राष्ट्रपति ने किया रोटरी के पोलियो मुक्त सम्मेलन का उद्घाटल

नई दिल्‍ली। राष्‍ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने २९ मार्च, २०१४ को नई दिल्‍ली में एक कार्यक्रम में रोटरी इंटरनेशनल के पोलियो-मुक्‍त सम्‍मेलन-2014 का उद्घाटन किया। साथ में हैं केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्री श्री गुलाम नबी आजाद।

ओला पीड़ितों को राहत के संबंध में निर्वाचन आयोग के निर्देश
भोपाल : शनिवार, मार्च २९, २०१४ मध्यप्रदेश में ओला पीड़ितों को जनहानि, पशुहानि एवं मकान क्षति के लिये सहायता वितरण किए जाने के संबंध में भारत निर्वाचन आयोग ने कहा है कि इसमें आयोग को कोई आपत्ति नहीं है। बहरहाल इसके संबंध में आयोग ने कुछ शर्तें रखी हैं। इसके अनुसार राहत वितरण का कार्य मुख्यमंत्री/मंत्रियों के नाम के बिना किसी भी घोषणा अथवा प्रचार के बगैर किया जाना चाहिये। राहत वितरण में अधिकतम पारदर्शिता बरती जाये और गाँव में हितग्राहियों की सूची प्रकाशित की जाये। सिर्फ शासकीय अधिकारी बैंक के माध्यम से चेकों का वितरण प्रभावित परिवारों को करेंगे और कोई भी राजनैतिक कार्यकर्ता प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से इसमें शामिल नहीं होगा। आयोग ने कहा है कि राहत कार्य में राजस्व कर्मचारियों के संलग्न होने से निर्वाचन संबंधी कार्यों की गति में कोई कमी नहीं आनी चाहिये। अत: इस कार्य के लिये कलेक्टरों को राहत वितरण में मदद के उद्देश्य से ग्रामीण तथा कृषि विभाग का सहयोग लिया जाना चाहिये जिनके पास मैदानी अमला होता है।

सभी जिला दण्डाधिकारी कर सकेंगे राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम की शक्तियों का प्रयोग : गृह विभाग द्वारा अधिसूचना जारी
रायपुर, २९ मार्च २०१४ राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ के सभी २७ जिलों में जिला दण्डाधिकारियों को आवश्यक होने पर अपने कार्य क्षेत्र के जिले में एक अपै्रल २०१४ से ३० जून २०१४ तक राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम १९८० का प्रयोग करने के निर्देश दिए हैं। गृह विभाग द्वारा यहां नया रायपुर स्थित मंत्रालय (महानदी भवन) से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि राज्य सरकार के पास ऐसी रिपोर्ट है कि कतिपय तत्व साम्प्रदायिक मेल-मिलाप को संकट में डालने के लिए लोक व्यवस्था और राज्य की सुरक्षा पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाले कार्य करने के लिए सक्रिय हैं अथवा उनके सक्रिय होने की आशंका है। अतः राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम १९८० की धारा-३ की उपधारा (३) के द्वारा प्रदत्त शक्तियों को प्रयोग में लाते हुए राज्य सरकार ने सभी जिला दण्डाधिकारियों को यह निर्देश दिए हैं कि यदि उन्हें इस धारा की उप धारा (२) के अनुसार यह समाधान हो जाता है कि लोक व्यवस्था और सुरक्षा व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है तो वे एक अपै्रल २०१४ से ३० जून २०१४ तक की अवधि में इस अधिनियम के द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग कर सकेंगे। यह अधिसूचना २५ मार्च २०१४ को रायपुर, बिलासपुर, राजनांदगांव, दुर्ग, रायगढ़, सरगुजा, जशपुर, कोरिया, जांजगीर-चांपा, कोरबा, कबीरधाम (कवर्धा), महासमुन्द, धमतरी, बस्तर (जगदलपुर), उत्तर बस्तर (कांकेर), दक्षिण बस्तर (दंतेवाड़ा), बीजापुर, नारायणपुर, सुकमा, कोण्डागांव, बलौदाबाजार-भाटापारा, गरियाबंद, बेमेतरा, बालोद, मुंगेली, सूरजपुर और बलरामपुर-रामानुजगंज जिलों के लिए जारी की गयी है।

लोकसभा चुनाव-2014 नाम वापसी के बाद 239 उ मीदवार चुनाव मैदान में
जयपुर, 29 मार्च। राज्य में लोकसभा आम चुनाव के प्रथम चरण में 20 संसदीय क्षेत्रों में नाम वापसी की अंतिम तिथि के बाद अब राज्य में कुल 239 उ मीदवार मैदान में रह गए हैं।नामांकन की प्रक्रिया में 29 मार्च को नाम वापसी के आखिरी दिन 46 उ मीदवारों ने अपने नाम वापस लिए। 6 संसदीय क्षेत्रों (बीकानेर, सीकर, नागौर, उदयपुर, बांसवाड़ा, चित्तौडग़ढ़) को छोड़कर सभी सीटों से नाम वापस लिए गए हैं। सबसे ज्यादा नाम जयपुर और जोधपुर से 7-7 उ मीदवारों द्वारा नाम वापस लिए गए हैं।
संयुक्त मु य निर्वाचन अधिकारी श्री पी.सी.गुप्ता ने बताया कि श्रीगंगानगर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से एक उ मीदवार ने नाम वापस लिया, चूरु से दो, झुंझुनंू से एक, जयपुर (ग्रामीण) से तीन, अजमेर से दो, पाली से छह, बाड़मेर से चार, जालोर से 6, राजसमंद से तीन, भीलवाड़ा से एक, कोटा से एक एवं झालावाड़-बारां लोकसभा क्षेत्र से 2 उ मीदवारों ने नाम वापस लिए।
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment