देश खतरे में, लेाकतंत्र बेहाल, क्या होगा मेरे देश का

म.प्र. ग्वालियर। जिस तरह की भाषा सत्ता के लिये देश में इस्तेमाल की जा रही है वह किसी भयानक सपने से कम नहीं जो दल देश का नेतृत्व करना चाहते है,वे अहम मुद्दो को भूल मुद्दा विहीन,मुद्दें उठा रहे है। देखा जायें तो देश में ऐसे कई अनगिनत मुद्दे है,जिनकी चर्चा उस अहम समय में की जा सकती है।
जब देश या प्रदेश का नेतृत्व करने की बारी हों,सौभाग्य से देश के पांच प्रदेशों में विधानसभा चुनाव है उसके बाद लेाकसभा चुनाव मगर जिस तरह के मुद्दे और भाषा शैली का उपयोग हमारे महान लेाकतंत्र में सžाा के लिये हो रहा है वह हमारे देश और हमारे महान लेाकतंत्र ही नहीं आम जन के हित में भी नहीं। फिर भी सžाा के लिये देश की खातिर सब कुछ चल रहा है। गढ़े मुर्दे उखाड़े जा रहे है। समय और परिस्थति को सžाा हासिल करने वाले नकारे जा रहे है।

देखा जाये तो भूतकाल को भूल ,वर्तमान और भविष्य पर सवाल होने चाहिए इस बीच कई पीढिय़ां गुजर चुकी होती है। जिन पर सवाल खड़े करने अन्याय ही नहीं बेईमानी है। मगर लेाग सžाा के लिये ऐसा करने पर उतारु है जो न तो देश, न ही लेाकतंत्र, न ही भारतीय समाज के हित में सबसे बड़ी हास्य पद बात तो यह है कि लेाग सžाा के लिये जन्म कुण्डलियाँ खंगाल गलत इतिहास दोराने पर उतारु है। जो किसी के भी हित में नहीं।

बेहतर हों लेाग मुद्दों को सामने रख राजनीति करें और भारतीय परम्पराओं का पालन कर देश और लेाकतंत्र की रक्षा करे। हमारे पूर्वजों ने एक ऐसी महान परम्परा स्थापित की है इस देश में जिसको नकारना असंभव ही नहीं,नमुकिन है। अर्थात समाज के अन्तिम व्यक्ति की सेवा करना हर देश वासी का कर्žाव्य होना चाहिए। जिसकी हमारे देश को सक्त जरुरत है ये अलग बात है,कि ये प्रयास अनवरत काल से चालू है। मगर आज भी इसकी जरुरत अवश्यम भावी है।

मगर जिस तरह से देश के दो बड़े राजनैतिक दलों में द्वान्द चल रहा है उस पर देश वासियों की नजर अवश्यम भावी है। यूं तो कभी चाणक्य ने भी कहां कि जिस देश का युवा राजनीति को नजर अंदाज करता है उस देश का विनाश सुनिश्चत है। इस तथ्य के मद्देनजर देश के प्रदेश के शहर के गांव के हर युवा का कर्žाव्य है कि वह पूरी चिन्ता के साथ अपना मतदान अवश्य करे जिससे हम हमारे महान लेाकतंत्र को सुरक्षित रख देश को मजबूत बना पाये।



                                      वीरेन्द्र रघुवंशी ने किया शहर में जनसम्पर्क

म.प्र. शिवपुरी। शिवपुरी विधानसभा क्षेत्र से कॉग्रेस के प्रत्याशी वीरेन्द्र रघुवंशी ने पैदल घूमकर शहर भर में किया जनसम्पर्क। इस मौके पर उनके साथ सैकड़ों की तादाद में उनके समर्थक भी रहे। कॉग्रेस प्रत्याशी के कार्यालय से शुरु होकर जनसम्पर्क विभिन्न मार्गो से होता हुआ कार्यालय पर ही खत्म हो गया। इस दौरान वीरेन्द्र रघुवंशी ने शहर भर के विभिन्न मार्गेा से होकर शहर वासियों से जनसम्पर्क किया। इस दौरान जगह-जगह लेागों द्वारा उनका स्वागत भी किया गया। उन्होंने शहर भर के मुख्य मार्गो पर पैदल घूम लेागों से अपने लिये जनसम्पर्क कर जनसमर्थन भी मांगा।



                     गिरते हुए लिंगानुपात के आँकडों पर जिला स्तरीय मंत्रणा सम्पन्न

म.प्र. दतिया। गिरते हुए शिशु लिंगानुपात के विरूद्ध संचालित अभियान के अन्तर्गत स्वदेश ग्रामोत्थान समिति दतिया के तत्वावधान में म.प्र. वॉलेन्ट्री हेल्थ एसोसियेशन व संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष के सहयोग व निर्देशानुसार ''नए आँकडों पर जिला स्तरीय मंत्रणा'' का आयोजन होटल तान्या पैलेस में किया गया। मंत्रणा का शुभारम्भ माँ सरस्व्ती की प्रतिमा पर दीप प्रज्वलन एवं माल्यार्पण कर अतिथियों द्वारा किया गया। कार्यक्रम में स्रोत व्यक्ति के रूप में देवेन्द्र भदौरिया संचालक धरती संस्था मुरैना, श्रीमती विद्या पाण्डेय बसुन्धरा महिला समिति सतना, डॉ. पल्लवी सोनी एवं दीपमाला बामने म.प्र. वॉलेन्ट्री हेल्थ एसोसियेशन इन्दौर रही।

कार्यक्रम का सफल संचालन स्वदेश ग्रामोत्थान समिति एवं मेंटर यूथ क्लब के संचालक रामजीशरण राय ने करते हुए अभियान एवं मंत्रणा के उद्देश्य को स्पष्ट करते हुए गतिविधियों के बारे में जानकारी प्रदान की गई। देवेन्द्र भदौरिया द्वारा लिंग एवं लैंगिकता के अन्तर को प्रस्तुतिकरण के माध्यम से स्पष्ट किया गया। साथ ही प्राप्त लिंगानुपात के आँकड़ों को बताया। श्रीमती विद्या पाण्डेय ने गर्भधारण पूर्व एवं प्रसूति पूर्व निदान तकनीक (लिंग चयन प्रतिषेध) अधिनियम पर आधारित प्रस्तुतिकरण किया गया।

डॉ. पल्लवी सोनी ने हमारी बिटिया बेबसाइट के उपयोग पर सरल व सहज  प्रस्तुतिकरण किया ताकि सभी लोग बेबसाइट का उपयोग कर सकें। श्रीमती दीपमाला बामने द्वारा लिंग आधारित भेदभाव पर रोक लगाने एवं मानसिकता में परिवर्तन करने हेतु जानकारी प्रदान की गई। मंत्रणा में जिले के सभी विकासखण्डों का प्रतिनिधित्व करते हुए अधिवक्ताओं, चिकित्सकों, पत्रकारों, साहित्यकारों, सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ ही महिला समूहों ने सहभागिता करते हुए जिले के गिरते हुए शिशु लिंगानुपात पर अंकुश लगाने हेतु सांझा प्रयास करने हेतु रणनीति बनाई गई।

प्रतिभगियों में प्रमुख रूप से अधिवक्ता टी.एन. चतुर्वेदी, श्रीमती कल्पना बैस, बासुदेव श्रीवास्तव, जीतेन्द्र सविता, काजिमउद्दीन सिद्दीकी, चिकित्सक डॉ. ए.के. खरे, डॉ. नवीन नागर, मीडिया से गणेश सावला दैनिक भास्कर, अनिल सविता, संतोश तिवारी, अरूण रजक, सामाजिक कार्यकर्ता एस.आर. चतुर्वेदी, श्रीमती नीतू राय, श्रीमती बबीता बिजपुरिया, रश्मि कटारे, उमा नौगरइया, पुष्पा गुगौरिया, पिस्ता राय, भानुमति शाक्य, रामकुमार दुवे, पीयूष राय, जीतेन्द्र मिश्रा, साहित्यकार मुन्नीलाल शर्मा, डॉ. राज गोस्वामी, ओमप्रकाश श्रीवास्तव सहित अन्य प्रतिभागियों की उपस्थिति सराहनीय रही। कार्यक्रम के अन्त में संस्था समन्वयक अशोक कुमार शाक्य द्वारा आभार व्यक्त किया गया।

एक्जिट पोल के संचालन और उसके परिणाम में प्रसारण तथा प्रकाशन पर प्रतिबंध

दतिया। भारत निर्वाचन आयोग ने लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम १९५१ की धारा १२६ क के नियम के अनुरूप मध्यप्रदेश समेत पंाच राज्य में एक्जिट पोल के संचालन और उसके परिणाम के प्रसारण तथा प्रकाशन पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह प्रतिबंध ११ नवम्बर २०१३ सोमवार को छत्तीसगढ़ में पहले मतदान के दिन पूर्वान्ह ७ बजे से ४ दिसम्बर २०१३, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में मतदान के दिन शाम ५.३० बजे तक रहेगा। यह प्रतिबंध इलेक्ट्रोनिक मीडिया के किसी भी ओपिनियन पोल या किसी अन्य प्रकार के पोल सर्वेक्षण पर भी रहेगा।

मध्यप्रदेश समेत अन्य चार राज्य छत्तीसगढ़, मिजोरम, राजस्थान, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में विधानसभा चुनाव होना है। इन विधानसभाओं में छत्तीसगढ़ में मतदान का पहला चरण ११ नवम्बर सोमवार से शुरू होगा। आयोग ने इस संबंध में अधिसूचना जारी की है।



विधान सम चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों ने दी शासकीय देयों की जानकारी

गुना 16 नबम्बर 2013/ विधान सम निर्वाचन 2013 के तहत गुना जिले की विधान सम निर्वाचन क्षेत्रों में चुनाव लड़ रहे  उम्मीदवारों ने अपने शपथ पत्रों में शासकीय देयों की जानकारी प्रस्तुत की है । कार्यालय कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी गुना से प्राप्त जानकारी अनुसार विधान सम निर्वाचन क्षेत्र गुना 29 (अजा ) में कम्यूनिष्ट पार्टी ऑफ इण्डिया के बैनीप्रसाद जाटव (जमौरिया ) पर अन्य सरकारी देय में जिला अंत्यावासायी निगम से 80000/- का ऋण है ।बहुजन समाज पार्टी के श्री जमना प्रसाद अहिरवार पर 200000/- रूपये क ी राशि , कोमल प्रसाद शाक्य निर्दलीय पर 4,50,000/-, म्गवानसिंह अहिरवार लोकजन शक्ति पार्टी पर 3,00,000/- जिला अंत्यावासायी समिति गुना का सरकारी देय है। मरतीय जनता पार्टी के पन्नालाल शाक्य पर 5000/- विद्युत आपूर्ति , बहुजन संर्घष दल के श्री देवीसिंह अहिरवार पर 12000/- विद्युत आपूर्ति 3,30,000/- ओरियन्टल बैंक का बकाया ,कालूराम जाटव निर्दलीय ने अपने शपथ पत्र में 150,800/- की राशि का बैक ऋण का देय बताया है । जबकि इण्डियन नेशनल कांग्रेस के नीरज निगम, सोशलिस्ट यूनिट सेन्टर ऑफ इण्डिया (कम्यूस्टि) प्रदीप आर बी , गौतम निर्दलीय, विक्की छारी निर्दलीय और सुनील मालवीय निर्दलीय पर सरकारी देय नहीं होना बताया गया है । इसी प्रकार विधान सम निर्वाचन क्षेत्र 30 चांचौड़ा से मरतीय जनता पार्टी की उम्मीदवार श्रीमति ममता मीना द्वारा प्रस्तुत शपथ पत्र के आधार पर अन्य शासकीय देयकों  में जिला सह.बैंक चांचौड़ा की बकाया राशि 10099/-एवं इनके पति पर एसबीआई में बकाया राशि 8,92,736/- ऋण और बकाया राशि 11,06,714 रू. है , इण्डियन नेशनल कांग्रेस के उम्मीदवार श्री शिवानारायण मीना पर एसबीआई चांचौड़ा के 5,00,000/-जिसमें 1,67,567/- शेष है  किसान क्रेडिट कार्ड द्वारा एसबीआई बीनागंज का 2,85,180/- का इस प्रकार कुल बकाया 4,52,747/- है। वही समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार श्री  रणधीरसिंह मीना ने अपने शपथ पत्र में एचडी्एफसी बैंक से 8,00,000/- का ऋण बताया है । जबकि चांचौड़ा विधान सम क्षेत्र में चुनाव लड़ रहे बहुजन समाज पार्टी के कैलाश नारायण मीना, प्रदीप सिंह गौर निर्दलीय और निर्दलीय मरदनसिंह म्ील पर अन्य सरकारी देय नहीं होना बताया गया है।




SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment