राजनैतिक विरोधी मेरी उपलब्धियों को नहीं पचा पा रहे हैं: श्री सिंधिया

शिवपुरी। केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज मध्यदेशीय अग्रवाल धर्मशाला में आयोजित युवाओं के स मेलन में अपने राजनैतिक विरोधियों पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि वे क्षेत्र के विकास के लिए मेरे प्रयासों से लाई गई उपलब्धियों को पचा नहीं पा रहे और उन्हें जलन महसूस हो रही है।
जबकि विकास और प्रगति का लक्ष्य तो सभी का होना चाहिए। समझा जाता है कि कल भाजपा ने शिवपुरी में मेडीकल कॉलेज खोले जाने की उनकी घोषणा को फर्जी और बकवास करार दिया था। उसी का जवाब श्री सिंधिया ने युवा स मेलन में जोश भरे अंदाज में दिया। उन्होंने युवा शक्ति को देश का भविष्य निरूपित करते हुए कहा कि इसे ध्यान में रखते हुए युवाओं को अपने चाल-चरित्र और चेहरे पर खास ध्यान केन्द्रित करना चाहिए। स मेलन में युवक कांग्रेस के प्रदेश महासचिव ईरशाद पठान, एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव अमित शिवहरे, अरविंद धाकड़, अरविंद रावत, आकाश शर्मा, प्रताप गुर्जर, गौरव शर्मा सहित अनेक युवाओं ने अपने विचार व्यक्त किए।

श्री सिंधिया ने युवाओं से आव्हान किया कि वह अधिक से अधिक सं या में मतदाताओं को मतदान केन्द्र तक लाएं। मतदान प्रतिशत बढऩे से ही जीत का अंतर बढ़ेगा। स मेलन में श्री सिंधिया ने अपने स्व. पिता माधवराव सिंधिया को याद करते हुए कहा कि उन्होंने मुझे कम बोलना और अधिक सुनने की शिक्षा दी थी। दूसरी शिक्षा यह दी थी कि जो कहो उससे अधिक करके दिखाओ और इन्हीं बातों पर चलकर मैं 12 वर्षों से क्षेत्र के विकास और प्रगति के लिए कार्य कर रहा हूं। मेरे द्वारा लाई गई योजनाओं पर भले ही गति अवरोधक लगाए जाते हों, लेकिन मैं उनको अवश्य हटवाऊंगा और क्षेत्र को विकास और प्रगति के पथ पर अग्रसर करने में कोई कसर नहीं छोडूंगा।

भागीरथ प्रसाद ने अच्छा नहीं किया: श्री सिंधिया

स मेलन के बाद पत्रकारों ने उनसे पूछा कि डॉ. भागीरथ प्रसाद के अनुसार उन्होंने कांग्रेस इसलिए छोड़ी, क्योंकि उन्हें सिंधिया समर्थक चुनाव हरवा देते इस पर श्री सिंधिया का जवाब था कि उन्होंने डॉ. प्रसाद का वक्तव्य नहीं सुना। इसलिए वह इस पर कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं करेंगे, लेकिन टिकट फायनल होने के बाद जिस तरह से भागीरथ प्रसाद ने कांग्रेस छोड़ी वह तरीका ठीक नहीं था और मुझे बहुत बुरा लगा। उन्हें यदि पार्टी छोडऩी थी तो वह टिकट मिलने से पहले ही छोड़ देते।

ब्राह्मण समाज में भी पहुुंचे श्री सिंधिया

शहर के फिजीकल रोड़ स्थित ऋषि मैरिज गार्डन में ब्राह्मण समाज शिवपुरी की ओर से आयोजित कार्यक्रम में भी केन्द्रीय मंंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शिरकत की और अपने अतिथि उद्बोधन में ब्राह्मण समाज के आयोजन की सराहना करते हुए श्री सिंधिया ने कहा कि आज बुद्धि विकास के बल पर ब्राह्मण समाज आगे बढ़ा है जिसमें सामूहिक विवाह स मेलन और युवक-युवती परिचय स मेलन जैसे आयोजन बधाई के पात्र है जिनसे अन्य समाज भी प्रेरणा लेगा, ब्राह्मण समाज के सहयोग के लिए सदैव मंैं प्रयासरत रहूंगा और भगवान परशुराम के पदचिह्नों पर चलने वाले ब्राह़्मणों ने अपनी शक्ति का जो प्रदर्शन आज किया है निश्चित रूप से वह विकास व प्रगति के पथ पर चलने को तत्पर है। इस अवसर पर ब्राह्मण समाज द्वारा श्री सिंधिया को भगवान परशुरामस्वरूप स्मृति चिह्न के रूप में भाला भेंट कर स मान किया। कार्यक्रम में ब्राह्मण समाज की विभिन्न विभूतियों का भी मंच से शॉल-श्रीफल के साथ स मानत किया गया। जिसमें शिक्षा, चिकित्सा, पत्रकारिता, बुद्धजीवी, वकालात, न्यायाधीश, आईटी, क प्यूटर व खेल सहित अन्य क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य कर ब्राह्मण समाज का गौरव बढ़ाने वाल प्रतिभाओं को मंच से स मानित किया गया।

भारत – अमेरिका ऊर्जा संवाद

११ मार्च २०१४ भारत और अमरीका ऊर्जा क्षेत्र में और अधिक सहयोग बढ़ाने के लिए सहमत हो गए हैं। नई दिल्‍ली में आज भारत-अमेरिका ऊर्जा संवाद में दोनों देश वैज्ञानिक सहयोग, प्रौद्योगिकी नवीनीकरण के लिए अनुसंधान और विकास तथा पर्यावरण अनुकूल प्रौद्योगिकी तथा उत्‍पादों को बढ़ावा देने के लिए सहमत हो गए। योजना आयोग के उपाध्‍यक्ष डॉ. मोनटेक सिंह अहलूवालिया तथा अमरीकी ऊर्जा विभाग के सचिव डॉ. अर्नेस्‍ट मोनीज़ ने संवाद में भाग लेने के बाद नई दिल्‍ली में आज प्रेस के साथ बातचीत की। उन्‍होंने यह आशा जताई कि संवाद से दोनों देशों के बीच व्‍यवसाय-दर-व्‍यवसाय सहयोग बढ़ेगा। व्‍यापार तथा उचित विनियामक रूपरेखा से दोनों देशों की अर्थव्‍यवस्‍था तथा वहां के लोगों का सतत विकास होगा। ऊर्जा संवाद (कोयला, तेल और गैस, नई प्रौद्योगिकी और नवीकरणीय ऊर्जा, बिजली और ऊर्जा कार्यकुशलता एवं सतत विकास) से सम्‍बद्ध ६ में से ५ कार्यदलों ने पिछले पाँच दिनों के दौरान बैठकें की जिसमें विशेषज्ञ/अधिकारी शामिल हुए। अमेरिका-भारत संयुक्‍त स्‍वच्‍छ ऊर्जा अनुसंधान और विकास केन्‍द्र ने सौर ऊर्जा, उन्‍नत जैव ईंधन की प्रगति और पीएसीई-आर के तहत ऊर्जा कार्य कुशलता बनाये रखने से संबंधित मुद्दों को उठाया। सौर ऊर्जा, ऊर्जा कार्य कुशलता बनाये रखने तथा दूसरी पीढी जैव-ईंधन से संबंधित अनुसंधान और विकास परियोजनाओं पर उन्‍नत स्‍वच्‍छ ऊर्जा की साझेदारी पीएसीइ-अनुसंधान और विकास (पीएसीइ-आर) इस बारे में कार्य कर रहे हैं।
२००९ में भारत-अमेरिका ऊर्जा सुरक्षा और स्‍वच्‍छ ऊर्जा पर सहयोग बढ़ाने के लिए सहमत हुए थे। भारत और अमेरिका ने स्‍वच्‍छ ऊर्जा पहुंच (पीइएसीइ) तथा एयरकंडिशनिंग क्षेत्र के लिए मांग की साझेदारी के लिए दो अलग-अलग समझौता ज्ञापनों पर हस्‍ताक्षर भी किए। ऊर्जा पहुंच को बढ़ाने तथा कई प्राथमिकता प्राप्‍त गतिविधियों को संचालित करने के लिए सितंबर २०१३ में स्‍वच्‍छ ऊर्जा (पीइएसीइ) के माध्‍यम से ऊर्जा पहुंच को बढ़ाने पर समझौता ज्ञापन की शुरूआत की गई। डॉ. अहलुवालिया ने कहा कि अमरीकी ऊर्जा सचिव डॉ. अर्नेस्‍ट मोनीज़, सिविल न्‍यूक्‍लियर कार्यदल की बैठक का अवलोकन करने के लिए कल मुम्‍बई में होंगे। इससे इस क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने के कार्य में सहायता मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने नक्सल हमले की तीव्र निन्दा की : जवानों की शहादत पर गहरा दुःख व्यक्त किया
रायपुर, ११ मार्च २०१४ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज सुकमा और जगदलपुर (बस्तर) जिले के ग्राम तोंगपाल के पास टाकबाड़ा में नक्सलियों का मुकाबला करते हुए केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल और जिला पुलिस के अनेक जवानों की शहादत पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। डॉ. सिंह ने इस नक्सल वारदात की तीव्र निन्दा की है। उन्होंने शहीद जवानों के परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना और सहानुभूति प्रकट की है। डॉ. रमन सिंह ने इस वारदात के लिए नक्सलियों की कठोर शब्दों में भर्त्सना करते हुए कहा है कि यह हिंसा और अराजकता की राह पर चल रहे नक्सलियों की कायरतापूर्ण तथा शर्मनाक करतूत है। लोकतंत्र में आस्था रखने वाले सभी दलों, संगठनों और नागरिकों को वैचारिक मतभेदों से ऊपर उठकर एक स्वर से इस घटना की निन्दा करनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस हिंसक वारदात से नक्सलियों का विकास विरोधी घिनौना और अमानवीय चेहरा एक बार फिर उजागर हो गया है। नक्सलियों ने पुलिस बल के उन बहादुर जवानों पर कायरना हमला किया जो सड़क निर्माण कार्य में लगे श्रमिकों को सुरक्षा देने के लिए रोड ओपनिंग की ड्यूटी कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे बहादुर जवानों ने बस्तर में जनता को शांति और सुरक्षा का वातावरण देने के लिए कर्तव्य का पालन करते हुए अपनी शहादत दी है। उनकी यह शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। नक्सल हिंसा के खिलाफ छत्तीसगढ़ सरकार जनता के सहयोग से अपनी लड़ाई जारी रखेगी। डॉ. रमन सिंह ने घायल जवानों के जल्द स्वास्थ्य लाभ की कामना की है और अधिकारियों को उनका बेहतर से बेहतर इलाज करावाने के निर्देश दिए हैं। घटना की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री ने राज्य पुलिस को इलाके में सभी सतर्कतामूलक कदम उठाने और अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए युद्ध स्तर पर सघन अभियान चलाने के भी निर्देश दिए हैं।

चुनाव क्षेत्र की हर गतिविधि पर नजर गड़ाए हंै उडऩदस्ते और स्थैतिक निगरानी दल
जयपुर, 11 मार्च। लोकसभा चुनाव की घोषणा होते ही राज्य भर में उडऩदस्तों और स्थैतिक निगरानी दलों ने अपना काम करना शुरू कर दिया है। ये निगरानी दल चुनावों की घोषणा की तिथि से मतदान समाप्ति तक अपने-अपने क्षेत्र में काम करेंगे।
मु य निर्वाचन अधिकारी श्री अशोक जैन का मानना है कि इन दलों की मौजूदगी से प्रदेश में स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव स पन्न कराने में काफी मदद मिलेगी। श्री जैन ने बताया कि इन उडऩदस्तों का काम आदर्श आचार संहिता संंबंधी शिकायतों पर कार्यवाही करना, मतदाताओं को डराने-धमकाने की शिकायतों पर त्वरित कार्यवाही करना, असामाजिक तत्वों की गतिविधियोंं एवं शराब, हथियार आदि के आवागमन संबंधी शिकायतों पर तुरंत कार्यवाही करना और निर्वाचन व्यय से संबंधित राजनैतिक दलों एवं अ यर्थियों के विरूद्घ समस्त शिकायतों पर कार्यवाही करना है।न्होंने बताया कि इन उडऩदस्तों का काम क्षेत्र में होने वाली जनसभा, रैली की वीडियो निगरानी दलों के साथ वीडियोग्राफी करवाना और अवैध रूप से नकद राशि एवं मतदाताओं में बांटने वाले उपहार के विरूद्घ आवश्यक कार्यवाही करना है। श्री जैन ने हाल ही सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे उडऩदस्तों के बारे में ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार करें ताकि मतदाताओं में चुनाव के प्रति विश्वास बना रहे। मु य निर्वाचन अधिकारी का कहना है कि उडऩदस्तों की भांति स्थैतिक निगरानी दल भी क्षेत्र में निगरानी करते रहेंगे। निगरानी दल राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अन्य मार्ग, व्यय संवेदनशील पॉकेट्स में चैक पोस्ट कायम करेेंगे एवं अवैध रूप से नकद राशि एवं उपहार में दी जाने वाली वस्तुएं, शराब, हथियार तथा असामाजिक तत्वों के आवागमन पर निगरानी रखेंगे। उन्होंने कहा कि चैकिंग के दौरान 50 हजार से ज्यादा की नकद राशि किसी ऐसे वाहन में पाई जाती है, जिसमें उ मीदवार, उसके अभिकर्ता या राजनीतिक दल के कार्यकर्ता बैठे हों अथवा ऐसे वाहन में निर्वाचन सामग्री जैसे पोस्टर, बैनर आदि रखें हों उन्हें जब्त किया जायेगा। इसके अलावा 10 हजार से अधिक मूल्य की शराब, ड्रग्स, हथियार व उपहार सामग्री मतदाताओं के वितरण के लिए ले जाई जा रही हो, तो ऐसी नकद राशि अथवा वस्तुओं को प्रभारी पुलिस अधिकारी के जरिए जब्त किया जाएगा और इस संबंध में 24 घंटे के अंदर इस्तगासा और एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी।

SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment