युवाओं को दस लाख नौकरियों का गिफ्ट देगा मोदी मॉडल!

नई दिल्ली 23 June 2014 मोदी सरकार में जल्द ही युवाओं के लिए अच्छे दिन आने वाले है। गुजरात में मोदी मॉडल के तहत युवाओं के लिए दस लाख नौक रियों का गिफ्ट देने की तैयारी की जा रही है। एक अधिकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मुख्य प्रोजेक्ट गुजरात इंटरनेशनल फाइने ंस टी सिटी गिफ्ट के तहत वर्ष 2022 तक दस लाख नौकरियों की तैयारी की जा रही है। गुजरात सरकार द्वारा विकसित की जा रही गिफ्ट सिटी में वित्तीय सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

गिफ्ट सिटी के एमडी और ग्रुप सीईओ रमाकातं झा ने बताया कि यह प्रोजेक्ट प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का प्रोजेक्ट है, जब वे गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब वे खुद इस प्रोजेक्ट की मॉनिटरिंग कर रहे थे। अब नई मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल इस प्रोजेक्ट पर विशेष ध्यान दे रही है। झा ने बताया कि इस प्रोजे क्ट के तहत युवाओं को दस लाख नौकरी मिल सकेगी। 886 एकड़ भूमि पर नब रहे इस प्रोजेक्ट की लागत 65 हजार करोड़ रू पए है। गुजरात सरकार द्वारा विकसित किया जा रहा यह प्रोजेक्ट 2022 तक पूरा हो पाएगा। झा ने बताया कि गिफ्ट सिटी में सभी शहरी सुविधाएं विकसित की जा रही है। यह सड़क, मेट्रो और बीआरटीएस सुविधा से जुड़ा होगा। झा के अनुसार कई अन्तर्राष्ट्रीय कंपनीज और बैंक के कार्यालय गिफ्ट सिटी में अभी से खुल चुके है। गुजरात सरकार इस प्रोजेक्ट को गुजरात अरबन डेवलपमेंट कंपनी लिमिटेड और इंफ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड़ के साथ साझा रूप में विकसित कर रही है।

गोदिया से भर्ती की बात सफेद झूठ
मुख्यमंत्री ने दुष्प्रचार करने वालों को ट्वीट करके लिया आड़े हाथों
भोपाल : सोमवार, जून 23, 2014 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गोंदिया (महाराष्ट्र) से उनकी पत्नी के किसी भी रिश्तेदार को मध्यप्रदेश में परिवहन आरक्षक चयनित नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि गोंदिया तो गोंदिया सम्पूर्ण महाराष्ट्र से कोई व्यक्ति इस पद पर चयनित नहीं हुआ। मुख्यमंत्री ने आज अपने ट्वीट में कहा कि आरोप लगाने वाले कह रहे हैं कि गोंदिया से 17 व्यक्ति को परिवहन आरक्षक परीक्षा में चयनित किया गया। ऐसे लोगों को आड़े हाथों लेते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मीडिया में इस तरह का बदनामी करने वाला दुष्प्रेरित और आधारहीन आरोप लगाने वाले कभी तथ्यों को जानने की कोशिश नहीं करते। दुष्प्रचार करने वालों ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री निवास से 139 फोन किये गये। उन्होंने कॉल डिटेल्स रिपोर्ट भी जारी की, जिसमें एक भी कॉल नंबर मुख्यमंत्री निवास का नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस प्रकार झूठ के पाँव नहीं होते, उसी तरह कॉल डिटेल्स रिपोर्ट का भी आधार नहीं है। इसकी पुष्टि किये जाने की आवश्यकता होती है। आरोप लगाने वाले कॉल डिटेल्स रिपोर्ट तक नहीं देखते। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह इन आरोप लगाने वालों को ऐसे ही नहीं छोड़ देंगे। यह मानहानि का स्पष्ट मामला है। आरोप लगाने वालों को जल्दी ही नोटिस मिल जायेगा। मीडिया के मानदण्ड के बारे में मुझे जो थोड़ा बहुत पता है उसके अनुसार उस व्यक्ति का पक्ष भी लिये जाने की आवश्यकता होती है, जिसके विरूद्ध आरोप लगाये जा रहे हैं। इस मामले में ऐसा नहीं हुआ। श्री चौहान ने कहा कि मैं अच्छी तरह जानता हूँ कि हारने पर तकलीफ होती है, खासकर दो-दो बार हारने पर। बहुत थोड़े लोग हैं जो अपनी हार को गरिमा के साथ स्वीकार करते हैं। लेकिन क्या इन लोगों को इतना नीचे गिर जाना चाहिए?मुख्यमंत्री ने कहा कि चयनित परिवहन आरक्षकों की पूरी सूची विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध थी। उन्होंने इस पर भी एक नजर डालने की जहमत नहीं उठाई। श्री चौहान ने कहा कि वे मूल्यांकन की किसी भी ऐसी व्यवस्था को समाप्त करने के लिये दृढ़-प्रतिज्ञ हैं जिसमें धोखाधड़ी की जरा भी संभावना हो। युवाओं के पास अपनी प्रतिभा के सिवा प्रमाणित करने के लिए कुछ नहीं होता। श्री चौहान ने कहा कि युवाओं को वे किसी भी तरह हताश नहीं होने देंगे।

छत्तीसगढ़ में प्रस्तावित मेट्रो रेल परियोजना : मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में बैठक में विचार-विमर्श
रायपुर, 23 जून 2014 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में राज्य में प्रस्तावित मेट्रो रेल परियोजना के बारे में बैठक आयोजित की गई। उल्लेखनीय है कि मेट्रो रेल का यह प्रस्ताव राज्य सरकार के घोषणा पत्र में भी शामिल है। मुख्यमंत्री ने आज की बैठक में केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय के संयुक्त सचिव श्री सी.के. खेतान द्वारा मेट्रो रेल और नगरीय परिवहन की योजना एवं प्रबंधन पर दिए गए प्रस्तुतीकरण को देखा। इस मौके पर विभिन्न कम्पनियों द्वारा मेट्रो रेल, मोनो रेल और हल्का रेल यातायात (एल.आर.टी.) के बारे में प्रस्तुतिकरण दिया। मुख्यमंत्री ने प्रस्तुतिकरण का गंभीरता से अवलोकन करने के बाद कहा कि मेट्रो रेल छत्तीसगढ़ के लिए महत्वपूर्ण परियोजना है, जो राज्य सरकार के घोषणा पत्र में भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि रायपुर, भिलाई, दुर्ग और राजनांदगांव तक के लिए राज्य की आबादी और भविष्य की आवश्यकताओं को देखते हुए मेट्रो, मोनो और एल.आर.टी तीनों में से कौन सी परियोजना फायदेमंद होगी, इस पर सभी बिन्दुओं को ध्यान में रखते हुए किसी एक परियोजना का चयन किया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इसके लिए पीपीपी मॉडल अथवा केन्द्र-राज्य सरकार की संयुक्त हिस्सेदारी से आर्थिक साधन जुटाया जाएगा।
केन्द्रीय शहरी विकास विभाग के संयुक्त सचिव श्री सी.के. खेतान ने प्रस्तुतिकरण में बताया कि नगरीय परिवहन वर्तमान प्रणाली की संभावनाएं और भविष्य की योजनाओं पर विस्तृत प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि शहरों के मास्टर प्लान में नगरीय परिवहन का भी ध्यान रखा जाना चाहिए। श्री खेतान ने नगरीय परिवहन के विकास के लिए केन्द्र सरकार द्वारा दी जाने वाली विभिन्न अनुदान योजनओं की जानकारी दी। इस अवसर पर विभिन्न कम्पनियों के प्रतिनिधियों ने बताया कि नया रायपुर से राजनांदगांव तक 90 किलोमीटर की लम्बाई में यातायात सर्वेक्षण का कार्य किया गया है, जिसमें से प्रथम चरण में तेलीबांधा से पुलगांव (जिला दुर्ग) तक 45 किलोमीटर लम्बाई में मेट्रो रेल का कार्य लिया जाएगा।

देर रात मुख्यमंत्री को अचानक अपने बीच पाकर ग्रामीण हुए अचंभित
जयपुर, 22 जून। मु यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे रविवार रात अचानक बीकानेर जिले की कोलायत तहसील के लु बासर गांव पहुंचीं। ग्राम पंचायत खारी चारणान से 9 किमी दूर कच्चे रास्ते से होते हुए मु यमंत्री जब देर रात इस गांव में पहुंचीं तो गांव के स्त्री-पुरुष प्रदेश की मुखिया को अपने बीच पाकर अचंभित रह गये। श्रीमती राजे ने ग्रामीणों के बीच बैठकर उनकी समस्या, दुख-दर्द व तकलीफों को आत्मीयता से सुना और मौके पर मौजूद अधिकारियों से उनके समाधान के बारे में चर्चा कर आवश्यक निर्देश दिये।
मु यमंत्री ने लकडऩाथ के घर बैठकर नाथ समाज की महिलाओं से काफी देर तक आत्मीयता से बातचीत करते हुए उनके हाल-चाल जाने। 21 घरों की बस्ती वाला यह गांव सोलर लाइट से रोशन है। राजस्थान मरूधरा ग्रामीण बैंक के द्वारा जवाहर लाल नेहरु सोलर मिशन के अन्तर्गत यह सोलर लाइटें लगाई गई हैं। लु बासर गांव में मीडिया से बातचीत करते हुए मु यमंत्री ने कहा कि आने वाले समय में सूचना के आदान-प्रदान एवं निरन्तर मॉनिटरिंग से जनसमस्याओं का त्वरित समाधान करने का पूरा प्रयास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि लु बासर में सोलर एनर्जी से स्ट्रीट लाइट एवं घरों में रोशनी पहुंचाने का जो कार्य हुआ है वो सराहनीय है। ग्रामीणों ने पेयजल की समस्या बताई है, उसका समाधान करते हुए यहांं पीने के पानी की पु ता व्यवस्था करने की पूरी कोशिश की जाएगी।

SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment