शराबियों को शिव सरकार की सौगात,देशी पर मिलेगी,अंग्रेजी

व्ही.एस.भुल्ले/ म.प्र. में मौजूद लगभग 2737 देशी तथा 937 के लगभग विदेशी फुटकर शराब दुकानों के बावजूद अब देशी शराब की ऐसी फुटकर दुकाने जहां की आबादी 2011 की जनगणना अनुसार 5000 से अधिक है और जो 10 किलो मीटर के दायरे मेें न हो ऐसी देशी फुटकर शराब दुकानों से लेकर पीने वाले अब अंग्रेजी शराब का लुप्त देशी शराब की दुकान से ही ले सकेगें।
क्योकि म.प्र. में के मु य सचिव की दलील है कि प्रदेश में अवैध शराब की बिक्री हो रही है। इससे राज्य सरकार को राजस्व का नुकशान हो रहा है देशाी पर विदेशी शराब बेचने की छूट से जहां अवैध शराब बिक्री पर रोक लगेगी वहीं सरकार का राजस्व भी बड़ेगा। भले ही म.प्र. कि शिव सरकार के मुखिया स्वयं यह कह चुके हो,कि म.प्र. में अब कोई नयी शराब की दुकान नहीं खुलेगी। अब इसे शिव सरकार का शराबियों को श्राफ कहे या नव वर्ष का उपहार ये तो पीने वाले ही जाने मगर इतना तो तय है,कि शराब उत्पादकों की पोह बारह अवश्य हो गई।

जिन नये 250 स्थानों पर देशी के साथ विदेशी शराब बेचने की तैयारी है वहां अब खुलकर लेागों को विदेशी शराब और बीयर वैधानिक रुप से उपलब्ध होगी। ठेकेदारों का हलक इसीलिये सूखा है,कि उनकी हड्डी पर शराब उत्पादकों की नजर है और उत्पादकों और सरकार की बल्ले बल्ले इसीलिये है,कि सरकार को थोक बन्द राजस्व और विदेशी शराब उत्पादको का बाजार बढऩे वाला है।

यूं तो म.प्र. के शराब ठेकेदार आबकारी की हर नयी पोल्सी में ठगे जाते रहे है और शराब उत्पादक लाम बंद हो लाभ कमाते रहे है मगर इस वर्ष शराब ठेकेदारों की कमर टूटने से कोई नहीं बचा सकता। कारण साफ है,हर वर्ष शराब दुकानों की लायसन्स फीस में 20 प्रतिशत की बढोत्तरी और उस पर से बेट टेक्स अलग मगर शराब का धंधा ही ऐसा है,जिसमें नुकसान तो दिखता है,मगर होता नहीं। क्योकि ठेकेदार भी शराब की कीमत निर्धारित न होने से बड़ी हुई लायसन्स फीस और खर्चे जोड़कर कीमत बढ़ा देते है। क्या इस बार भी ठेकेदार कामयाब हो पायेगें यह यक्ष प्रश्न आज भी लेागों के सामने है।

मगर राम-नाम की दुहाई देने वाली और पण्डित दीनदयाल जी के सपनो का म.प्र. बनाने वाली पार्टी की सरकार में आम जन से ऐसा छल कपट कि म.प्र. में नई दुकाने भी न खुले और शराब की खपत भी बढ़ जाये तो ऐसी पार्टी की सरकार के मंत्री और मु यमंत्री धन्यवाद और नीति निर्माता साधू वाद के पात्र है जिनकी सरकार भले ही प्रदेश वासियों को शुद्ध पेयजल मुहैया कराने में असफल रही हो,मगर प्रदेश में शराब की नदिया बहाने आतुर लगती है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की विभागों के १०० दिन की कार्य-योजनाओं की समीक्षा

भोपाल ,मुख्यमंत्री खेत सड़क योजना में हर ग्राम पंचायत में एक सड़क से खेत समूहों को जोड़ा जायेगा। अगले सौ दिन में १० हजार किमी सड़कों के निर्माण का काम शुरू होगा। यह जानकारी आज यहाँ मंत्रालय में ग्रामीण विकास विभाग की १०० दिवसीय कार्ययोजना की समीक्षा में दी गई। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कार्ययोजना पर चर्चा में कहा कि खेतों को सड़कों से जोड़ना एक क्रांतिकारी कदम होगा। इससे न सिर्फ किसानों को खेतों में आने-जाने और फसल ले जाने में सुविधा होगी बल्कि ग्रामीण अर्थ-व्यवस्था में भी तेजी से बदलाव आयेगा।गाँवों में अनाज भण्डारण क्षमता बढ़ाने के लिये १०० दिन में १०,८२० गोदाम बनाये जायेंगे। महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना में १०० दिन में जरूरतमंद लोगों तक १२०० करोड़ रूपये पहुँचेंगे। जिलों में मनरेगा में विभिन्न कामों के लिये ९०० करोड़ रूपये उपलब्ध है।
पंचायत विभाग द्वारा अगले सौ दिन में ४४५ हाट बाजार का निर्माण पूरा किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने निर्माण कार्य की गति बढ़ाने के निर्देश दिये। विशेष पिछड़ा क्षेत्र विकास अनुदान कोष के अंतर्गत ४००० काम पूरे होंगे। कपिलधारा उप योजना में मार्च २०१४ तक ७१ हजार ८०० कुँए बनाये जायेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खुले में शौच जाने की प्रथा बंद करने के लिये शौचालय निर्माण के काम में तेजी लाने के निर्देश देते हुए कहा कि इसे सर्वोच्च प्राथमिकता दें। बैठक में बताया गया कि अगले सौ दिन में प्रत्येक जिले में कम से कम एक नदी को नया जीवन देने की शुरूआत होगी। सामाजिक न्याय विभाग की कार्ययोजना की समीक्षा में बताया गया कि जरूरतमंद परिवारों को सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लाभ देने के लिये समग्र स्मार्ट कार्ड सभी पात्र हितग्राहियों को जारी किया जायेगा।
सहकारिता विभाग की समीक्षा में बताया गया कि बीज सहकारी समितियों के माध्यम से बीज उत्पादन करने में मध्यप्रदेश अन्य राज्य से आगे हैं। अगले १०० दिन में ५० बीज सहकारी समिति को क्रियाशील बनाया जायेगा। भण्डारण क्षमता बढ़ाने के उद्देश्य से १२ स्थान पर १००० मीट्रिक टन क्षमता के गोदाम बनाये जायेंगे। किसानों को २००० करोड़ रूपये के सहकारिता ऋण उपलब्ध करवाये जायेंगे। जिला सहकारी बैंकों की शाखाओं में किसान परामर्श केन्द्र बनाये जायेंगे। करीब ४५०० प्राथमिक सहकारी समितियों का कम्प्यूटरीकरण किया जायेगा। इनमें सामान्य सुविधा केन्द्रों की स्थापना होगी। बैठक में ग्रामीण विकास, पंचायत एवं सहकारिता मंत्री श्री गोपाल भार्गव, मुख्य सचिव श्री अन्टोनी डि सा एवं संबंधित विभाग के प्रमुख सचिव उपस्थित थे।

मु यमंत्री ने की जनसुनवाई

जयपुर, 7 जनवरी। मु यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने मंगलवार को यहां सिविल लाइन्स स्थित राजकीय आवास पर प्रदेश के विभिन्न जिलों से आये लोगों के अभाव अभियोग सुने तथा अधिकारियों को उचित कार्यवाही करने के निर्देश दिए। श्रीमती राजे को विभिन्न प्रतिनिधिमण्डलों, जनप्रतिनिधियों एवं संगठनों के पदाधिकारियों ने पुष्पगुच्छ भेंट कर विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत तथा नववर्ष की हार्दिक बधाई दी।
मु यमंत्री आमजन से आत्मीयता के साथ मिली। अनेक विधायकों ने भी उनसे शिष्टाचार भेंट की। रतनगढ़ (चूरू) के विधायक श्री राजकुमार रिणवां, पाली के विधायक श्री ज्ञानचन्द पारख, पोकरण के विधायक श्री शैतानसिंह, किशनगढ़-अजमेर के श्री भागीरथ चौधरी, जैसलमेर के विधायक श्री छोटूसिंह भाटी, गुढामालानी के विधायक श्री लादूराम विश्नोई आदि ने मु यमंत्री से क्षेत्रीय समस्याओं पर चर्चा की। आर्च इंस्टीट्यूट की निदेशक श्रीमती अर्चना सुराणा ने मु यमंत्री को साहित्य भेंट कर उन्हें शानदार जीत एवं नववर्ष की बधाई दी। श्रीमती राजे को हनुमानगढ़ एवं गंगानगर जिले से आए भारतीय किसान संघ के प्रतिनिधिमंडल ने गुरूद्वारा बुड्ढा जोहड का प्रसाद एवं सिरोपा भेंट किया। किसान संघ के प्रतिनिधिमंडल में हनुमानगढ़ जिलाध्यक्ष श्री प्रेम बेनीवाल तथा गंगानगर जिला उपाध्यक्ष श्री जालंधर सिंह तूट सहित अन्य किसान स िमलित थे।
मु यमंत्री ने जोधपुर में 22 से 31 जनवरी तक आयोजित किए जाने वाले पश्चिमी राजस्थान उद्योग हस्तशिल्प उत्सव-2014 के बैनर का विमोचन किया। उत्सव के संयोजक श्री मेघराज लोहिया, जोधपुर इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री आशाराम धूत तथा समन्वय समिति के सदस्य श्री महेन्द्र पित्ती ने उन्हें आयोजन की जानकारी दी।

मुख्यमंत्री के निर्देशों पर अमल : छत्तीसगढ़ में रिश्वतखोरी के खिलाफ सतर्कता अभियान शुरू
रायपुर, ०६ जनवरी २०१४ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के निर्देश पर राज्य सरकार के सभी विभागों में रिश्वतखोरी के खिलाफ सतर्कता मूलक अभियान शुरू हो गया है। इसी कडी़ में नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग ने आम जनता से अपील की है कि यदि नगरीय निकायों से संबंधित किसी भी कार्य के एवज में कोई भी अधिकारी या कर्मचारी रिश्वत मांगता हो तो ऐसे व्यक्ति के बारे में टेलीफोन नम्बर ०७७१-४०५३७३९ और ०७७१-२२२२४१० में तत्काल सूचित किया जाए। ये टेलीफोन नम्बर राजधानी रायपुर के आर.डी.ए. बिल्डिंग, बजरंग कॉम्पलेक्स स्थित संचालनालय नगरीय प्रशासन और विकास के संचालक के हैं। इसके अलावा नगर निगम क्षेत्रों में बिजली और सफाई की समस्या के निराकरण के लिए स्थापित टोल-फ्री नम्बर ११०० में भी शिकायत की जा सकती है। इन शिकायतों के आधार पर संबंधितों के खिलाफ त्वरित जांच करके दोषी पाए जाने पर कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने पिछले महीने की २६ तारीख को यहां मंत्रालय में आयोजित नगरीय प्रशासन विभाग की बैठक में विभागीय अधिकारियों को इस आशय के निर्देश दिए थे। इस बीच राज्य सरकार ने नगरीय कबीरधाम जिले के पण्डरिया नगर पंचायत के प्रभारी श्री नारायण प्रसाद खुटले (मूल पद सहायक वर्ग-२) को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। उन्हें कल एक शिक्षा कर्मी वर्ग-२ से एक लाख रूपए की रिश्वत लेते हुए भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो द्वारा रंगे हाथों पकड़ा गया था। इसकी सूचना मिलते ही नगरीय प्रशासन एवं विकास संचालनालय रायपुर द्वारा उनके निलंबन का आदेश जारी कर दिया गया।

कुमारी शैलजा द्वारा डॉ अंबेडकर राष्‍ट्रीय मैरिट पुरस्‍कारों का वितरण

नई दिल्ली। सामाजिक न्‍याय एवं अधिकारिता मंत्री कुमारी शैलजा ने राज्‍य केंद्रीय शिक्षा बोर्डों परिषदों द्वारा संचालित माध्‍यमिक एवं सीनियर सेकंडरी स्‍कूल परीक्षा २०१३ में उत्‍तीर्ण हुए अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के मेधावी छात्रों को डॉ अंबेडकर राष्‍ट्रीय मैरिट पुरस्‍कार प्रदान किए। पुरस्‍कार विजेताओं को बधाई देते हुए मंत्री ने छात्रों के प्रयासों को सराहा और उनके उज्‍जवल भविष्‍य की कामना की। मंत्री ने बच्‍चों की प्रगति में उनके माता पिता की भी प्रशंसा की।

मंत्री ने बताया कि तेरह बोर्डों से प्राप्‍त जानकारी के अनुसार दसवीं कक्षा तथा १७ बोर्डों की बारहवीं कक्षा में वर्ष २०१३ में ५१७ मेधावी छात्र इस पुरस्‍कार के लिए पात्र पाए गए थे।

मंत्री, कुमारी शैलजा ने कहा मुझे यह बताते हुए अत्‍यधिक प्रसन्‍नता है कि अधिकतम अंक पाने वाले २६ छात्रों में १८ लडकियां हैं। इसी प्रकार बारहवीं कक्षा के अधिकतम अंक पाने वाले ७१ छात्रों में ४२ लडकियां है। बाबा साहब डॉ बी आर अंबेडकर को उधृत करते हुए कि समाज की प्रगति का पैमाना महिलाओं द्वारा की गई प्रगति के स्‍तर से नापता हूं, मंत्री महोदया ने कहा कि कहा ऐसे मेधावी छात्रों के प्रयासों के फलस्‍वरूप डॉ बी आर अंबेडकर का सपना साकार हुआ है।


SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment