विधानसभा आम निर्वाचन-2013: सूफिया फारूकी द्वारा मतदान केन्द्रों का निरीक्षण

ग्वालियर 29 अक्टूबर 2013/ मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ग्वालियर श्रीमती सूफिया फारूकी ने आज 14-ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मतदान केन्द्रों का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान पाई गई अनियमितताओं के लिये संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिये। कार्रवाई के अंतर्गत वेतन वृद्धि रोकना, संपश्रि विरूपण और 15 दिवस का वेतन राजसात करने के आदेश दिए।


मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने गिरगाँव, बरेठा, डांग गुठीना, सूरो एवं चंद्रपुरा, चकरायपुर, सैंथरी, भदरौली, विक्रमपुर, महु, अकबरपुर, जमाहर, रूद्रपुर, सुसेरा, जलालपुर आदि मतदान केन्द्रों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कई केन्द्रों में मूलभूत सुविधाओं का आभाव पाया गया, जैसे - मतदान केन्द्र की पुताई न होना, शौचालय न होना, साफ-सफाई का आभाव आदि। कई केन्द्रों में विगत तीन महीने से तहसीलदार उपस्थित न होने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। इसी प्रकार कई जगह मतदान केन्द्रों पर संपश्रि विरूपण के तहत कार्रवाई नहीं किए जाने के कारण संबंधित अधिकारियों की वेतन वृद्धि रोकने के आदेश दिए।

सोशल मीडिया पर प्रचार से पहले लेनी होगी अनुमति

जबलपुर. सोशल मीडिया और वेबसाइट पर चुनावी प्रचार के लिये भी अनुमति लेनी होगी। भारत निर्वाचन आयोग ने इस संबंध में दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। आयोग ने माना है कि सोशल मीडिया और वेबसाइट भी रेडियो-केबल टीव्ही की तरह इलेक्ट्रोनिक मीडिया हैं। जिस पर किए जाने वाले चुनाव प्रचार को कानूनी रूप में विनियमित करना आयोग का अधिकार है।

सोशल मीडिया के माध्यम से होने वाले चुनावी प्रचार का खर्चा संबंधित प्रत्याशी के खाते में शामिल किया जाएगा । साथ ही राजनैतिक दलों व उम्मीदवारों से भी कहा है कि बिना अनुमति के सोशल मीडिया का उपयोग चुनावी प्रचार में न करें।

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा इस संबंध में जारी दिशा निर्देशों में साफ किया गया है कि सोशल मीडिया मसलन ट्विटर, फेसबुक, यू-ट्यूब, विकीपीडिया और एप्स पर कोई भी विज्ञापन या एप्लीकेशन देने से पहले इसकी अनुमति अवश्य ली जाए। यह अनुमति मीडिया सर्टिफिकेशन ऑफ मॉनीटरिंग कमेटी (एमसीएमसी) देगी। इसके लिये राजनैतिक दलों व प्रत्याशियों को फॉर्म-26 के पैरा-3 के अनुसार आवेदन करना होगा। सोशल मीडिया पर दिए जाने वाले विज्ञापन का खर्चा भी राजनैतिक दल अथवा प्रत्याशी के चुनावी खर्च में शामिल होगा। चुनावी खर्चे में उन व्यक्तियों  एवं टीम के वेतन व भŸो भी शामिल होंगे, जो उम्मीदवार या राजनैतिक दल का सोशल मीडिया एकाउण्ट या वेबसाइट संचालित करने का काम करते हैं। आयोग ने यह भी स्पष्ट किया है कि सोशल मीडिया पर भी आचार संहिता पूरी तरह से लागू रहेगी। साथ ही वेबसाइट और सोशल मीडिया एकाउण्ट पर पोस्ट की जाने वाली सामग्री इसके अधीन रहेगी।

 सोशल मीडिया पर विज्ञापन पोस्ट करने से पहले फॉर्म-26 के तहत लेनी होगी अनुमति।
सोशल मीडिया पर दी जाने वाली प्रचार सामग्री पर भी आचार संहिता लागू रहेगी।
राजनैतिक दल या उम्मीदवार की ओर से वेबसाइट और एकाउण्ट संचालित करने वाले टीम के वेतन व भŸो का खर्च भी उसके चुनावी खर्चे में जुड़ेगा।
ट्विटर, फेसबुक, यू-ट्यूब, विकीपीडिया और एप्स पर चुनावी विज्ञापनों पर रहेगी कड़ी नजर।

खाद्यान न बांटने पर ग्रामीणों ने सौंपा ज्ञापन

दतिया। ग्राम गोंदन के करीब दो सैकड़ा ग्रामीणों ने मंगलवार को पीडीएस की समस्या को लेकर प्रशासन को ज्ञापन सौंपा और सेल्समेन एवं सहायक सचिव के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। ज्ञापन देने आए ग्रामीणों को पहले जिला प्रशासन ने गुमराह किया। करीब एक घंटे भटकने बाद जब ग्रामीण हताश हो गए तो उन्होंने जिला प्रशासन को चेतावनी दी कि अगर वे उनका ज्ञापन नहीं लेते हैं तो वे बाहर चक्का जाम लगाने जा रहे हैं जिसके बाद एडीएम सुरेश कुमार ने स्थिति को भांपते हुए ज्ञापन ले लिया लेकिन ज्ञापन की पावती ग्रामीणों को नहीं दी।

ग्राम गोंदन निवासी करीब दो सैकड़ा ग्रामीण ने मंगलवार को कलेक्टर के नाम से एडीएम सुरेश शर्मा को ज्ञापन सौंपा। ग्रामीणों ने बताया कि उनके गांव में सेवा सहकारी संस्था की सोसायटी है। जिस पर सहायक सचिव सुरेश यादव एवं सेल्समेन नीरज यादव तैनात हैं। सुरेश यादव ग्राम गोंदन सेल्समेन और नीरज यादव ग्राम सोड़ा की दुकानों में सेल्समेन हैं तथा यह लोग समय समय पर राशन का वितरण नहीं करते हैं तथा शिकायत करने पर कहते हैं कि यदि किसी ने भी शिकायत की तो उस पर लूट का झूंठा का मुकदमा दर्ज करवा देंगे। जिस कारण ग्रामीण दोनों से भयभीत रहते हैं।

ग्रामीणों ने बताया कि सेल्समेन सुरेश यादव द्वारा राशन उठा लिया गया तथा सभी सामान अपने पक्ष के उपाध्यक्ष गुलाब सिंह यादव एवं उनके साथियों से सांठ गांठ करके उनके घर में रखा हुआ है। जबकि सोसायटी की दुकान खाली पड़ी रहती है। सेल्समेन मनमानी से अपने घर पर ही काम करता है।

ग्रामीणों ने यह भी बताया कि सेल्समेन सुरेश यादव के बहनोई ग्राम गोंदन निवासी वीरेन्द्र सिंह यादव हैं व वकील यादव, वीरेन्द्र के चचेरे भाई हैं तथा गावं में इनका बोलवाला हैं यह लोग आपस में सांठ गांठ करके राशन का सही वितरण न करते हुए उसका बंदरबांट कर कालाबाजारी करते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि सेल्समेन द्वारा कई महीनों से गरीबों को राशन न बांटते हुए अपने घर भरने में लगे हुए हैं। गरीब दर-दर भटकने को मजबूर हैं। ग्रामीणांे ने जिला प्रशासन से तीन दिवस के अंदर कार्रवाई न होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

ज्ञापन सौंपने वालों में राजेन्द्र, रामसहाय, रामबाबू, मनोज प्रजापति, धांसू प्रजापति, शैलेन्द्र यादव, सोनू, कोमल सिंह यादव, राजाराम परिहार, सुरेन्द्र यादव, मंजले यादव, मल्लू जाटव, मुकेश जाटव, महेश कुशवाह, कल्लू जाटव, रमेश परिहार, रामकिशन परिहार, राजाराम परिहार, छोटेलाल बरेठा, मनोज बरेठा, रामफली बरेठा, हरीशंकर कुशवाह, कलूटे कुशवाह, खच्चू कुशवाह, गंगामातुन दांगी, बनमाली कुशवाह, बेनी कुशवाह, रतिराम वंशकार, रामजीशरण कुशवाह, सुनील वंशकार, बल्लम यादव ताल वाले सहित दो दर्जन ग्रामीण जन मौजूद रहे।


SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment