प्रेस क्लब अध्यक्ष एवं संपादक वीरेन्द्र शर्मा भुल्ले हुये सम्मानित

शिवपुरी। मुस्लिम भाइयों के लिए अल्लाह की इबादत और नेकी करने का माह रमजान होता है और रमजान के पवित्र माह में ना केवल मुस्लिमजन बल्कि अन्य विभिन्न धर्मों के लोगों द्वारा मुस्लिम भाईयों के लिए रोजा अफ्तार कराया जाता है इसीलिए रोजा अफ्तार को प्रेम व सौहार्द्र का प्रतीक माना जाता है ऐसे में यह लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ का सम्मान करना भी नेकी का कार्य है।

हम मुस्लिम भाई दुआ करते है कि यह अपनी लेखनी से हर संप्रदाय को साथ लेकर हर क्षेत्र में उनकी सहायता करें। यह बात कही मोहम्मद तालिब इमाम साहब ने जो स्थानीय वीर सावरकर पार्क में वीर सावरकर पार्क मित्र मण्डल द्वारा आयोजित रोजा अफ्तार एवं सम्मान समारोह कार्यक्रम को मुख्य अतिथि की आसंद से संबोधित कर रहे थे।


इस अवसर पर सम्मान समारोह में प्रेस क्लब अध्यक्ष बनने पर वीर सावरकर मित्र मण्डल द्वारा वीरेन्द्र शर्मा भुल्ले का शॉल,श्रीफल, प्रशस्ति पत्र व स्मृति चिह्न प्रदान कर सम्मान किया। इस अवसर पर पार्क प्रबंधन में कार्यरत छत्रपाल सिंह गुर्जर व बच्चों के लिए नि:शुल्क शिक्षा प्रदान करने वाले प्रोफेसर मधुसूदन चौबे का भी माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। कार्यक्रम में मुस्लिम भाईयों ने सर्वप्रथम रोजे की नमाज पढ़ी और उसके बाद सभी ने मिलकर भाईचारा प्रदर्शित करते हुए रोजा अफ्तार किया।

इस मौके पर वीर सावरकर मित्र मण्डल शिवपुरी के कैलाश नारायण शर्मा, सेवा संस्कार समिति के प्रो.मधुसूदन चौबे, छत्रपाल सिंह गुर्जर, गणेशी लाल जैन, वरिष्ठ भाजपा नेता अनुराग अष्ठाना ,पूर्व विधायक वीरेन्द्र रघुवंशी, एसडीओ इंजी.अवधेश सक्सैना, वरिष्ठ पत्रकार प्रमोद भार्गव, अनुपम शुक्ला, राधेश्याम सोनी, प्रमोद श्रीवास्तव, विनय राहुरीकर, डॉ.ए.एल.शर्मा, प्रकाशचंद जैन, बनवारी लाल अग्रवाल, विजय जैन कैंची बीड़ी,मुन्ना मिžाल,चन्द्रकान्त समाधिया,वीरेन्द्र शर्मा सिरसौद, महेन्द्र रावत, राजेश गोयल,शराफत जमाली, विष्णु गोयल, रफीक खान, अनिल गुप्ता, सुरेश गुप्ता, हरिओम झा, जाफरी एडवोकेट,विजय चौकसे,सुनील व्यास आदि ने प्रेस क्लब अध्यक्ष वीरेन्द्र शर्मा का अभिनंदन करते हुए उनके द्वारा 20 वर्षो से लगातार पत्रकाारिता के क्षेत्र में किये गए लेखन कार्यों की प्रशंसा की। कार्यक्रम का संचालन आदित्य शिवपुरी ने किया जबकि आभार प्रदर्शन छत्रपाल सिंह गुर्जर ने व्यक्त किया।




SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment