रेगिंग के खिलाफ सख्त कार्रवाई की

भोपाल। शिक्षण संस्थाओं में रेगिंग के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें । सभी कालेजों में सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का सख्ती से पालन किया जाये। यह बात आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में रेगिंग के खिलाफ आयोजित बैठक में अपर कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने सभी शिक्षण संस्थाओं के प्राचार्यों से कही।

बैठक में उच्च शिक्षा विभाग, तकनीकी शिक्षा विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ सभी महाविद्यालयों के संचालक और प्राचार्य उपस्थित थे ।

बैठक में एडीएम श्री कुर्रे ने कहा कि शिक्षण संस्थाओं में ऐसा वातावरण बनाएं कि वहां रेगिंग न होने पाए । रेगिंग की शिकायत प्राप्त होने पर प्रबंधन तत्काल कार्रवाई करे । श्री कुर्रे ने कहा कि किसी छात्र-छात्राओं को कालेज में किसी प्रकार की रेगिंग की शिकायत है तो वह तुरंत मैनेजमेंट को खबर करे साथ ही अपने घर पर भी इस संबंध में चर्चा करें जिससे परिवारजन महाविद्यालय प्रबंधन से शिकायत कर सकें, और भविष्य में ऐसी घटनाए नहीं हों । उन्होंने सभी प्राचार्यों से कहा कि वह अपने मोबाइल नंबर सभी छात्र-छात्राओं का उपलब्ध कराएं जिससे रेगिंग की शिकायत होने पर उनसे संपर्क कर सकें ।

बैठक में एडीएम श्री कुर्रे ने कहा कि किसी भी शिक्षण संस्थान में अगर रेगिंग की शिकायत मिलेगी तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जायेगी । संस्थाएं रेगिंग रोकने के लिए सीनियर और जूनियर छात्र-छात्राओं की टीचर्स के साथ टीम बनाएं जो इस प्रकार की गतिविधियां होने पर तुरंत मैनेजमेंट को बताएं जिससे संबंधित के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा सके । उन्होंने कहा कि महाविद्यालय प्रशासन को रेगिंग के खिलाफ सख्त कदम उठाने की आवश्यकता है । जिन छात्र-छात्राओं की संदिग्ध गतिविधियां लगती हों उस पर नजर रखें जिससे संस्था में किसी प्रकार की अप्रिय घटना घटित न हो । सभी संस्थाओं की यह जवाबदारी है कि उनके संस्थान में किसी भी कीमत पर रेगिंग न हो । इसके खिलाफ कठोर कार्रवाई करना सुनिश्चित करें । श्री कुर्रे ने कहा कि कालेज प्रबंधन ऐसा वातावरण निर्मित करें कि वहां छात्र-छात्राएं बिना भय के अपनी पढ़ाई कर सकें ।

UPL एनटीपीसी को लाभांश भुगतान करता है


श्री आई.एस. Parswal, सीईओ, उपयोगिता पावरटेक लिमिटेड (UPL) रुपये का चेक अंतिम लाभांश प्रस्तुत किया. श्री अरूप रॉय चौधरी, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, एनटीपीसी को एनटीपीसी के शेयर के रूप में वर्ष 2012-13 के लिए 300,00,000,. श्री N.N. मिश्रा, निदेशक (प्रचालन), श्री बीपी सिंह, निदेशक (परियोजना) श्री उत्तरप्रदेश पाणि, निदेशक (मानव संसाधन), श्री थॉमस जोसेफ, प्रवर्तन निदेशालय (ओएस), श्री B.Mukherjee, जीएम (एचआर, आई / सी), श्री लालकृष्ण Sreekant, महाप्रबंधक (वित्त), श्री ए.के. रस्तोगी, UPL की एनटीपीसी और वरिष्ठ अधिकारियों से कंपनी सचिव भी उपस्थित थे.
रुपये के कुल लाभांश. 500,00,000 प्रत्येक पहले अदा अंतरिम लाभांश सहित, वर्ष 2012-13 के लिए प्रमोटर कंपनियों दोनों के लिए UPL द्वारा भुगतान किया गया है. UPL ओ एंड एम समर्थन सेवाएं प्रदान करने में लगे हुए एनटीपीसी के एक संयुक्त उद्यम है.  


केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री सिंधिया और प्रदेश के राज्यमंत्री श्री अग्रवाल ने 12 करोड़ की लागत की 7 सड़कों का किया भूमि पूजन
गुना 9 अगस्त 2013/प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत आज बमोरी एवं गुना विधानसभा क्षेत्र के तहत कुल 12 करोड़ 5 लाख की लागत की 7 सड़कों के निर्माण कार्यो का भूमि पूजन (शिलान्यास) समारोह केन्द्रीय ऊर्जा रा'यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री 'योतिरादित्य सिंधिया के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। समारोहों की अध्यक्षता म. प्र. शासन के सामान्य प्रशासन, नर्मदा घाटी विकास एवं विमानन रा'यमंत्री श्री के. एल. अग्रवाल और गुना विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री राजेन्द्र सिंह सलूजा ने की।

इस अवसर पर मंत्रीद्वय एवं विधायक द्वारा ग्राम मानपुर में खुटियावद, नई सराय मार्ग,पदमनखेड़ी टकनेरा मार्ग से कुन्दोरा तक, ए. बी रोड़ से तिन्स्याई और सगोरिया मार्ग से जमरा मार्ग, मुहालपुर से गड़लागिर्द, ए. बी. रोड़ से हिलगना मार्ग का भूमि पूजन किया गया।

कार्यक्रम को संवोधित करते हुये केन्द्रीय रा'यमंत्री श्री सिंधिया ने क्षेत्रवासियों को इन सड़कों के शिलान्यास एवं भूमि पूजन होने पर शुभकामनाएं देते हुये कहा कि इन सड़कों के वन जाने से क्षेत्रवासियों को आवागमन की सुविधा प्राप्त होगी। 

सामान्य प्रशासन रा'यमंत्री श्री के. एल. अग्रवाल ने अपने उदवोधन में कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 800 से 1000 आवादी वाले गांवों को सड़क सुविधा पहुंचाने के उद्वेश्य से प्रदेश में एक हजार 575 सड़कों के कार्य स्वीकृत किये गये है, जिसमें यह सड़कें भी शामिल हैं। उन्होंने कहाकि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री अटल विहारी वाजपेई के कार्यक्राल में शुरु की गई थी। उन्होंने कहाकि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने एक हजार आबादी वाले ग्रामों को इस योजना के तहत सड़कों से जोडऩे के संबंध में देश के प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह से चर्चा कर प्रस्ताव रखा। जिस पर 800 से लेकर 1000 आवादी वाले गांवों को इस योजना में केन्द्र सरकार द्वारा जोडऩे की अनुमति दी गई।

कार्यक्रमों को जिला पंचायत अध्यक्ष श्री सुमेर सिंह गढ़ा, विधायक गुना श्री राजेन्द्र सिंह सलूजा, जिला पंचायत के उपाध्यक्ष श्री देवेन्द्र सिंह किरार आदि ने भी संवोधित किया।

म.प्र. ग्रामीण सड़क विकास प्रधिकरण परियोजना क्रियान्वयन इकाई गुना के महाप्रबंधक श्री पी.के. घोष से वताया कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत जिन 7 सड़कों का भूमि पूजन आज सम्पन्न हुआ है। इन सड़कों की कुल लागत 12 करोड़ 5 लाख 98 हजार है। इन सड़कों की कुल लम्वाई लगभग 33 किलो मीटर है। इनके पूर्ण होने से लगभग 7 हजार 300 की आबादी को आवागमन की सुविधा प्राप्त होगी।


SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment