६० : ४० के स्थान पर ४० : ६० किये जाने का भी आग्रह किया। श्री शिवराज सिंह चौहान ने श्री गडकरी को बताया कि राज्य सरकार ने एक महत्वाकांक्षी ग्रामीण परिवहन योजना बनाई है। योजना में ग्रामीण बेरोजगारों को गाँवों एवं कस्बों के बीच सार्वजनिक परिवहन सुविधा सुलभ करवाने के लिए १०,००० वाहन देने का प्रस्ताव है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर इस योजना को केन्द्र सरकार की सहायता मिले, तो बेहतर होगा। मुख्यमंत्री ने सामाजिक योजनाओं में विकलांग एवं विधवा पेंशन योजनाओं की शर्तों में सुधार करने की माँग की। उन्होंने कहा कि पेंशन की पात्रता के लिए विकलांगों एवं विधवाओं की उम्र की सीमा हटा ली जाय तथा विकलांगता की सीमा भी ८० फीसदी से घटाकर ४० प्रतिशत की जाये। श्री चौहान ने इंदिरा आवास योजना में मध्यप्रदेश के साथ हुए भेदभाव का जिक्र करते हुए कहा कि राज्य में ३७ लाख परिवार से अधिक लोग झुग्गी-झोपड़ियों में रहते हैं लेकिन केन्द्र ने बहुत कम आवंटन किया है। उन्होंने कहा कि इंदिरा आवास योजना में राज्य का आवंटन बढ़ाया जाना चाहिए।

मुख्यमंत्री से मिले छत्तीसगढ़ आदिवासी नगारची समाज के प्रतिनिधि
रायपुर, २६ जून २०१४ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से कल रात यहां उनके निवास पर छत्तीसगढ़ आदिवासी नगारची समाज के प्रतिनिधि मण्डल ने प्रदेशाध्यक्ष श्री रूपेन्द्र नगारची के नेतृत्व में मुलाकात की । प्रतिनिधि मण्डल ने अपनी विभिन्न मांगों के संबंध में मुख्यमंत्री को एक ज्ञापन सौंपा। प्रतिनिधि मण्डल में धमतरी नगर पालिका के पार्षद श्री रामकृष्ण नेताम सहित समाज के अनेक पदाधिकारी और सदस्य शामिल थे ।

'सरकार आपके द्वारÓ र्कायक्रम -ऊंटनी के दूध को खाद्य सुरक्षा कानून में शामिल किया जाएगा
जयपुर, 26 जून। बीकानेर संभाग में 'सरकार आपके द्वारÓ र्कायक्रम के आठवें दिन गुरूवार को रेगिस्तानी जिलों के गांवों में मंत्रीगणों ने लगातार दौरे कर ग्रामीणजनों की समस्याओं को सुना और वहां उपलब्ध मूलभूत सुविधाओं का जायजा लिया। मंत्रियों ने इन गांवों में राजकीय र्कायालयों का आकस्मिक निरीक्षण किया तथा जमीनी हकीकत भी देखी। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री श्री गुलाब चन्द कटारिया ने गुरूवार को श्रीगंगानगर जिले की सूरतगढ़ पचांयत समिति में आयोजित जनसुनवाई शिविर में कहा कि जनता ने छोटी-छोटी मूलभूत सुविधाओं के लिए तहसील, कलेक्ट्रेट, सचिवालय के चक्कर नहीं लगाने पड़ेगेंं। अब जनता को कहीं जाने की जरूरत नही हैं। सरकार खुद उनके पास आ गई है। श्री कटारिया ने 13 एसडी ग्राम पंचायत के ग्राम 11 एसडी मे मृत पशुओं के निस्तारण के लिये जमीन आवंटन करने, अतिक्रमण हटाने, पेयजल की व्यवस्था करने के र्निदेश दिये। इससे र्पूव श्री कटारिया ने सूरतगढ़ सूपर र्थमल पावर स्टेशन का दौरा किया तथा वहां के अधिकारियों से नई ईकाईयों के बारे में जानकारी ली। श्री कटारिया ने र्थमल पावर प्लांट के गैस्ट हाउस में सभी विभागों के अधिकारियों की बैठक ली। उन्होने क्षेत्र में निॢमत कच्चे खालों को महानरेगा में पक्के में बदलने, सभी घरों में स्वच्छ शौचालय बनवाने के र्निदेश दिये। विधायक श्री राजेन्द्र भादू, र्पूव मंत्री श्री रामप्रताप कासनियां, प्रमुख शासन सचिव श्रीमत् पांडे, ग्रामीण विकास सचिव श्री राजीव ठाकुर मौजूद थे।

चकत्सिा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने सुने ग्रामीणों के अभाव-अभयिोग
चकत्सिा एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री राजेन्द्र राठौड़ ने गुरूवार को हनुमानगढ़ जलिे की पीलीबंगा पंचायत समति िकी कैंचयिा, खोथावाली, सूरांवाली, हरदयालपुरा, कान्यावाड़ा, गोलूवाली, बामनवाली ढाणी, अयालकी, लोंगवाला, सरिाववाला, दूलवाना एवं डबली ग्राम पंचायतों में आमजन की समस्याओं को सुना। चकित्सिा मंत्री ने घमूडवाली, खोथांवाली के प्राथमकि स्वाथ्य केन्द्रों तथा गोडकयिा, सूरांवाली, हरदयालपुरा के उपस्वास्थ्य केन्द्रों का आकस्मकि नरिीक्षण कयिा तथा इनमें साफ-सफाई नयिमति कराने, 24 घंटे उपचार सेवाएं उपलब्ध कराने, चकित्सिक एवं र्नसङ्क्षगर्कामकिों को अस्पताल समय में उपस्थति रहने के नॢदेश दयिे। उन्होंने सूरांवाली स्वास्थ्य केन्द्र की चार-दीवारी नॢमाण के नॢदेश दयिे। पीलीबंगा वधिायक श्रीमती द्रोपदी मेघवाल, प्रमुख शासन सचवि चकित्सिा एवं स्वास्थ्य श्री दीपक उप्रेती, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मशिन के अतरिक्ति मशिन नदिेशक श्री नीरज के पवन सहति अन्य जनप्रतनिधि िएवं अधकिारी इस दौरान मौजूद थे।

बजली चोरी रोकने के लएि उठाएंगे र्साथक कदम
र्ऊजा मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह खींवसर ने कहा कि बिजली चोरी रोकने के लिए प्रभावी कार्रवाई करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि हम विद्युत तंत्र और वितरण को प्रभावी बनाने की ओर बढ़ चुके हैं। श्री खींवसर गुरूवार को बीकानेर जिले के रिडमलसर, नापासर, रामसर, मूंडसर, सींथल, तेजरासर और गुंसाईसर आदि गांवों में जनसमस्याएं सुन रहे थे। उन्होंने बताया कि सभी समस्याओं के निस्तारण के लिए मजबूत फालोअप सिस्टम द्वारा योजनाबद्ध रूप से निपटारा होगा तथा नीतिगत र्निणयों और राज्य स्तरीय समस्याओं के बारे में फैसले केबिनेट की बैठक में लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पड़ौसी राज्यों से हम आज भी बेहतर स्थिति में हैं और विफल मानसून के बाद भी हम बिजली देने में सक्षम होंगे। श्री खींवसर ने बताया कि र्वतमान में किसी प्रकार की विद्युत कटौती नहीं है। प्राकृतिक विपदा, कम वोल्टेज, ट्रिपिंग व अन्य तकनीकी खामियां जरूर बाधा बन रही हैं लेकिन इनके बावजूद भी ल बी देर का व्यवधान नहीं आता है। उन्होंने बताया कि विद्युत बिल राशि बढ़ाने का र्निणय नियामक आयोग करेगा। अगर आयोग बिल बढ़ाता है तो सरकार उपभोक्ता पर अधिक बोझ नहीं आने देगी।

श्री मीणा ने जानी ग्रामीणों की समस्याएं
जनजाति क्षेत्रीय विकास मंत्री श्री नन्द लाल मीणा ने गुरूवार को बीकानेर जिले की श्रीडूंगरगढ़ पंचायत समिति की कीतासर, धीरदेसर चोटियान, लिखमादेसर, मोमासर व तोलियासर का दौरा करते हुए जनसमस्याएं सुनीं। इस दौरान श्रीडूंगरगढ विधायक किसना राम नाई और प्रमुख शासन सचिव सुर्दशन सेठी मौजूद रहे। श्री मीणा ने मोमासर से 1 किलोमीटर दूर बने 132 के.वी.जीएसएस का लोर्कापण भी किया। गांव में एक नया नलकूप, र्सावजनिक र्निमाण विभाग के अभियन्ता को रेलवे अण्डर ब्रिज के प्रस्ताव तैयार करने तथा गांव के लिए स्वीकृत ट्रांसर्फामर को आगामी दो दिनों में लगाने के विद्युत अभियन्ता को र्निदेश दिए। ग्रामीणों ने धीरदेसर चोटियान में गौशाला में चारा भण्डारण करवाने, पशु चिकित्सालय व पानी की टंकी बनवाने, सड़क र्निमाण तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की समस्याओं के बारे में अवगत कराया। इस संबंध में मीणा ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को र्कायवाही करने के र्निदेश दिए। श्री मीणा ने तोलियासर गांव की पेयजल लाइन को आगामी सात दिनों में बदलकर सुचारू पेयजल आपूॢत सुनिश्चित करने के र्निदेश जलदाय अभियन्ता को दिए।

प्रत्येक ग्राम पंचायत में बनाया जाएगा एक आर्दश विद्यालय
शक्षा मंत्री श्री कालीचरण सराफ ने कहा क िआगामी शैक्षणकि सत्र में र्प्रदेश के राजकीय स्कूलों में लगभग 1 लाख शक्षिकों की व्यवस्था की जावेगी जनिमें लगभग 30-35 हजार शक्षिक समानीकरण व एकीकरण से अधशिेष, लगभग 41 हजार र्पूव में आयोजति की जा चुकी शक्षिक र्भती परीक्षा के परणिाम घोषति होने पर एवं शेष नई र्भतयिों के माध्यम से नयिोजति कर शक्षिकों की व्यवस्था की जाएगी। इसी प्रकार प्रत्येक ग्राम पंचायत में एक वद्यिालय (कक्षा 1 से 12 तक) में अत्याधुनकि शैक्षणकि वातावरण, भवन, अन्य आधारभूत सुवधिाओं से सुसज्जति कर आर्दश वद्यिालय भी बनाया जाएगा। श्री सर्राफ गुरूवार को चूरू जलिे की रतनगढ पंचायत समति िके गांवों का भ्रमण कर आम जनता की समस्याएं सुन रहे थे। उन्होंने कहा क िखराब परणिाम वाले संस्था प्रधानों को दण्डति करने की र्कायवाही शुरू कर दी गई है। 8वीं कक्षा के लएि वैकल्पकि र्बोड की व्यवस्था, शक्षिकों के तबादले, स्थानान्तरण नीत िके अनुसार करने आद िके र्काय कयिे जा रहे है। ग्राम पंचायत लधासर में शक्षिकों की कमी को देखते हुए दो शक्षिकों को लगाने तथा अनुपस्थति पाये गए शक्षिक को 17 सीसीए का नोटसि देने के नॢदेश दएि।उन्होंने आर्युवेद औषधालय एवं उपस्वास्थ्य केन्द्र लधासर, भानूदा, सकिराली, गोलासर, नौसरयिा आद िमें वभिन्नि व्यवस्थाओं का जायजा लयिा। इस दौरान वधिायक श्री राजकुमार रणिवा, प्रमुख शासन सचवि स्कूल शक्षिा, श्री पवन कुमार गोयल भी साथ थे।
ऊंटनी के दूध को खाद्य सुरक्षा कानून में शामिल किया जाएगा
कृषि एवं पशुपालन मंत्री श्री प्रभुलाल सैनी ने गुरूवार को चूरू जिले की तारानगर पंचायत समिति के हडिय़ाल, झाड़सर छोटा, राजपुरा, सांत्यू, आनंदसिंहपुरा ग्राम पंचायत मु यालय पर लोगों के अभाव अभियोग सुने। इस दौरान चूरू के सांसद श्री राहुल कस्वां, तारानगर विधायक श्री जयनारायण पूनियां, कृषि एवं पशुपालन विभाग के अतिरिक्त मु य सचिव श्री अशोक स परातम सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी मौजूद थे। उन्होंने ग्राम पंचायत सांत्यूं के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का औचक निरीक्षण किया तथा विभिन्न व्यवस्थाओं को देखा। उन्होंने कहा कि मौजूदा मौसम आधारित फसल बीमा योजना और मॉडिफाइड फसल बीमा योजना की नियमित समीक्षा की जाएगी। उन्होंने कहा कि बीकानेर संभाग के चारों जिलों बीकानेर, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर और चूरू में खजूर की खेती प्रचुर संभावनाएं हैं, यहां खजूर की खेती को प्रोत्साहित कर इस संभाग को खजूर का हब बनाया जाएगा। उन्होंने कहा ऊंट राजस्थान की धरोहर है और इसको संरक्षित करने के प्रयास किए जाएंगे। ऊंटनी के दूध को खाद्य सुरक्षा कानून में शामिल किया जाएगा तथा ऊंटनी के दूध का पेंटेट करवाने के प्रयास किए जाएंगे।

सीमार्वती पंचायतों की समस्याओं का तेजी से निपटारा करेगी सरकार
सहकारिता राज्य मंत्री श्री अजय सिंह किलक ने कहा कि सरकार प्रदेश कीे सीमार्वती ग्राम पंचायतों के लोगों की सभी समस्याओं का तेजी से निपटारा करेगी। क्षेत्र की समस्याओं के निराकरण में जरूरी होगा तो नियमों में संशोधन भी किया जाएगा। श्री सिंह गुरूवार को खाजूवाला पंचायत समिति की ग्राम पंचायत अमरपुरा, डेली तलाई, आनन्दगढ, गुल्लूवाली, 22 केवाईडी, 17 केवाईडी, 18 केवाईडी और खाजूवाला में ग्रामीणों से रू-ब-रू हो रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार पिछले आठ दिनों से राज्य के सीमार्वती गांवों की मूलभूत समस्याओं को दूर करने के लिए प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि जिन ग्राम पंचायतों में ग्राम सेवा सहकारी समिति नहीं हैं, उनमें भी सहकारी समितियां खोलकर उनकी रोजमर्रा की जरूरतों की सामग्री विक्रय करवाने की व्यवस्था की जाएगी। सहकारिता राज्य मंत्री ने कोडमदेसर, भैंरूजी मंदिर में पूजा र्अचना की। इस अवसर पर विधायक डॉ विश्वनाथ मेघवाल, अतिरिक्त मु य सचिव राजहंस उपाध्याय आदि मौजूद थे।

जनभावनाओं के अनुरूप प्राथमिकता से होगा जनसमस्याओं का समाधान
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री डॉ. अरूण चर्तुवेदी ने गुरूवार को हनुमानगढ़ की सांगरिया कस्बे के केशवानन्द महाविद्यालय परिसर में आयोजित शिविर में ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं। जन सुनवाई के दौरान उन्होंने ग्राम बशीर में हुए अतिक्रमण को हटाने, भाखडा बांध से र्पयाप्त पानी दिलाने, सांगरिया के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में हो रही अनियमितताओं की जांच कर 15 दिवस में रिर्पोट प्रस्तुत करने, ग्राम पंचायत डाबा में अवैध रूप से र्सावजनिक गली में व वन भूमि पर जारी पट्टों की जांच, डाबली र्खुद गांव में रास्ते पर किए गए अतिक्रमण को हटाने, ग्राम नाथवाना में विद्युत कनेक्शन व बीपीएल र्काड बनाने के लिए संबंधित अधिकारियों को र्निदेश दिए। डॉ चर्तुवेदी को जनसुनवाई के दौरान टिब्बी के खारा खेडा के ग्रामीणों द्वारा सिंचाई पटवारी राकेश सैनी के खिलाफ अनियमितताओं की शिकायत को ग भीरता से लेते हुए उसे तत्काल प्रभाव से निल िबत करने एवं एक सप्ताह में ग्रामीणों द्वारा की गयी शिकायत की जॉच के र्निदेश दिए। जनसुनवाई के दौरान उन्होंने भाग्यवती पत्नी करतार सिंह को वृद्धावस्था पेंशन एवं जसवीर कौर पत्नी प्रकाश सिंह को विधवा पेंशन स्वीकृति के पत्र प्रदान किए। प्रमुख शासन सचिव डॉ मंजीत सिंह इस दौरान साथ थे।

वभागीय अधकिारी संवेदनशीलता से करें र्काय
खाद्य एवं नागरिक आपूॢत राज्यमंत्री श्री हेम सिंह भडाना ने कहा कि विभागीय अधिकारी जनसमस्याओं के निराकरण के प्रति संवेदनशील रहते हुए अंतिम छोर तक के पात्र व्यक्ति को लाभान्वित करने के लिए प्रयास करें। भडाना गुरूवार को पंचायत समिति श्रीकरनपुर की ग्राम पंचायत 3 ओ, 10 ओ, 15 ओ , 6 एफए रडेवाला, 9 एफए माझीवाला, 2एफए मुकन, 46 एफ, बडोपल सहित विभिन्न ग्राम पंचायतो में जनसुनवाई कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आमजन को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है। ग्रामीण क्षेत्रो मे पेयजल व विद्युत आपूॢत की व्यवस्था मे और अधिक सुधार के साथ इसकी नियमित मॉनिटरिंग की जाएगी। खाद्य मंत्री ने 10 ओ मे संचालित उप स्वास्थ्य केन्द्र का आकस्मिक निरीक्षण किया तथा विभिन्न व्यवस्थाओं का जायजा लिया। भडाना ने र्सावजनिक वितरण प्रणाली के तहत जिले में विभिन्न योजनाओं में ए.पी.एल., बीपीएल एवं अन्त्योदय अन्न योजना के तहत आवंटित खाद्यान्न एवं उसके उठाव तथा वितरण सहित उपभोक्ताओं के राशन र्काड की स्थिति के बारे में जानकारी ली । इस दौरान श्रीकरनपुर विधायक श्री सुरेन्द्रपाल सिंह टीटी भी मौजूद थे।

अभिनव प्रयोग है 'सरकार आपके द्वार
र्सावजनिक र्निमाण मंत्री श्री यूनुस खान ने कहा कि मु यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे द्वारा अभिनव प्रयोग के तौर पर शुरू किए गए 'सरकार आपके द्वार' अभियान का उद्देश्य ग्रामीणों की छोटी-बड़ी समस्याओ के निस्तारण के साथ-साथ सरकारी योजनाओं का फीडबैक लेना भी है। उन्होंने कहा कि इसके अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। भरतपुर के बाद बीकानेर संभाग में मु यमंत्री, मंत्री, अधिकारी और र्कमचारी गांव-गांव घूम रहे हैं और ग्रामीणों के दु:ख-र्दद बांटने और उनकी समस्याओं को दूर करने के प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने सहजूसर में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण किया। चूरू शहर में जल भराव की समस्या से ग्रसित पंखा सॢकल पर र्निमाणाधीन सड़क का अवलोकन किया। ग्राम घंटेल में खरीफ के बीजों की मिनी किट वितरित न करने की ग्रामीणों की शिकायत को उन्होंने गंभीरता से लिया तथा शुक्रवार सायं 5 बजे तक इनके वितरण करने के र्निदेश दिए। 
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment