अहंकारियों को, आपका सबक, सहीं लेाकतंत्र की शुरुआत, शुक्रिया केजरीवाल

व्ही.एस.भुल्ले। विगत 65 वर्षो से जिस लोकतंत्र के लिये आम देश वासी कलफ रहा था उसकी शुरुआत दिल्ली से देख आज खुशी हो रही। केजरीबाल ही नहीं,केजरीवाल जैसे हजारों दिल्ली वासियों ने दिल्ली की लाखों जनता के नेतृत्च में जनता द्वारा जनता के लिये चुनी हुई जनता की आम आदमी सरकार को शपथ लेते, देश भर ने भी देखा,शुक्रिया दिल्ली वासियों,शुक्रिया केजरीवाल।

यह आम आदमी के सत्ता तक पहुंचने और अपने तरीके से समस्याओं को सुलझाने तथा राजनैतिक सुधार की शुरुआत भर है। जिसकी शुरुआत देश के सबसे बड़े दलो और सत्ता में चूर कॉग्रेस को करना चाहिए थी। जिस राह पर आज दिल्ली का आम आदमी है,उस राह पर भाजपा जैसे अनुशासित संगठन को होना  चाहिए था। मगर सत्ता की कुर्सी पर बैठ आसमान को देखने तथा संसद में बैठ जबानी जमा खर्च करने वालेा को नुराकुश्ती से फुरसत कहां थी। 

यह देश की जनता का दुर्भाग्य ही है, कि वह जब भी मंहगाई,भ्रष्टाचार और ही देश में अपने अस मान से आहत हो,सेवा के लिये जिसको भी चुनती वहीं सत्ता मद में चूर अहंकार में डूब आम जनता के सामने राजाओं के लिवाज में आ जाता था। जनता ठगी सी रह जाती कोई विधानसभा तो कोई संसद तो कोई गठबंधन के नाम बिक जनता को मुंह चिड़ाता नजर आता था और जनता का हम दर्द होने का सिर्फ स्वांग रचा जाता था।

जनता लूटती ,पिटती है अपने हकों पर मातम करती है और सत्ता के ये सेवक मौज मस्ती और व्ही.वी,आई.पी बने हमारा ही धन हमें टुकड़ों की भांति बांट बाहवाहियाँ बटोरते रहते है।

सच तो यह है कि इन सत्तासीनों नें देश की 80 फीसदी आवाम को खाने ,कमाने ,सोने तक सीमित कर दिया। मगर महान है, मेरे देश की आवाम की उसने पेट पर पत्थर बांध दिल्ली में सबक सिखा साबित कर दिया कि हम आप जैसे स्वार्थियों दलो से मायूस है मगर मजबूर नहीं।

बड़े ही शर्म की बात हैै, कांग्रेस जैसे महान संगठन को, बेहतर होता आजादी के बाद महात्मा गांधी जी की इच्छा अनुसार इसे समाप्त कर दिया जाता तो उस महान कांग्रेस को आज यह मुंह नहीं देखना पढ़ता जिसका नेतृत्व कभी नेहरु,शास्त्री,इन्दिरा,राजीव ही नहीं सुभाष बाबू और महात्मा गांधी जैसी महान हस्तियों ने किया और वर्तमान में सत्ता को त्याग उसे जहर समझने वाली एक सांस्कारिक भली महिला सोनिया गांधी कर रही है। जिसे दिशा देने आज भी गांधी परिवार का ही,एक युवा तुर्क अपनी समझ अनुसार छट-पटा रहा है। मगर अंधे,बेहरे,अंहकारियों,सत्ता लोलुपों,स्वार्थियों से घिरी कांग्रेस में देश केे लाखों युवा,शुभचिन्तक,बुद्धि जीवियों और उस युवा तुर्क की आवाज नक्कार खाने में नगाड़े की तरह है। कारण साफ है कि कांग्रेस में पैठ जमा चुके, कुछ लेाग अपने निहित स्वार्थो के लिये कांंग्रेस की लुटिया डुबों कांग्रेस पर अधिपत्य चाहते है, तो कुछ लेाग कांग्रेस में ही रह यश मेन की भूमिका में रह सत्ता में रह सत्ता की मलाई झपकते रहना चाहते है।

बहरहॉल केजरीवाल ने तो भारतीय लोकतंत्र में दलों को आगाह करते हुये यह साफ कर दिया है कि कहीं हम भी अहंकारी,घमण्डी न हो जाये इस बात का हमें ध्यान रखना होगा नहीं तो कहीं हमारा घमण्ड तोडऩे के लिये फिर किसी नई पार्टी को जन्म न लेना पड़े।

हो सकता है,कि शपथ के बक्त केजरीवाल की ये बात भी कांग्रेस दल के कुछ अंहकारियों को आम लगे और भाजपा को इसमें अपना फायदा दिखे। मगर इतना साफ है,कि वर्तमान में देश की जनता जो कि लेाकतंत्र में राजा की भूमिका में है वह फिलहॉल मोशन पर है और जागी हुई है। कौन दल टी.वी. अखबार वालो के बीच या बड़े-बड़े मंच से क्या-क्या कह रहा है,मौजूद सरकारे सेवा के नाम क्या-क्या कर रही है, जनता को सब पता है।
बेहतर हो कि समय रहते देश के राजनैतिक दल और मौजूद सरकारें स्वयंभू मालिक,राजा का चोला फेंक अंहकार को दफन कर दें,नहीं तो वो दिन दूर नहीं,जब इन दल और सरकारों को सत्ता के नाम कफन भी नसीब न हो तो कोई अतिसंयोक्ति न होगी, क्योकि 2014 लेाकसभा का चुनाव सर पर है और जनता आज भी हैरान-परेशान।

राज्यपाल ने रणथ भौर नेशनल पार्क में देखा बाघ टी-24

जयपुर, 28 दिस बर। राज्यपाल श्रीमती मागे्र्रट आल्वा ने शनिवार को भी रणथ भौर नेशनल पार्क का सुबह एवं शाम की दोनों पारियों में भ्रमण कर प्राकृतिक छटा एवं वन्यजीवों की अटखेलियों को निहारा। दोपहर बाद की पारी में जॉन न बर दो में टी- 24 बाघ को सांभर का शिकार खाते हुए देख राज्यपाल रोमांचित हो गई।
                             

कलेक्टर ने नांदगांव में लगाई चौपाल

महासमुन्द, २९ दिसंबर २०१३ मतदाता सूची के पुनरीक्षण कार्य के लिए आज रविवार को जिले में विशेष ग्राम सभाओं का आयोजन किया गया। एक जनवरी २०१४ की स्थिति में मतदाता सूची का पुनरीक्षण कार्य किया जा रहा है। कलेक्टर श्रीमती आर.शंगीता ने आज जनपद पंचायत महासमुंद के अंतर्गत नांदगांव पहुंचकर पुनरीक्षण कार्य का अवलोकन किया और विशेष ग्राम सभा में शामिल हुई। ग्रामीणों से आत्मीय बातचीत करते हुए उन्होंने ग्रामीणों से उचित मूल्य की दुकान से मिलने वाली सामग्री के संबंध में पूछताछ की। गांव निःशक्त युवक लेखराम पटेल ने निःशक्त पेंशन योजना का लाभ दिलाए जाने का अनुरोध किया। इस संबंध में कलेक्टर ने पंचायत सचिव से पूछताछ की उन्होंने बताया कि पेंशन प्रकरण तैयार कर स्वीकृति के लिए जनपद पंचायत को भेजा गया है। इस अवसर पर एस.डी.एम. श्री जे.आर. चौरसिया, स्थानीय सरपंच श्रीमती केशरीबाई गेंड्रे सहित ग्रामवासी उपस्थित थे।

ग्राम सभा में ग्रामीणों ने कलेक्टर के समक्ष कुछ व्यक्तियों द्वारा शासकीय भूमि का अतिक्रमण किए जाने की शिकायत की। इस कारण यहां हाई स्कूल भवन निर्माण एवं धान खरीदी के लिए चबूतरा निर्माण नहीं हो पा रहा है। इस संबंध में कलेक्टर ने पटवारी एवं राजस्व निरीक्षक द्वारा जमीन की नाप-जोख कर अतिक्रमण हटाए जाने की बात कही। ग्राम सभा में उन्होंने ग्रामीणों को समझाईश देते हुए कहा कि गांव के विकास के लिए अतिक्रमण न करे। गांव में यदि हाई स्कूल भवन का निर्माण एवं धान खरीदी चबूतरा निर्माण होता है तो इसका फायदा गांव वालों को ही मिलेगा। उन्होंने आपसी सामंजस्य के साथ आपस में मिल बैठ कर समस्या का समाधान करें। कलेक्टर ने गांव के गौठान में मुरमीकरण एवं हाई स्कूल के विद्यार्थियों के लिए खेल सामग्री उपलब्ध कराए जाने का भरोसा दिलाया। इसके अलावा कलेक्टर ने शासकीय प्राथमिक शाला बेलसोंडा पहुंचकर मतदाता सूची के पुनरीक्षण कार्य का आकस्मिक निरीक्षण किया।
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment