टूटती प्रतिज्ञा पितामह की मोदी बनेे भाजपा के सिरमोर

व्ही.एस.भुल्ले/  निश्चित ही जब आडवाणी जी ने भाजपा का दामन थाम अटल स्व.राजमाता विजयाराजे सिंधिया और राजनीति में संत कुशाभाऊ ठाकरे के साथ मिल भाजपा का कारवां बढ़ाया होगा तब उन्होंने प्रतिज्ञा ली होगी।
कि वह भाजपा के सिंहासन से उसी तरह जुड़ उसकी सवेा करेगें जैसी प्रतिज्ञा भीष्म पितामह ने ली थी भरत वंश की खातिर। मगर उस समय मसला उलट था, पितामह की मजबूरी प्रतिज्ञा बस कौरवों के  साथ देने की थी। अर्थात धर्म को छोड़ अधर्मियों के साथ जाना। क्योकि भीष्म अपनी प्रतिज्ञा से बंधे थे।

मगर आज के भारत में कौन कौरव और कौन पाण्डव है। यह स्वयं पितामह या भारत वर्ष जाने मगर जो रुख संघ ने इख्तियार कर अपनी मंशा जाहिर की है। भाई मोदी को मुखिया बनाकर लगता है लाख मान मनोबल के बावजूद पितामह मानने तैयार नहीं खबरों की माने तो पितामह का तर्क है। कि जल्दबाजी ठीक नहीं अभी चार रा'यों के चुनाव होना है और इस जल्दबाजी से भाजपा राज सिंहासन को नुकशान हो सकता है। इसलिये वह आखरी वक्त तक इस निर्णय के पक्ष में नहीं। समय आने पर वह स्वयं इस निर्णय के समर्थन में होगें हो सकता है उनके राजनैतिक जीवन के कुछ कटू अनुभव हो जो उन्हें इस निर्णय से विचलित करते हो। भले कि पितामह की निष्ठा पर कयास जो भी हो।

मगर पितामह को कौन समझाये कि यह कलयुग है जिस देश की राजनीति में मूल्य सिंद्धान्त हाफनी भर रहे हो निष्ठायें गली मोहल्ले कोणियों के भाव बिच रही हो ऐसे में अगर समुचा दल कॉफी सोच विचार के बाद भारत वर्ष के बारे में निर्णय ले चुका हो ऐसे हठर्मिता ठीक नहीं हो सकता है। केन्द्र में सरकार बनाने लायक संख्या राजनैतिक चश्मे से न दिखे मगर इतना तो तय है कि जिस तरह मिजाज आज भारत वर्ष का है। और जिस निर्णय क्षमता का लेाहा मोदी ले गुजरात ही नहीं देश भर मनवाया है उनकी निर्णय क्षमता और कार्यशैली ने ऐसा नेता देश के सामने प्रस्तुत किया। जो मोदी की लेाकप्रियता का पैमाना बना हुआ है।

बहरहॉल अब मोदी की ताजपोशी हो चुकी है तो संगठन की केन्द्र में सरकार बने या न बने यह अलग बात है मगर इतना तो यह है जिन प्रदेशों या क्षेत्र में भाजपा आज तक न तो खाता खोल सकी न ही कार्यकर्žाा खड़े कर सकी उसे उन रा'यों और क्षेत्रों में भाजपा का खाता भी खुलेगा और भाजपा का विस्तार हो नई जमीन भी मिलेगी। क्योकि देश में मोदी की लेाकप्रियता का पैमाना ही आज के भारत और उसमें चल रही राजनीति के बीच कुछ ऐसा ही है। यह सभी भाजपा शुभचिन्तकों को स्वीकारना चाहिए।

म.प्र. कॉटो भरा होगा कांग्रेस का सफर

राहृुल के बताये रास्ते पर म.प्र. में कदम ताल करती कांग्रेस में ऊपरी तौर पर भले ही सब कुछ ठीक ठाक चल पढ़ा हों, वहीं बहु प्रतिक्षित म.प्र. चुनाव संचालन समति की बैठक में चुनाव प्रचार समिति के मुखिया 'योतिरादित्य सिंधिया ने भले ही म.प्र. के वरिष्ठ नेताओं सहित साथ ही नेताओं को तŽ"ाों देते हुये चुनाव प्रचार की शुरुआत का शंखनाद कर दिया हो मगर जिस तरह का हमला विगत 10 वर्षो से प्रचार विहीन पढ़ी कांग्रेस ने किया है,वह समुचे प्रदेश में पुन: सžाा में लौटने का टेम्पो बना चुकी भाजपा पर, वह कमजोर ही नहीं न कॉफी भी है।

और हो भी क्यों न एक तो चुनावों के येन वक्त पर कांग्रेस में एका, उस पर से निचले स्तर पर निस्तनाबूत पढ़ी कांग्रेस को जमीनी स्तर पर विभिन्न संगठन समितियों के माध्ययम से आम मतदाता तक पहुंच बनाये बैठी सžाासीन भा.ज.पा. को सžाा में आने से रोक पाना काफी मुश्किल होगा।

म.प्र. में मिशन 2013 को फतह करने कांग्रेस लोकप्रिय चेहरा प्रचार प्रमुख के रुप में 'योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश वासियों के सामने लाने में तो सफल हों गई। वहीं फैले फूटे कांग्रेस के मठाधीसों को समेटने में, मगर जिस तरह की शुुरुआत हुई है। उससे आम कॉग्रेसी सन्तोष व्यक्त कर सकते मगर सžाा के मुहाने तक पहुंचने के लिये अभी कॉग्रेस को बहुत कुछ करना बाकी है।

आने वाले कुछ दिनों में देखना होगा सžाा के लिये संघर्ष करती कॉग्रेस कितना कुछ कर पाती है। मगर सžाा सफर उतना आसान नहीं होगा जितना सरल वह मान कर चल रही है।

व्यवस्थायें देखने,शिवपुरी पहुुंचे सी.एम.डी. नीतेश व्यास

म.प्र.ग्वालियर। विधुत वितरण व्यवस्था चाक चौबन्ध देखने आये म.प्र. म.क्षे. वि.वि.कम्पनी के प्रबन्ध निदेशक नीतेश व्यास ने कहां विधुत वितरण में तेजी से सुधार के पीछे कम्पनी का संकल्प और नई तकनीक है। चूंकि सुधार कार्य अभी प्रचलन मे है। जिसे जल्द ही पूरा किया जायेगा। उक्त बात म.प्र. म.क्षे.वि. वितरण कम्पनी के प्रबन्ध संचालक ने विलेज टाईम्स सम्पादक वीरेन्द्र शर्मा से अनौपचारिक चर्चा के दौरान आपने कहां कम्पनी का प्रयास है कि आम उपभोक्ता विधुत वितरण सुनिश्चित और विश्वसनीय हो यहीं हमारा प्रयास है। इसलिये मैं ही नहीं,मेरे अधिकारी भी अपने अपने क्षेत्र में नियमित भ्रमण कर व्यवस्थाओंं का अबलोकन करते रहते है।

अन्त में उन्होंने कहां कि आप को जल्द ही और सुधार और विधुत वितरण में प्रतिबद्धता देखने मिलेगी। इस मौके पर कम्पनी के सलाहकार सदस्य श्री पी.के.मिश्रा भी उनके साथ थे।

बीमार्ट: बी.आर.टॉवर में खुला फैशन का महाबाजार

म.प्र.शिवपुरी। देश के 68 शहरो में 81 शॉरुमों के माध्ययम से आम उपभोक्तता की जरुरत अनुसार किफायती कीमत पर विश्वस्तरीय उत्पाद आधुनिक फैशन और फिनिशिंग के साथ बीमार्ट लिमिटेड रिेटेल शॉरुम के रुप में प्रस्तुत हुआ है। जिसमें कपड़े ,घर की साम्रगी,फुटवियर ,क्रॉकरी की कई रेन्ज क्वालिटी के साथ किफायती दामों पर उपलŽध है।

शिवपुरी माधव चौक स्थित बी.आर.टॉवर में शुरु हुये बी.मार्ट शॉरुम में पहले ही दिन शहर वासियों ने जमकर खरीददारी की। इस मौके पर बी.मार्ट के उपस्थितअधिकारियों ने बताया कि वी.मार्ट का धैय उपभोक्ताओं को क्वालिटी के साथ उचित दामों पर पसन्द अनुसार विभिन्न उत्पाद मुहैया कराना है।

हमें खुशी है कि शुरुआती दिन ही हमें अ'छा रिसपोन्स मिला है। हम विश्वास दिलाते है,उपभोक्ताओं का विश्वास और दिल दोनों जीतने मेें वीमार्ट पूरी कोशिश करेगा। वातानूकूलित सर्वसुविधा युक्त शिवपुरी में वी.मार्ट सम्भवत: पहला रिटेल शॉरुम है।
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment