युवाओं को मतदान के लिए प्रेषित करें-जागरूकता प्रेक्षक श्री वाकणकर

शहडोल 30 अक्टूबर 2013- विधान सभा निर्वाचन हेतु भारत निर्वाचन द्वारा नियुक्त जागरूकता प्रेक्षक एवं डायरेक्टर प्रेस फैसिलिटीस प्रेस इन्र्फोमेशन ब्यूरो श्री नितिन वाकणकर ने कहा है कि युवा वर्ग मतदान के प्रति अधिक जागरूक नही है। इन्हे जागरूक करने की आवश्यकता है ।
अत: युवाओं को जागरूक करने के लिए आधुनिक प्रचार तंत्र यूटयूब एसएमएस आदि के द्वारा निरंतर जागरूक किया जाये ताकि युवा मतदाता मतदान के महत्व को समझें और जिम्मेदारी पूर्वक अपने मताधिकार का उपयोग करें। उन्होने कहा है कि शहडोल जिले के कम प्रतिशत मतदान वाले केन्द्रों में भी मतदाता जागरूकता अभियान चलाया जाये तथा महिला मतदाताओं को भी मतदान के लिए प्रेरित किया जाये। जागरूकता प्रेक्षक श्री नितिन वाकणकर आज कलेक्ट्रेट कार्यालय में आयोजित जिला स्तरीय स्वीप प्लान की बैठक में अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। बैठक में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ.अशोक कुमार भार्गव अपर कलेक्टर श्री सभाजीत यादव मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री के.के.शुक्ला, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री दुर्गेश राठौर उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती सारिका भूरिया, उप पुलिस अधीक्षक श्री शिव कुमार सिंह, रिटर्निग अधिकारी जैसिंहनगर श्री एस.पी.सिंह, रिटर्निग अधिकारी ब्यौहारी श्री बी.डी.सिंह, रिटर्निग अधिकारी जैतपुर श्री अंकुर मेश्राम, नोडल अधिकारी स्वीप प्लान श्री टी.एस.मरावी, एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे। जागरूकता प्रेक्षक ने कहा कि शहडोल जिले के युवा मतदाताओं को मतदान के प्रति जागरूक करने के लिए स्कूल, कॉलेजों में जागरूकता शिविर आयोजित कर इन्हे निरंतर मतदान के महत्व को बताया जाये और मतदान के प्रति इन्हे जागरूक किया जाये। उन्होने कहा कि आज शहरी क्षेत्र के मतदाता भी मतदान के प्रति उदासीन हो गये है। उनके लिए भी शहरी क्षेत्रों मे भी मतदाता जागरूकता अभियान चलाया जाये। बैठक में कलेक्टर ने बताया कि शहडोल जिले में स्वीप प्लान के तहत जिले के जिले के हॉट बाजारों मेलों आदि में लोक कल्याण सूचना शिविरों एवं मतदाता जागरूकता शिविरों के माध्यम से निरंतर मतदाताओं को जागरूक किया जा रहा है। उन्होन कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में आयोजित लोक कल्याण शिविरों मे एकत्रित लोगों को मतदाता जागरूकता संबधित जानकारी दी जा रही है । उन्होन बताया की जिले के सभी छात्रावासों हायर सेकेन्ड्री स्कूलो, महाविद्यालयों में मतदाता जागरूकता कार्य शालाओं का आयोजन किया जा रहा है तथा युवा छात्र-छात्राओं को मतदान करने के लिए निरंतर प्रेरित किया जा रहा है। कलेक्टर ने बताया कि जिले के ग्राम निपनिया, ग्राम टिहक, ग्राम केशवाही, ग्राम खन्नौधी, गा्रम सिंदुरी, ग्राम अमरहा ग्राम गिरवा, ग्राम लफदा, में लोक कल्याण सह सूचना शिविरों का आयोजन कर जनमानस को मतदान के प्रति जागरूक किया गया तथा लोगों को भारत निर्वाचन आयोग द्वारा चलाये गये मतदाता परिचय पत्र निर्माण अभियान के संबध में भी जागरूक किया गया । इसी तरह शंभूनाथ महाविद्यालय शहडोल, उत्कृष्ट विद्यालय शहडोल, हाईस्कूल जैसिंहनगर, पॉलटेक्निक कॉलेज शहडोल, रघुराज हायर सेकेन्ड्री स्कूल शहडोल, उत्कृष्ट विद्यालय बुढ़ार, जिला अभिभाषक कक्ष शहडोल, गॉधी स्टेडियम शहडोल, कन्या महाविद्यालय शहडोल एवं आईटीआई शहडोल, उत्कृष्ट विद्यालय गोहपारू में मतदाता जागरूकता शिविरों का आयोजन किया गया तथा छात्र-छात्राओं को मतदान के लिए प्रेरित किया गया ।कलेक्टर ने बताया कि आकाशवाणी केन्द्र एवं यूटयूब एवं फेसबुक के माध्यम से मतदाता जागरूकता अभियान का संदेश जनमानस तक पहुंचाया जा रहा है। कलेक्टर ने बताया कि नुक्कड़-नाटको, लोक गीतों, एवं प्रहसनों के माध्यम से क्षेत्रीय भाषा में लोगों को  एपिक कार्ड बनाकर मतदान करने का संदेश दिया जा रहा है। कलेक्टर ने बताया कि मतदाता जागरूकता के जिले में आपेक्षित परिणाम मिल रहें है। जिसके परिणाम स्वरूप जिले में लगभग सभी शासकीय कर्मचारियों अधिकारियों ने अपने मतदाता परिचय पत्र बनवा लिए है। उन्होने बताया कि लगभग 20 हजार छात्र-छात्राओं ने मतदान के लिए शपथ पत्र भर कर दिये है। उन्होने बताया कि जिले में शत-प्रतिशत मतदाताओं को मतदाता परिचय पत्र उपलब्ध कराये गयें है ।

कहीं यह बीमारी का बहाना तो नहीं
भोपाल 7 ३०-अक्तूबर-२०१३ कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री निशांत वरवड़े द्वारा यह सुनिश्चित किया गया है कि विधानसम चुनाव में कोई अधिकारी/कर्मचारी बीमारी का बहाना कर चुनावी ड्यूटी से बचना तो नहीं चाहता । इस सिलसिले में एक आदेश जारी करते हुए उन्होंने साफ कर दिया है कि स्वास्थ्य कारणों के चलते यदि कोई अधिकारी/कर्मचारी मेडीकल बोर्ड के सामने उपस्थित होता है तो बोर्ड उसका पूरी सघनता एवं गंम्ीरता से परीक्षण करेगा साथ ही यह साफ तौर पर बतायेगा कि संबंधित अधिकारी/कर्मचारी वास्तविक तौर से शासकीय सेवा के लिए अनफिट या फिट है । मेडीकल बोर्ड परीक्षण उपरांत एक प्रमाण पत्र म्ी जारी करेगा जिसमें फिट/अनफिट की स्थिति साफतौर से बताई जायेगी ।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी का साफ कहना है कि मेडीकल बोर्ड द्वारा जारी प्रमाण पत्र में अनफिट की स्थिति बताए जाने पर ही संबंधित के आवेदन पर विचार किया जायेगा । श्री वरवड़े ने आदेश में यह खासतौर से उल्लेख किया है कि विधानसम चुनाव अत्यंत महत्वपूर्ण तो होता ही है साथ ही वह अत्यावश्यक की श्रेणी में म्ी आता है । उन्होंने कहा है कि चुनाव में जिन म्ी अधिकारियों एवं कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है वे महत्वपूर्ण एवं अत्यावश्यक जैसी बातों के महत्व को ठीक तरह समझकर ही मेडीकल बोर्ड का रूख  करें ।

कोई रिष्तेदार नहीं है उम्मीदवार, निर्वाचन कार्य से जुड़े अधिकारी देंगे शपथ पत्र
इंदौर 30 अक्टूबर, 2013 भारत निर्वाचन आयोग ने विधानसभा चुनाव से जुड़े अधिकारियों से शपथ-पत्र लिए जाने के निर्देश मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को दिए हैं। निर्देशों में कहा गया है कि ऐसे अधिकारी जो चुनाव प्रक्रिया से सीधे जुड़े हुए हैं उन्हें इस आशय का शपथ-पत्र देना होगा कि उनके कोई रिश्तेदार विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार नहीं है। यह शपथ-पत्र रिटर्निंग आफिसर, सहायक रिटर्निंग आफिसर, जिला निर्वाचन अधिकारी, एसएचओ, डिप्टी एस.पी., एसपी, एसएसपी को देना होगा। यह शपथ पत्र निर्धारित प्रारूप में नाम-निर्देशन पत्र जमा होने की अंतिम तिथि तक संबंधित डीईओ/सीईओ को देना होगा। इस आशय के निर्देश मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा जिला निर्वाचन अधिकारियों को दिए गए हैं।

शेडो रजिस्टर में निर्वाचन व्यय का लेखा वीडियोग्राफी के आधार पर करें
सागर 30 अक्टूबर 2013/विधानसभा निर्वाचन 2013 के दौरान जिले में निर्वाचन व्यय की निगरानी हेतु आयोग द्वारा नियुक्त व्यय प्रेक्षक श्री शरत चतुर्वेदी एवं श्री मनोज शाह ने आज सागर में रिटर्निग अधिकारी, सहायक व्यय प्रेक्षकों और लेखा टीमों की बैठक लेकर निर्वाचन व्यय संधारण के संबंध में आवष्यक दिषा निर्देष दिये ।स्थानीय कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आज बुधवार को कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री योगेन्द्र शर्मा और पुलिस अधीक्षक श्री अभय सिंह की मौजूदगी में संपन्न बैठक में व्यय प्रेक्षक द्वय ने स्पष्ट किया कि आयोग के निर्देषों का सभी लेखा टीमें अ'छी तरह अध्ययन कर लें और जहां कहीं भी शंका है कल तक हमसे शंका समाधान कर लें । इसके बाद एक नवम्बर से लेखा टीमों का कार्य शुरू हो जायेगा । लेखा टीमें वीडियोग्राफी के आधार पर शेडो रजिस्टर की प्रविष्टियां करें । अभ्यर्थी को जो रजिस्टर प्रदाय किये जाना है उनमें वे अपना व्यय लेखा प्रस्तुत करेगे । प्रेक्षको ने कहा कि सभी रिटर्निग अधिकारी अपने निर्वाचन क्षेत्र के लिये लेखा टीमें कहां उपस्थित रहेगी का स्थल निष्चित करा लें । इसी बैठक में कलेक्टर ने समस्त सहायक व्यय प्रेक्षको को निर्देषित किया कि वे नामांकन प्राप्त करने के लिये सागर मुख्यालय आने वाले अपने रिटर्निग अधिकारियों के साथ यहां आयेगे और उनके साथ वापस भी जायेगे । कलेक्टर ने लेखा टीमों से अपेक्षा की कि वे अभ्यर्थियों द्वारा विधि के अनुसार किये गये व्ययों और विधि के विपरीत किये गये व्ययों, दोनो तरह के निर्वाचन व्यय का निष्पक्ष रूप से संधारण करें ।

एमसीएमसी गतिविधियों को सराहा
लेखा टीमों की बैठक लेने के पष्चात प्रेक्षक द्वय ने जिला निर्वाचन कार्यालय में स्थित एम.सी.एम.सी. कक्ष का निरीक्षण भी किया । इस दौरान उन्होंने कक्ष में इलेक्ट्रानिक मीडिया द्वारा प्रसारित समाचारों की नियमित रिकार्डिग किये जाने और समाचार पत्रों में प्रकाषित समाचारों की नियमित कटिंग होने संबंधी दैनिक गतिविधियों की सराहना भी की ।
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment