सरकार सर्वे का नाटक बन्द कर सैटेलाइट सर्वे के आधार पर मुआवजा दे-भाई वीरेन्द्र

म.प्र. शिवपुरी। लेाकतांत्रिक समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष संजीव पुरोहित ने बताया कि भोपाल में हुई पार्टी की बैठक में प्रदेश महासचिव भाई वीरेन्द्र थे औलावृष्टि और बेमौसम वर्षात से हुई। प्रदेश भर में तबाही से आहत हो कहा है, कि सरकार मेन्यूअल सर्वे का नाटक बन्द कर सैटेलाइट सर्वे के आधार पर प्रभावित किसानों को फोरी तौर पर प्रदेश में मुआवजा दें।
भाई वीरेन्द्र ने प्रदेश सरकार को आगाह करते हुये कहां है कि अगर राहत और मुआवजा वितरण का कार्य प्रदेश में जल्द ही शुरु नहीं किया गया तो किसान काफी विपदा में पड़ जायेंगें। उन्होंने कहां कि लेाकसभा चुनाव सर पर है और आचार संहिता कभी भी लग सकती है अगर जल्द से जल्द राहत वितरण का कार्य शुरु नहीं हुआ तो बैचारे हमारे किसान राहत के नाम विलखते रह जायेगें और सरकार के सारे सब्ज बाग सोयाबीन की फसल की बर्बादी की तरह जिनका वादा म.प्र. सरकार ने विधानसभा चुनाव से पूर्व किया था तथा किसानों को मुआवजे के नाम आज तक छद्दमी तक नहीं बटी। उसी तरह मुगालतें में रह जायेगें। उन्होंने राज्य सरकार से मांग की है,कि जिन किसानों की फसले 50 फीसदी से अधिक बर्बाद हुई है उन्हें 10 हजार रुपया प्रति वीघा के हिसाब से तत्काल राहत मुहैया कराई जाये साथ ही फसल के लिये किसानों द्वारा लिये गये रिण को मय ब्याज के माफ किया जाये, एवं अन्य रिण बसूलियाँ 1 वर्ष के लिये स्थिगित की जाये। जहां पर फसल हानि के साथ किसी भी किसान के जीवन की हानि हुई है,उन किसानो के परिवारों 10-10 लाख की आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाये। उन्होंने लेाकतांत्रिक समाजवादी पार्टी की भोपाल मे हुई बैठक का हवाला देते हुये कहां कि अगर हमारी यह मांगे सरकार द्वारा नहीं मानी गई तो 7 और 8 मार्च को लेाकतांत्रिक समाजवादी पार्टी अपनी पूर्व मांगों के साथ धरना प्रदर्शन करेगी।

सर्वे में कोई भी ओला पीडित छूटे न - संभागायुक्त

सीहोर 01 मार्च,2014 भोपाल संभागायुक्त श्री एस.बी.सिंह ने आज सीहोर जिले की नसरूल्लागंज एवं रेहटी तहसील के ग्राम मकोडिया, मोगरा, बडनगर, रिछाडिया कदीम, लाडकुई तथा हाथीघाट में ओलावृष्टि से प्रभावित फसलों का खेत में पहुंचकर निरीक्षण किया तथा पीडित कृषकों से चर्चा कर उन्हें ढाढस बंधाते हुए मैदानी अमले को आवश्यक निर्देश दिए और कहा कि सर्वे में कोई भी ओला पीडित छूटे न इस बात का विशेष ध्यान रखें। आयुक्त श्री सिंह ग्राम पंचायत भवन बडनगर रिछाडिया कदीम तथा लाडकुई भी पहुंचे और वहां शासन द्वारा संचालित जन कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की विस्तार से जानकारी प्राप्त कर आवश्यक निर्देश प्रदान किए। लाडकुई पंचायत भवन में महिला एवं बाल विकास विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त दल द्वारा शिशुओं का स्वास्थ्य परीक्षण होता देख प्रसन्नता व्यक्त की। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री कवीन्द्र कियावत, सहायक कलेक्टर श्री नीरज सिंह सहित राजस्व विभाग के मैदानी अधिकारी उपस्थित थे।

अब ई-न्यूज पेपर को भी करवाना होगा राजनैतिक विज्ञापनों का प्रमाणीकरण

मंदसौर 1 मार्च, 2014/भारत निर्वाचन आयोग ने पेड-न्यूज और सोशल मीडिया के राजनैतिक विज्ञापनों के प्रमाणीकरण के संबंध में स्थिति स्पष्ट की है। आयोग द्वारा हाल में जारी निर्देश के अनुसार राजनैतिक विज्ञापनों के प्रमाणीकरण के लिये संसदीय क्षेत्र स्तर पर एमसीएमसी (मीडिया सर्टिफिकेशन एण्ड मॉनीटरिंग कमेटी) गठित की जायेगी। इस समिति में संसदीय क्षेत्र का रिटर्निंग ऑफीसर तथा असिस्टेंट रिटर्निंग ऑफीसर सदस्य होंगे। ए.आर.ओ. एसडीएम से कम स्तर का नहीं होगा जिला निर्वाचन अधिकारी श्री शशांक मिश्र ने बताया कि चुनाव आयोग द्वारा इस संबंध में स्पष्ट किया गया है कि आर.ओ. संसदीय क्षेत्र में जितने जिले आते हैं, उनसे समिति में सदस्य सहयोजित कर सकेगा। इसमें न सिर्फ ज्यादा से ज्यादा अभिमत प्राप्त हो सकेगा, बल्कि सभी जिलों का प्रतिनिधित्व भी हो सकेगा।आयोग ने सोशल मीडिया में राजनैतिक विज्ञापनों के मामले में भी स्थिति स्पष्ट की है। अखबारों के ई-न्यूज पेपर में दिये जाने वाले राजनैतिक विज्ञापनों का भी अब प्रमाणीकरण आवश्यक होगा। आयोग ने पेड-न्यूज के प्रकरणों की छानबीन के लिये जिला-स्तर पर एमसीएमसी की संरचना को स्पष्ट करते हुए बताया कि जिला-स्तर पर समिति में जिला निर्वाचन पदाधिकारी (डीईओ), ए.आर.ओ. (एसडीएम से कम नहीं), केन्द्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय का अधिकारी (यदि जिले में हो), स्वतंत्र नागरिक/पत्रकार जो कि प्रेस कौंसिल ऑफ इण्डिया/डीईओ के नामांकित व्यक्ति द्वारा अनुशंसित हो (पीसीआई द्वारा नामांकित यदि न हो तो), सदस्य तथा जिला जनसंपर्क अधिकारी/जिला सूचना अधिकारी अथवा समकक्ष अधिकारी समिति का सदस्य सचिव होगा।

कसान के दुख दर्द में सरकार हमेषा उनके साथ है- राजस्व मंत्री

रायसेन, 01 मार्च 2014 प्रदेष के मुखिया श्री षिवराज सिंह चौहान किसान के बेटे हैं और वे किसानों के दर्द को भलीं भांति समझते हैं। यह बात राजस्व मंत्री श्री रामपाल सिंह ने ओला प्रभावित क्षेत्रों के दौरे के समय किसानों से चर्चा करते हुए कही। उन्होंने पिछले सात साल से किसान किसी न किसी प्राकृतिक आपदा से जूझ रहे हैं। गत रात्रि राजस्व मंत्री श्री रामपाल सिंह ने बेगमगंज तहसील के अनेक गांव का भ्रमण कर वहां किसानों से चर्चा की और फसलों के नुकसान के बारे में जानकारी ली। उन्होंने किसानों से कहा कि मुसीबत की इस घड़ी में प्रदेष सरकार उनकी मदद के लिए हमेषा खड़ी है। उन्होंने किसानों से कहा कि पचास या पचास प्रतिषत से अधिक ओलावृष्टि से नुकसान का सौ फीसदी मानकर मुआवजा दिया जाएगा। उन्होंने किसानों से कहा कि आगामी फसल आने तक सरकार पचास प्रतिषत से अधिक क्षति वाले किसानों को एक रूपए किलो गेहूॅं और चावल देगी। इसके अलावा सरकार कई तरह से किसानों की मदद करेगी। उन्होंने किसानों से यह भी कहा कि मुआवजा केवल फसलों का ही नहीं बल्कि पषुधन, मकान आदि स पत्तियों को जो नुकसान हुआ है, उसका भी सर्वे कर मुआवजा दिया जाएगा।

SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment