बौखलाई भाजपा झूठ पर उतारु- प्रताप भानु शर्मा (उपाध्यक्ष म.प्र कांग्रेस)

ग्वालियर-च बल का विकास पचा नहीं पा रहे है भाजपाई क्योकि जितना विकास ग्वालियर-च बल के इतिहास में दर्ज है उस पर मिट्टी डाल भविष्य के झूठे सपने दिखाने वाली भाजपा को वर्तमान का एहसास नहीं। इसलिये बौखलाई भाजपा झूठ का सहारा ले अब व्यक्तिगत आरोपों पर ऊतर आई है।
क्योकि भाजपा ये अच्छी तरह से जानती है,कि विकास के नाम पर उसके पास कहने कुछ भी नहीं। जिन 4 मेडिकल कॉलेज स्वीकृत हो जाने का दम भाजपा नेता भर रहे है उन्हें शायद सच्चाई का पता नहीं कि म.प्र. में 4 नहीं 7 मेडिकल कॉलेज खोले जाना है। जिन्हें खुलवाने का सिरे प्रदेश के युवा नेता एवं भारत सरकार के ऊर्जा मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार को जाता है।

उन्होंने कहा कि जिस विकास के इतिहास पर भाजपा उंगली उठा रही है। अगर उनकी जानकारी क पलीट नहीं है तो उन्हें मैं बताना चाहूंगा कि आज जिस नेता की नेक नियति और जनसेवा व कत्र्तव्य निष्ठा पर झूठे सवाल खड़े किये जा रहे है। ऐसे में सच कहना मेरा ही नहीं हर क्षेत्र वासी का धर्म है।

अगर हम सच की शुरुआत करें तो आजादी से पूर्व ग्वालियर-च बल में शिक्षण,प्रशिक्षण,संस्थानों के अलावा उघोग,सड़क पानी,बिजली,स्वास्थ और सुरक्षा सहित रोजगार कृषि की इतनी अत्यआधूनिक सुविधायें इस क्षेत्र में मौजूद थी। कि वह आने वाले भविष्य को मुंह चिड़ा सकती है। जैसे बामौर की सीमेन्ट फैक्ट्री,जेसी एवं ग्वालियर सूटिंग सिम को एवं कत्थामील ये उस जमाने के नामी ग्रामी रोजगार के साधन थे। जिसमें हरसी एवं ग्वालियर का तिघरा डैम सहित ग्वालियर-च बल में मौजूद सैकड़ों की तादाद में मौजूद तालाब सहित बेहतर सड़के और ग्वालियर में मौजूद जे.ए.एच. चिकित्सालय मेडिकल कॉलेज माधव स्टेटीयूट ऑफ टेक्नोलॉजी तथा कृषि विश्व विद्यालय सहित नेशनल रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डा मौजूद था।

आजादी के बाद बामैार औद्योगिक क्षेत्र में उघोगों की श्रंृखला एवं मालनपुर में नये उघोगों स्थापना सितोली में रेलवे स्पीरिंग फैक्ट्री पूरे ग्वालियर-च बल में नवोदय विद्यालयों की स्थापना कई जिलों में हवाई पट्टी गुना इटावा रेल लाईन एवं ग्वालियर सहित देश भर में शताब्दी एक्सप्रेेस टे्रनों की श्रृंखला प्रदेश ार में हवाई पट्टियां, ग्वालियर-च बल में रेलवे ऑवर बिृजो की श्रंखला अन्तराष्ट्रीय स्टेडियम एवं पर्यटन स्थानों का उन्नयन टाईगर सफारी जीवाजी यूनिवर्सटी नये विषयों की शुरुआत एवं ग्वालियर स्टेशन कई सुपर फास्ट रेल गाडिय़ों की शुरुआत के साथ ही विजयपुर नेशनल फटलाईजर एवं गेल की स्थापना इतिहास के गर्भ में है।

वर्तमान देखे तो 12 वर्ष साढ़े 12 हजार करोड़ एवं 22 से अधिक ट्रेनो का शिवपुरी के स्टेशन पर रुकना साथ ही शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में राजीव गांधी शहरी एवं ग्रामीण विधुत परियोजना की शुरुआत इतना ही नहीं शिवपुरी में तालाब मर मत में पायलट प्रोजेक्ट,झील सरंक्षण,सीवेज प्रोजेक्ट,पॉलोटेक्निक, इन्जीनियरिंग सहित मेडिकल एवं नरसिंग प्रशिक्षण अवशिष्ट प्रबंधनकॉलेज और माहती योजना सिंध के शुद्ध पेयजल के लिये सिंध जलावर्धन योजनाओं, आदिवासी गरीबों को आवास योजना के अलावा सेवाये अलग से।

रहा सवाल जिस नेता ने अपने खाते की करोड़ों की भूमि भारत सरकार को दान दी हों,आरोप लगाने वालो को आरोप लगाने के काबिल जिस परिवार के पूर्वजों ने बनाया हों,आज वहीं व्यक्तिगत आरोप लगा अगर झूठी लेाकप्रियता पर उतारु हों ऐसे में नेता के बारे में हमें कुछ नहीं कहना। मगर इतना जरुर मैं कहना चाहूंगा कि भारतीय स यता,संस्कृति,संस्कार और भारतीय आचरण का दम भरने वाले देश भक्तों के दलो के नेताओं को यह याद रखना होगा कि भारतीय पर परायें और संस्कार सार्वजनिक जीवन किन बातों को सार्वजनिक रखने की इजाजत देती है। अगर उनके आरोप सत्य है,तो वह लेागों के सामने प्रमाण सहित रखें बरना उनके झूठे आरोपों का जबाव जनता अवश्य अच्छी तरह से देना जानती है और वह इस चुनाव में उन्हें देगी भी।

श्री शर्मा ने पूर्व विधायक हरिवल्लभ शुक्ला,गणेश गौतम एवं कांग्रेस के मौजूद कई नेताओं के सामने ताल ठोक कर कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ही नहीं म.प्र. के मु यमंत्री बतायें कि जितना विकास संवैधानिक मजबूरियों के चलते हमारे नेता ने म.प्र. ही नहीं क्षेत्र का किया। भाजपा के किसी भी नेता ने म.प्र. में किया हो तो मैं उन्हें चैलेंज करता हूंं कि वह जनता को बतायें न कि झूठे आरोप लगाये। अन्त में श्री शर्मा ने कहा कि यह क्षेत्रवासियों का सौभाग्य है,कि म.प्र. ही नहीं ग्वालियर-च बल को ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसा नेता मिला है,कि जिसकी दिनचर्या सुबह से शुरु होकर रात ढाई बजे तक आम गरीब,किसान,मजदूर,युवा एवं बुर्जुगों के लिये समर्पित रहती है। ऐसे में एक सच्चे जनसेवक पर झूठे आरोपों की श्रृंखला, जो ताकत एवं पैसा सहित अंहकार के बल पर आधारित हों उसे समाज कभी स्वीकार नहीं करेगा। न ही देश और प्रदेश का किसान आम गरीब उस म.प्र. सरकार को माफ करेगा जिसने न तो बर्बाद हुई सोयाबीन की फसल का मुआवजा दिया न ही सरसों,चना,गेंहू की बर्बाद हुई फसल का मुआवजा केन्द्र से हाल ही में 411 करोड़ मिलने के बाद भी एक धेला तक दिया। जिसे दिलाने हमारे नेता काली पट्टी बांध आम गरीब किसान के लिये आज भी संर्घरत है।

राजनैतिक दलों की 60 प्रतिशत से अधिक शिकायतों का निराकरण

भोपाल : रविवार, अप्रैल १३, २०१४ मध्यप्रदेश में हो रहे लोकसभा निर्वाचन के दौरान विभिन्न राजनैतिक दल एवं अन्य के द्वारा शासकीय अधिकारी-कर्मचारियों के संबंध में विगत ५ मार्च के बाद ८२४ शिकायतें प्राप्त हुई हैं। इनमें वे शिकायत भी शामिल हैं जो सीधे भारत निर्वाचन आयोग को भेजी गई हैं। प्राप्त शिकायतों में से ४०९ का निराकरण किया जा चुका है। शेष ४१५ के निराकरण के लिये कार्रवाई चल रही है। विभिन्न राजनैतिक दलों द्वारा की गई १९८ शिकायत में से १२८ का निराकरण करवाया जा चुका है। इस प्रकार ६० प्रतिशत से अधिक शिकायतें निराकृत हो चुकी हैं। जिन राजनैतिक दलों की शिकायत का निराकरण हुआ उनमें आप पार्टी की १५ में से ११, भारतीय जनता पार्टी की ६१ में से ४२, बहुजन समाज पार्टी की १० में से ५, इंडियन नेशनल कांग्रेस की १०४ में से ६३, लोक जनशक्ति पार्टी, आरपीआई और समता पार्टी से प्राप्त एक-एक शिकायत का निराकरण हो चुका है। इसी तरह गोंडवाना गणतंत्र पार्टी की ३ में से २ और समाजवादी पार्टी से प्राप्त २ शिकायतों का निराकरण किया जा चुका है। अभी मात्र ७० शिकायतों का निराकरण होना बाकी है, जिन पर कार्रवाई चल रही है।

मुख्य सचिव, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी और डी.जी.पी. ने किया बस्तर का दौरा

रायपुर, १३ अप्रैल २०१४ मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड, छत्तीसगढ़ के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री सुनील कुजूर, गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री एन.के. असवाल और प्रदेश के पुलिस महानिदेशक श्री ए.एन. उपाध्याय ने आज बस्तर राजस्व संभाग के मुख्यालय जगदलपुर पहुंचकर नक्सल हिंसा की घटनाओं के बारे में स्थानीय वरिष्ठ अधिकारियों से पूरी जानकारी ली। ज्ञातव्य है कि नक्सलियांे ने कल बस्तर संभाग के बीजापुर जिले में कुटरू-केतुलनार के पास मतदान दलों के वाहन पर हमला किया था। ये मतदान दल लोकसभा चुनाव प्रक्रिया के तहत मतदान सम्पन्न कराने के बाद अपनी चुनाव ड्यूटी से लौट रहे थे। इस हमले में मतदान दलों के सात कर्मचारी शहीद हो गए। वहीं दूसरी तरफ कल ही बस्तर (जगदलपुर) जिले में दरभा के पास नक्सलियों द्वारा बारूदी सुरंग विस्फोट के जरिए राज्य सरकार के संजीवनी एक्सप्रेस (टोल फ्री नम्बर १०८) के एम्बुलेंस को नष्ट कर दिया गया था। दरभा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के इस एम्बुलेंस में सवार केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के पांच जवानों सहित संजीवनी एक्सप्रेस के ड्राईवर और तकनीशियन भी शहीद हो गए। मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड ने जगदलपुर से लौटकर आज शाम रायपुर में बताया कि नक्सल हिंसा में मतदान दलों के शहीद सरकारी कर्मचारियों के परिवारों को प्रति परिवार ३२ लाख रूपए की सहायता दी जाएगी। इसमें से बीस-बीस लाख रूपए चुनाव आयोग की ओर से और बारह-बारह लाख रूपए राज्य सरकार की ओर से दिए जाएंगे, जबकि शहीद हुए संजीवनी एक्सप्रेस के निजी तकनीशियन और निजी ड्राईवर के परिवारों को भी चुनाव आयोग की ओर से बीस-बीस लाख रूपए और शासन की ओर से पांच-पांच लाख रूपए, इस प्रकार पच्चीस-पच्चीस लाख रूपए का मुआवजा दिया जाएगा। श्री ढांड ने बताया कि प्रत्येक शहीद के परिवार के एक सदस्य को राज्य शासन द्वारा अनुकम्पा नियुक्ति भी दी जाएगी। मुख्य सचिव ने बताया कि केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के शहीद जवानों के परिवारों को सीआरपीएफ के नियमों के अनुसार प्रति परिवार लगभग चालीस लाख रूपए की सहायता मिलेगी।

राज्यपाल की डॉ. अ बेडकर को पुष्पाजंलि
जयपुर, 13 अप्रेल। राज्यपाल श्रीमती माग्र्रेट आल्वा ने कहा कि नई पीढ़ी को चाहिए कि वह जात पात के भेदभाव से मुक्त, डॉ. भीमराव अ बेडकर के सपनों का भारत बनाने के लिए अथक प्रयास करें । डॉ. अ बेडकर दलितों के ही नहीं बल्कि पूरे देश के नेता थे। श्रीमती आल्वा रविवार को यहां भारत रत्न डॉ. भीमराव अ बेडकर की 123वीं जयन्ती की पूर्व संध्या पर अ बेडकर सर्किल पर आयोजित समारोह को मु य अतिथि के रूप में स बोधित कर रही थीं। उन्होंने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम की शुरूआत की और डॉ. भीमराव अ बेडकर की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्वांजलि दी। समारोह स्थल पहुंचने पर राज्यपाल श्रीमती आल्वा का डॉ. बी.आर. अ बेडकर जयंती समारोह समिति के अध्यक्ष श्री लालचंद असवाल ने बुके भेंट कर स्वागत किया। इस अवसर पर दौसा, करौली, सवाईमाधोपुर और जयपुर के प्रसिद्घ लोक कलाकारों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। सांस्कृतिक कार्यक्रम का संचालन श्री राजू और मोनिका ने किया। समारोह में बड़ी सं या में जनसमूह उपस्थित था।


SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment