सिंधिया के शिलान्यस को मुख्यमंत्री ने बताया झूठा

शिवपुरी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज अपने तरकस के सारे तीर गुना संसदीय क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी ज्योतिरादित्य सिंधिया पर हमला करने के लिए सुरक्षित रख छोड़े थे। इस कारण पहली बार उन्होंने और भाजपा प्रत्याशी जयभान सिंह पवैया ने श्री सिंधिया पर हमला करने में कोई कोताही नहीं बरती।

मुख्यमंत्री ने सिंधिया पर मेडीकल कॉलेज के नाम पर सबसे बड़ा झूठ बोलने तथा छल करने तक का आरोप लगाया। उन्हें शिलान्यास और लोकार्पण करने वाला नेता बताया। वहीं सिंधिया द्वारा काली पट्टी बांधे जाने पर उनकी जमकर खिल्ली उड़ाई तथा कहा कि वह जनहित की अपेक्षा नाटक और नौटंकी में अधिक भरोसा करते हैं। वहीं भाजपा प्रत्याशी पवैया ने साफ-साफ कहा कि वह गुलामी की मनोवृति के खिलाफ चुनाव लडऩे आए हैं। 

बकौल पवैया, महाराज और श्रीमंत जैसे शब्द सिंधिया के कवच बने हुए हैं और इन पर प्रहार कर ही वह जीत का वरण करेंगे। कार्यकर्ता स मेलन में मंच पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा पूर्व मंत्री केएल अग्रवाल, भाजपा जिलाध्यक्ष रणवीर सिंह रावत, देवेन्द्र जैन, माखनलाल राठौर, जितेन्द्र जैन, भानु रघुवंशी, अजय खेमरिया सहित अनेक भाजपा कार्यकर्ता और नेता उपस्थित थे।

मु यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस प्रत्याशी को निशाने पर लेते हुए कहा कि वह उद्योग मंत्री थे, लेकिन इसके बावजूद भी इस क्षेत्र में एक भी उद्योग नहीं लगा। वह लगातार तीन बार से चुनाव जीत रहे हैं, लेकिन एक भी बेरोजगार को रोजगार नहीं दिलाया। उन्हें शिलान्यास और लोकार्पण की राजनीति में महारथ हासिल है। इसी कारण वह केएल अग्रवाल और देशराज सिंह से लड़ चुके हैं। 

सुना है वह अब काली पट्टी लगाकर घूम रहे हैं। जबकि सच्चाई यह है कि पीडि़त किसानों के लिए उन्होंने अपनी केन्द्र सरकार से एक रूपया भी नहीं दिलवाया। मेडीकल कॉलेज की घोषणा एक झूठ से बढ़कर कुछ भी नहीं है। पहली बात तो महज 189 करोड़ में मेडीकल कॉलेज खुल नहीं सकता। मेडीकल कॉलेज खोलने के लिए प्रदेश सरकार से प्रस्ताव मांगा जाता है जबकि ऐसा कोई प्रस्ताव प्रदेश सरकार से नहीं मांगा गया। मेडीकल कॉलेज के लिए 70 प्रतिशत राशि केन्द्र से और 30 प्रतिशत राशि राज्य से ली जाती है, लेकिन हमसे ऐसी कोई राशि नहीं मांगी गई और न ही केन्द्र ने अपनी राशि में से एक पैसा भी नहीं दिया।

चुनाव के समय पर उन्हें मेडीकल कॉलेज की घोषणा करना ध्यान रहा। पिछले 10 सालों से वह कर क्या रहे थे? कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि सन् 71 में स्व. इंदिरा गांधी ने गरीबी हटाओं का नारा दिया और अब यही नारा उनके नाती राहुल गांधी दे रहे हैं। सवाल यह है कि इतने सालों में गरीबी क्यों नहीं हटी। हमने गरीबी हटाओ का नारा नहीं दिया, लेकिन गरीबों के जीवन को बदलने का काम अवश्य किया है। गरीबों को एक रूपये किलो गेहूं और एक रूपये किलो चावल दिया जा रहा है। 

ओला पीडि़त किसानों को बिना केन्द्र सरकार की सहायता से पूरा मुआवजा दिया जा रहा है। कांग्रेस ने रूपये का अवमूल्यन कर दिया है। उसने रूपये की कीमत घटाने का काम नहीं बल्कि हिंदुस्तान की इज्जत गिराने का काम किया है। कार्यकर्ता स मेलन में जयभान सिंह पवैया ने अपने आप को प्रवासी पक्षी बताने पर श्री सिंधिया को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में इटली की चिडिय़ा दिल्ली आकर चुग रही है और कांग्रेसी नेता उनके चरणों में बैठकर चापलूसी कर रहे हैं।

सी-डैक कर रहा है सोशल मीडिया की निगरानी

भोपाल : गुरूवार, मार्च २७, २०१४ भोपाल स्थित मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में सोशल मीडिया की निगरानी के लिये सी-डैक द्वारा २४ 3 ७ सोशल मीडिया निगरानी सेल बनाया गया है। यह सेल एप्लाईड एआई ग्रुप, पुणे द्वारा संचालित किया जा रहा है। सेल द्वारा अब तक हिन्दी के ३५ एवं अंग्रेजी के ३० वेब पोर्टल्स, राजनैतिक दलों एवं राजनेताओं के ५ वेब-पृष्ठ तथा २७ राजनैतिक दल एवं जन-प्रतिनिधियों के सोशल मीडिया (ञ्ज2द्बह्लह्लद्गह्म्) पृष्ठों का निरंतर परीक्षण किया जा रहा है। सेल ने अब तक २५ हजार ६६१ वेब-पृष्ठ का परीक्षण किया है।सोशल मीडिया निगरानी सेल द्वारा ऐसी प्रणाली विकसित की गई है, जिससे चुनाव आयोग द्वारा जारी आदर्श आचरण संहिता का उल्लंघन होने पर संबंधित के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जाती है। निगरानी सेल में उच्च-स्तरीय जानकारियों के संग्रहण, वर्गीकरण, विश्लेषण और निर्वाचन के लिए जरूरी प्रक्रियाओं पर आधारित जानकारी को विशेष इनपुट में परिवर्तित किया जा रहा है। निगरानी सेल ने वेब पोर्टल्स की जाँच में जो संदिग्ध खबरें पाई हैं उनमें अंग्रेजी में आदर्श आचरण संहिता संबंधी ६ खबरे, चुनाव संबंधित आम खबरे ५१, हिन्दी में आदर्श आचरण संहिता संबंधित २६ खबरे, चुनाव संबंधित २५ आम खबरे और राजनैतिक नेताओं और दलों द्वारा किये गये ट्वीट की संख्या ७५ है।

केन्द्रीय पर्यवेक्षक ने किया मीडिया सेंटर का अवलोकन

जयपुर, 27 मार्च। लोकसभा चुनाव 2014 में जयपुर (07) लोकसभा क्षेत्र के लिए नियुक्त केन्द्रीय पर्यवेक्षक श्रीमती डोमा शेरींग शेरपा ने गुरूवार को कलक्टे्रट स्थित जिला स्तरीय मीडिया एवं एमसीएमसी प्रकोष्ठ का दौरा कर प्रकोष्ठ की कार्यप्रणाली की जानकारी ली एवं पेड न्यूज की मॉनिटरिंग की प्रकियां का अवलोकन कर प्र्रकोष्ठ के कार्यों की सराहना की। श्रीमती डोमा शेरींग ने कलक्टे्रट में संचालित एमसीएमसी प्रकोष्ठ में 5 क प्यूटरों के माध्यम से पेड न्यूज की मॉनिटरिंग के लिए टे्रक किए जा रहे प्रमुख समाचार चैनलों एवं स्थानीय केबल नेटवर्क पर प्रसारित चैनलों की जानकारी ली। उन्होंने एमसीएमसी में अब तक रखे गए प्रकरणों के बारे में जानकारी लेते हुए प्रत्येक प्रकरण को एक विशिष्ट न बर प्रदान करने के लिए कहा। उन्होंने हर प्रकरण का इंद्राज कर एक रजिस्टर संधारित करने के भी निर्देश दिए। केन्द्रीय पर्यवेक्षक को एमसीएमसी की प्रभारी अधिकारी ज्योति चौहान, सहायक प्रभारी श्रीमती आशु चौधरी ने प्रति दिन समाचार पत्रों में पेड न्यूज की मॉनिटरिंग की प्रक्रिया के बारे में भी बताया। केन्द्रीय पर्यवेक्षक श्रीमती शेरपा से मीडिया सर्टिफिकेशन एवं मॉनिटरिंग कमेटी के सदस्य श्री बृज मोहन व्यास एवं श्री धर्मेश भारती ने भी मुलाकात की।
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment