PM मोदी ने कार्यभार संभाला, सार्क देशों के राष्ट्राध्यक्षों से की मुलाकात

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री के रूप में सोमवार को शपथ लेने वाले नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को औपचारिक रूप से अपना कार्यभार संभाल लिया। साउथ ब्लॉक पहुंचने पर प्रधानमंत्री मोदी का फूलों के गुलदस्ते से स्वागत किया गया। उन्होंने यहां इंतजार कर रहे मीडियाकर्मियों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया।
अपनी कुर्सी पर बैठने से पहले प्रधानमंत्री ने कार्यालय में महात्मा गांधी की तस्वीर पर फूल चढ़ाए और उसके बाद अपना कार्यभार संभाला। प्रधानमंत्री के रूप में अपना कार्यभार संभालने के बाद नरेंद्र मोदी ने आज अंतरराष्ट्रीय नेताओं के साथ अपनी पहली द्विपक्षीय वार्ता के तहत अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजई के साथ बातचीत की। करजई के साथ मुलाकात के बाद मोदी ने हैदराबाद हाउस में मालदीव के राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन अब्दुल गयूम के साथ बातचीत की। आधे घंटे से ज्यादा चली इस मुलाकात में दोनों देशों के आपसी रिश्तों को और मजबूती देने को लेकर बात हुई , वहीं पिछले हफ्ते हेरात में भारतीय दूतावास में हुए हमले पर भी चर्चा की गई। इसके अलावा नाटो सैनिकों के अफगानिस्तान छोड़ने के बाद हालात पर भी चर्चा हुई। इस दौरान विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, और विदेश सचिव सुजाता सिंह भी मौजूद थीं। इसके बाद श्रीलंका के राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे, भूटान के प्रधानमंत्री शेरिंग तॉबगे, मॉरीशस के प्रधानमंत्री नवीनचंद्र रामगुलाम और नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोइराला से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुलाकात की। साथ ही बांग्लादेश की संसद की अध्यक्ष शिरिन शर्मिन चौधरी से भी मोदी ने मुलाकात की।

प्रदेश के विकास में केन्द्र सरकार का भरपूर योगदान लें
भोपाल : मंगलवार, मई 27, 2014 मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश को तेज गति से आगे बढ़ाने में केन्द्र सरकार का भरपूर योगदान लें। केन्द्र सरकार के स्तर पर प्रदेश के लंबित मुद्दों पर तुरन्त तैयारी करें। प्रदेश के विकास के लिये तत्काल पहल करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज यहाँ मंत्रालय में मंत्रीगण तथा वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक ले रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के विकास से संबंधित ऐसे महत्वपूर्ण मुद्दे जिन पर केन्द्र से सहयोग अपेक्षित है, उन पर सभी मंत्री अपने-अपने विभागों में तैयारी करवायें। विभागीय मंत्री अगले तीन दिन में इस संबंध में अपने-अपने विभाग में बैठक लें। शहरी विकास, ग्रामीण विकास, पेयजल, सिंचाई से संबंधित महत्वपूर्ण परियोजनाओं पर जिनमें केन्द्र से सहयोग चाहिये, तैयारी करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश के अधिकतम विकास के लिये केन्द्र से लाभ मिल सकते हैं, इसे ध्यान रखकर तैयारी करें। मुख्यमंत्री स्वयं मंत्री मंडल के साथ प्रधानमंत्री से मुलाकात करेंगे। विभागीय मंत्री स्वयं भी अपने विभाग से संबंधित केन्द्रीय मंत्री से समय लेकर मिलेंगे।

राज्यपाल श्रीमती माग्र्रेट आल्वा ने प्रधानमंत्री पद के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लिया
जयपुर, 26 मई। राज्यपाल श्रीमती माग्र्रेट आल्वा ने सोमवार को सायं नई दिल्ली के राष्ट्रपति भवन प्रांगण में श्री नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री पद के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लिया। सोमवार को सायं राष्ट्रपति भवन में आयोजित हुए ऐतिहासिक समारोह में राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने श्री नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री और उनके केबिनेट के सदस्यों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलवाई।

काले धन की वापसी के लिए एसआईटी गठन मोदी सरकार का ऐतिहासिक फैसला: डॉ. रमन सिंह : मुख्यमंत्री ने किया फैसले का स्वागत
रायपुर, 27 मई 2014 छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने देश के नये प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आज नई दिल्ली में आयोजित उनकी पहली केबिनेट की बैठक में काले धन का पता लगाने और देश के खजाने में उसे वापस प्राप्त करने के लिए उच्चस्तरीय विशेष जांच दल (एस.आई.टी.) गठित करने के फैसले का स्वागत किया है। डॉ. रमन सिंह ने इसे राष्ट्रहित में मोदी सरकार का पहला ऐतिहासिक फैसला बताया है। डॉ. सिंह ने कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी की सरकार देश को महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार और काले धन के अभिशाप से मुक्त करने और एक खुशहाल भारत के निर्माण के लिए वचनबद्ध है। काले धन के मामले में एसआईटी गठित करने का उनका यह फैसला इस दिशा में पहला बड़ा कदम है। श्री मोदी और उनके मंत्रिमंडल ने कल शाम राष्ट्रपति भवन में शपथ ग्रहण किया और सिर्फ 24 घण्टे के भीतर केबिनेट की बैठक लेकर यह ऐतिहासिक निर्णय लिया गया। डॉ. रमन सिंह ने कहा कि मोदी सरकार अपने घोषणा पत्र में जनता से किए गए प्रत्येक वायदे को पूरा करेगी।

SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment