शिवराज को सिंधिया की चुनौती: संवैधानिक पदो पर बैठे मुखियाओं की जुबानी जंग

व्ही.एस.भुल्लें/ म.प्र.शिवपुरी। शिवपुरी की जमीन पर संवैधानिक पदो पर बैठे दो मुखियाओं की जुबानी जंग इस तरह रंग लेगी किसी ने सपने में भी न सौचा होगा कि एक रोज पूर्व जहां म.प्र. केे मु यमंत्री भरे मंच से कार्यकत्र्ता स मेलन मं कह गये कि मेडिकल कॉलेज की बात सिंधिया का सबसे बड़ा झूठ है दूसरे ही दिन सिंधिया ने अपने निवास ब बई कोठी पर चुनिंदा पत्रकारों को बुला कुद दस्तावेज पत्रकारों को मुहैया करा भरी प्रेस कॉन्फेस में कहा कि शिवराज ने झूठ बोला,इस्तीफा दे।

वे यहीं पर नहीं रुके उन्होंने कहा कि शिवपुरी के लिये मंजूर मेडिकल कॉलेज को यदि प्रदेश के मु यमंत्री शिवराज सिंह झुठला दे तो मैं राजनीति से इस्तीफा दे दूंगा,यदि मु यमंत्री ऐसा नहीं कर पाये तो उन्होंने मंच से शिवपुरी की जनता से जो झूठ बोला है उसके लिये वह नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे।

देखा जोय तो इस जुबानी जंग के दोनों ही पात्र फिलहॉल संवैधानिक पदो पर आसीन है। शिवराज सिंह जहां म.प्र. के मु यमंत्री है वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया केन्द्र सरकार में स्वतंत्र प्रभार ऊर्जा मंत्री क्या लेाकतंत्र में यह स भव है कि संवैधानिक पद पर बैठ कोई झूठ बेाल सकता है मगर ये भी सौ आने सच है। कि गत दिनों 26 मार्च और 27 को दोनों संवैधानिक पदो से सच,झूठ की आवाज शिवपुरी ने सुनी है। जिसमें एक और मु यमंत्री शिवराज ने झूठ बोलने का आरोप लगाया है। केन्द्रीय मंत्री पर, वहीं दूसरी ओर केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने सबूत के तौर पर दस्तावेज दिखा,झूठा साबित करने पर राजनीति से इस्तीफे की बात कहीं है। साथ ही कहा है अगर उनके दस्तावेज और बात सहीं है तो म.प्र. के मु यमंत्री इस्तीफा दे।

मजे की बात तो यह है कि 2014 के लेाकसभा चुनावों पर लेाकतंत्र की राजा अर्थात जनता जहां मौसन पर है। वहीं संवैधानिक पदो पर बैठे मुखियाओं की जुबानी जंग इस चुनाव के किस दिशा में ले जायेगी फिलहॉल कह पाना मुश्किल है। मगर शिवपुरी की जमीन पर अभी भी सत्य आना बाकी है। क्योकि शिवपुरी की जनता को सच झूठ की फुटबॉल बना मैच जीत पाना दोनों ही दल को इतना आसान नहीं होगा। क्योकि कई ज्वलंत मुद्दे आज भी शिवपुरी ही नहीं समुचे म.प्र. के जन मानस के सामने मुंहवाये खड़े है।

भारतीय वायु सेना का सी-१३०जे विमान दुर्घटनाग्रस्‍त

नई दिल्ली। २८-मार्च २०१४ भारतीय वायु सेना का सी-१३०जे विमान आज (२८ मार्च, २०१४ को) ग्‍वालियर हवाई अड्डे से ७२ मील पश्चिम में दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया। यह विमान आगरा से प्रात: १० बजे फ्लाईंग प्रशिक्षण की उड़ान पर था। दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए जांच के आदेश दिए गए हैं।

लोकसभा निर्वाचन -२०१४ प्रेक्षक श्री कुमार ने मतदान केन्द्रों का जायजा लिया
भोपाल : शुक्रवार, मार्च २८, २०१४ लोकसभा निर्वाचन २०१४ के तहत भोपाल लोकसभा क्षेत्र के लिए आयोग द्वारा नियुक्त प्रेक्षक श्री अश्वनी कुमार ने आज बैरसिया क्षेत्र का भ्रमण कर मतदान केन्द्रों पर की गई व्यवस्थाओं का अवलोकन किया और अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की। सहायक रिटर्निंग आफीसर एवं एसडीएम बैरसिया सुश्री अनुग्रह पी., तहसीलदार श्री एम.एल.अहिरवाल और निर्वाचन कार्य से जुड़े अन्य अधिकारी उनके भ्रमण के दौरान साथ थे। प्रेक्षक श्री कुमार ने ललरिया, सोनकच्छ, हर्राखेड़ा, हिनौतिया सड़क आदि ग्रामों के मतदान केन्द्रों का निरीक्षण कर की जा रही व्यवस्थाओं पर संतोष व्यक्त किया।

लोकसभा चुनाव का समय सुबह ७ से शाम ६ तक
लंबी बीप की आवाज के बिना यह न समझा जाए की वोट पड़ गया
रायपुर, २८ मार्च २०१४ लोकसभा का चुनाव विधानसभा के मुकाबले दो घंटे ज्यादा देर तक चलेगा। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार छत्तीसगढ़ में मतदान सुबह ७ बजे से शाम ६ बजे तक होगा। इस लोकसभा निर्वाचन में गत विधानसभा चुनावों के अनुभवों के बाद मतदान प्रक्रिया के संबंध में कुछ नए निर्देशों के अनुरुप कार्य किया जाएगा। आज कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी श्री ठाकुर रामसिंह ने जिला पंचायत के सीईओ श्री धनजंय देवांगन के साथ मतदान के कई प्रशिक्षण स्थलों का अवलोकन किया। जे. आर. दानी कन्या शाला कालीबाड़ी में आज पीठासीन अधिकारियों और मतदान अधिकारी क्रमांक-एक को दिए जा रहे प्रशिक्षण में मॉस्टर ट्रेनर्स और सेक्टर अधिकारी द्वारा पहले चरण प्रशिक्षण दिया गया। इसमें मतदान की प्रकिया के संबंध में जानकारी दी गई। प्रशिक्षण के अगले दौर में अधिकारियों को आयोग द्वारा नए निर्देशों से भी अवगत कराया जाएगा।

लोकसभा चुनाव-2014 लाइव वेबकास्टिंग के जरिए अब सभी देख सकेंगे
जयपुर, 28 मार्च। अतिरिक्त मु य निर्वाचन अधिकारी डॉ. रेखा गुप्ता ने कहा कि लोकसभा चुनाव में मतदान प्रक्रिया में और अधिक पारदर्शिता लाने तथा किसी भी अवांछित गतिविधि को रोकने के उद्देश्य से करवाई जा रही लाइव वेबकास्टिंग को अब पब्लिक डोमेन पर भी डाला जाएगा। इससे राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि एवं उनके अभिकर्ताओं के साथ ही आम आदमी भी संबंधित पोलिंग स्टेशन की गतिविधियों को देख सकेंगे और स्थानीय प्रशासन भी मतदान केन्द्र पर हो रही हर गतिविधि पर कड़ी निगरानी रख सकेगा। डॉ. गुप्ता शुक्रवार को शासन सचिवालय में वीडियो कॉफ्रेंस के जरिए लाइव वेबकास्टिंग के संबंध में जिलों के नोडल अधिकारियों से चर्चा कर रही थीं। उन्होंने राज्य के सभी नोडल अधिकारियों से कहा है कि वे लाइव वेबकास्टिंग प्रोजेक्ट को सफल बनाने के लिए समर्पण की भावना से काम करें। गत विधानसभा चुनाव में भी लाइव वेबकास्टिंग प्रोजेक्ट के अच्छे परिणाम हमारे सामने आए थे। उन्होंने कहा कि हमें उसी भावना के साथ एक बार फिर कार्य करते हुए लोकसभा चुनाव में भी इसे सफल बनाना है। उन्होंने कहा कि गत विधानसभा चुनाव के दौरान लाइव वेबकास्टिंग के लिए कुछ ही जिलों को चुना गया था किन्तु इस बार राज्य के 33 जिलों में से केवल करौली को छोड़कर शेष 32 जिलों के 1625 पोलिंग स्टेशनों पर लाइव वेबकास्टिंग कराया जाना सुनिश्चित किया गया है। 

SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment