नरेन्द्र मोदी की मणिनगर में फेयरवेल स्पीच

नई दिल्ली। दिल्ली में रविवार को राजनैतिक माहौल गर्म रहा। प्रधानमंत्री बनने जा रहे नरेन्द्र मोदी पहले भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी से मिले और शाम को वे मुरली मनोहर जोशी से मिलने गए ताकि सरकार बनाने में उनका मार्गदर्शन ले सकें।
मोदी 20 मई को गुजरात जाएंगे और मणिनगर में अपना फेयरवेल स्पीच देंगे। उल्लेखनीय है कि मणिनगर ही वह विधानसभा सीट है, जहां से वे तीन बार विधायक चुने गए थे। मणिनगर की वह विधानसभा सीट ही है, जिसने मोदी के राजनैतिक भविष्य को हौसलों को नई उड़ान दी। यहीं से वे तीन बार विधानसभा जीतकर मुख्यमंत्री बने और 2014 में वे प्रधाननमंत्री बनने जा रहे हैं।

अपने क्षेत्र के ‍लोगों का आभार प्रकट करने के लिए मोदी ने मणिनगर को ही अपना विदाई संबोधन देने के लिए चुना है। इससे पहले वे वडोदरा संसदीय सीट के अलावा अहमदाबाद में भी अपना संबोधन दे चुके हैं। गुजरात विधानसभा का विशेष सत्र : 21 मई के दिन मोदी गुजरात विधानसभा के विशेष सत्र में आखिरी बार विधायकों को संबोधित करेंगे। यह विशेष सत्र 2 घंटे का होगा। मोदी 21 मई को ही गुजरात के मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे सकते हैं। आनंदीबेन के हाथों में सौंपेगे गुजरात की सत्ता : इस विशेष सत्र के बाद गुजरात भाजपा विधायक दल अपने नए नेता को चुनेगा। समझा जाता है कि मोदी गुजरात की गद्दी आनंदीबेन को सौंपेगे, जो राजस्व मंत्री हैं। यानी सबकुछ ठीक रहा तो आनंदीबेन गुजरात की अगली मुख्यमंत्री बनने जा रहीं हैं।

आधे घंटे तक हुई चर्चा श्रीमती राजे ने दी श्री मोदी को बधाई
जयपुर, 18 मई। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे ने रविवार को नई दिल्ली स्थित गुजरात भवन में श्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की। श्रीमती राजे ने गुलदस्ता भेंट कर श्री मोदी को लोकसभा चुनाव में मिली ऐतिहासिक जीत के लिए बधाई दी और उज्जवल भविष्य की कामना की। श्रीमती राजे ने कहा कि श्री मोदी के कुशल एवं चमत्कारिक नेतृत्व में देश तरक्की करेगा और वो दिन दूर नहीं जब भारत पूरे विश्व में एक महाशक्ति के रूप में उभरेगा। उन्होंने कहा कि श्री मोदी देश की तकदीर और तस्वीर बदल कर देश में विकास की एक नई क्रांति लायेंगे। श्री नरेन्द्र मोदी ने दी श्रीमती राजे को बधाई लगभग 30 मिनट तक चली इस मुलाकात के दौरान श्री मोदी ने श्रीमती राजे को राजस्थान में 25 की 25 लोकसभा सीटें जीतने के लिए धन्यवाद एवं बधाई दी। श्रीमती राजे के साथ लोकसभा सांसद श्री दुष्यंत सिंह, राज्यसभा सांसद श्री नारायण लाल पंचारिया और श्री राम नारायण डूडी भी मौजूद थे।

16वीं लोकसभा के गठन की अधिसूचना के साथ ही आदर्श आचरण संहिता समाप्त
भोपाल : रविवार, मई 18, 2014 भारत निर्वाचन आयोग द्वारा 15वीं लोकसभा के विघटन और 16वीं लोकसभा के गठन के लिये जारी अधिसूचना के साथ ही लोकसभा निर्वाचन के लिये लागू आदर्श आचरण संहिता को समाप्त कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि विगत 5 मार्च को आयोग द्वारा लोकसभा निर्वाचन की घोषणा के साथ ही आदर्श आचरण संहिता लागू हो गई थी।

जल्द मिलेगी मुक्ति अब तक पचास में से ग्यारह बसाहटों में हैण्डपम्प लगाने का कार्य पूर्ण
रायपुर, 18 मई 2014 पहाड़ी इलाकों और वन क्षेत्रों में रहने वाले छत्तीसगढ़ के बैगा आदिवासियों को पीने का साफ पानी उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के निर्देश पर कबीरधाम (कवर्धा) जिले में विशेष अभियान शुरू हो गया है। अभियान के तहत जिले के पंडरिया और बोड़ला विकासखण्डों में पेयजल की दृष्टि से समस्या मूलक बसाहट के रूप में चिन्हांकित पचास बैगा बसाहटों में नलकूप खनन और हैण्डपम्प लगाने का कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है। इस काम में पांच सामान्य ड्रीलिंग मशीनों के साथ पहाड़ी इलाकों के लिए विशेष रूप से उपयोगी क्राउलर मशीन का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। अब तक ग्यारह बसाहटों में चौदह नलकूपों का खनन कर उनमें हैण्ड पम्प लगा दिए गए हैं। इनमें से दस हैण्डपम्पों में प्लेटफार्म भी बनवा दिए गए हैं। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने शेष बसाहटों में यह कार्य इस महीने की 31 तारीख तक पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने इस महीने की एक तारीख को राजधानी रायपुर में आयोजित पेयजल योजनाओं की समीक्षा बैठक में कबीरधाम (कवर्धा) जिले की उन बैगा आदिवासी बहुल बसाहटों का उल्लेख किया था, जहां गर्मी के इस मौसम में पेयजल की काफी दिक्कत हो रही है। मुख्यमंत्री ने इन बसाहटों के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के सचिव श्री जी. एस. मिश्रा को विभाग के वरिष्ठ इंजीनियरों की टीम भेजने के निर्देश दिए थे। बैठक में मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड और प्रमुख सचिव श्री एन. बैजेन्द्र कुमार भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री के निर्देशों पर त्वरित अमल करते हुए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा मुख्य अभियंता डॉ. एम.एल.अग्रवाल के नेतृत्व में दुर्ग के अधीक्षण अभियंता श्री ए.के. साहू, कबीरधाम के कार्यपालन अभियंता श्री बी.एन. भोयर और मैकेनिकल शाखा के कार्यपालन और सहायक अभियंता को मिलाकर टीम गठित की गई। टीम ने दोनों विकासखण्डों के पहाड़ी क्षेत्रों में स्थित बैगा बसाहटों का सघन दौरा किया। विभाग के सचिव श्री जी.एस. मिश्रा ने राज्य सरकार को इस कार्य की प्रगति की रिपोर्ट सौंपी है।

SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment