माताटीला और राजघाट बांध के सभी गेट खुले, आधा दर्जन गांवों को खाली करने के निर्देश दिए

शिवपुरी 20 जुलाई का. गत दिवस हुई बारिश का असर नदियों पर पडऩा शुरू हो गया है। बीती रात्रि खनियांधाना के पैरा पुल से बही तीन आदिवासियों की लाशें आज सुबह बसकरया नाले में उतराती हुई मिलीं।
वहीं नरवर क्षेत्र के ग्राम निजामपुर में पानी के कहर से झोंपड़ी बह जाने से उसमें सो रही 80 वर्षीय वृद्धा मौत के आगोश में समा गई। रन्नौद क्षेत्र के पचावली पुल पर सिंध नदी अभी भी उफान पर है और पुल से 10 फिट ऊपर पानी का बहाव जारी है। भीषण बारिश के चलते खनियांधाना क्षेत्र में माताटीला और राजघाट बांध के सभी गेट खोल दिए गए हैं। साथ ही उस क्षेत्र के अतंर्गत आने वाले आधा दर्जन गांवों में अलर्ट भी जारी कर दिया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बीती रात्रि 8:30 बजे पर्वता पुत्र कमतला आदिवासी उम्र 80 वर्ष निवासी देवरी सहित रामकली पत्नि इंद्रपाल आदिवासी उम्र 26 वर्ष का दो वर्षीय पुत्र आनंद ग्राम अछचौनी से पैदल अपने गांव देवरी आ रहे थे। उसी समय भीषण बारिश के चलते पैरा पुल पर घुटनों तक पानी होने के बाद तीनों पुल पार करने लगे। लेकिन अचानक नाले में तेज बहाव आने के कारण तीनों बह गए और  आज सुबह 6 बजे बसकरया नाले में तीनों मृतकों के शव उतराते हुए मिले। सूचना मिलने पर पुलिस बल मौके पर पहुंच गया और भारी मशक्कत के बाद तीनों शवों को नाले से बाहर निकाला। वहीं दूसरी घटना नरवर थाना क्षेत्र के ग्राम निजामपुर में घटित हुई। जहां तेज बारिश के कारण एक झोंपड़ी बह गई। जिससे झोंपड़ी में सो रही रामकौर पत्नि कल्ला बढ़ई उम्र 80 वर्ष की मौत हो गई। खनियांधाना में भी रात में हुई भीषण बारिश के बाद माताटीला बांध और राजघाट बांध ओवरफ्लो हो गए और स्थिति को देखते हुए दोनों बांधों के सभी 22-22 गेट खोल दिए गए हैं। पानी का बहाव तेज होने के कारण और स्थिति को भांपते हुए प्रशासन ने ग्राम खजरा, टकरेला, खिरकिट, बसाहर, राजनगर, बुरहानपुर सहित अन्य गांवों में अलर्ट जारी कर उन्हें खाली करने के निर्देश दिए हैं।

खुल सकते हैं मड़ीखेड़ा डैम

कल हुई भीषण बारिश के कारण सिंध नदी भी अपने सुरूर पर आ गई है और स्थिति को देखते हुए प्रशासन के अलर्ट के बाद आज शाम तक मड़ीखेड़ा के गेट खोलने की संभावनाएं प्रबल हो गई हैं।

ङ्क्षसध भी आई उफान पर

बरिश के मौसम में गत दिवस हुई मूसलाधार बारिश के बाद सिंध नदी उफान पर आ गई। आज सुबह अशोकनगर जिले से शिवपुरी पुलिस को सूचना मिली कि अशोकनगर से एक युवक सिंध नदी में बह गया है। यह खबर लगते ही रन्नौद पुलिस अलर्ट हो गई और सूचना पर बहे युवक की खोज शुरू कर दी, लेकिन समाचार लिखे जाने तक पुलिस युवक की तलाश में जुटी हुई थी। साथ ही सिंध नदी का पानी पुल से दस फिट ऊपर बहने के कारण युवक की खोजबीन में पुलिस को भारी मशक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

जामों से पटा आगरा मुम्बई राष्ट्रीय राजमार्ग

अन्जू अग्रवाल
म.प्र. गुना। जैसे जैसे बारिश सबाव पर आ रही है ,वैसे वैसे आगरा मुम्बई राष्ट्रीय राजमार्ग की हालत खराब होती जा रही है। हालात ये है कि लेागों को रात रात भर या तो जाम में फसा रहना पड़ता है या फिर कछुआ चाल से भारत की तीसरे नंम्बर की सड़क से वाहनों को गुजरना  पड़ता है । जिसमें ग्वालियर से लेकर इन्दौर तक के हालात ऐसे है कि कब कहां कितने घन्टों का जाम लग जाये  किसी को कोई पता नहीं न ही इस हाईवे पर कई जिलों के थाने होने के बावजूद राज दिन लगते जामों को खुलवाने में दिलचस्वी रहती और रहा सवाल हाईवे  पैट्रोलिंग का तो शायद ही किसी जाम में यह देखने मिली है। विगत 3 वर्ष पूर्व आनन-फानन में एन.एच.ए.आई. में जहां चुके इस राष्ट्रीय राजमार्ग की दुर्दशा देखने लायक है। अभी हाल ही में जब गुना के पास रात भर जाम लगा रहा जिस कारण खराब सड़क के कारण 2 ट्रकों के बीच हुई भिंड़त को बताया गया। जिसके चलते इस मार्ग से गुजर वाले वाहनों के यात्री रात भर परेशान होते रहे। रात भर की मशक्त के बाद सुबह जाकर कहीं जाम खुला। 

स्विस महिला गैंग-रेप मे निर्णय: आरोपियों को आजीवन की सजा, दस-दस हजार रुपये अर्थदंड

दतिया। विशेष न्यायाधीश जितेन्द्र कुमार शर्मा की न्यायालय से पुलिस थाना सिविल लाईन्स के अपराध क्र. ३२/२०१३ धारा ३७६ (डी), ३९५, ३९७ आई.पी.सी. एवं धारा ११/१३ एम.पी.डी.के. तथा धारा २५ (१) (१-बी) (ए) २७(ए) आर्म्स एक्ट केे अपराध मे निर्णय सुनाते हुये अभियुक्त रामप्रो (२३ वर्ष), बृजेश उर्फ गजा (२४), भुता (३० वर्ष) ऋषि उर्फ बाबा (२०), विष्णु (२५वर्ष) एवं नितिन (२२ वर्ष) को  धारा ३७६ (डी) एवं ३९५ आई.पी.सी. व धारा १३ एम.पी.डी.पी.के. के अपराध में आजीवन कारावास एवं प्रत्येक को १०-१० हजार रूपये का जुर्माना से दण्डित किया गया है। अतिरिक्त रूप में अभियुक्त रामप्रोक को धारा ३९७/३९५ तथा २५/२७ आर्मस एक्ट के अपराध में तीन-तीन वर्ष का अतिरिक्त कारावास एवं ५००/- अर्थदण्ड से दण्डित किया गया है।  इस जुर्माने की की राषि में से ५० हजार रूपया बलात्कार की पीड़ित पीडित विदेषी महिला को भुगतान किये जाने का निर्णय दिया गया है। यह प्रकरण स्विस सैलानी महिला के साथ हुए गैंगरेप व उसके साथ पति सहित हुई मारपीट व डकैती के अपराध में भारत एवं स्विट्जरलैण्ड में चर्चित रहा है। प्रकरण में अभियोजन पक्ष की ओर से कुल ३१ गवाह न्यायालय में प्रस्तुत किये गये।

अभियोजन कहानी के अनुसार स्विट्जरलैण्ड से इस प्रकरण के पीड़ित पति-पत्नि दिनांक १५ फरबरी २०१३ को भारत भ्रमण पर आये थे और यह विदेषी जोड़़ा साइकिल से भ्रमण कर रहा था। दिनांक १५ मार्च २०१३ को सैलानी जोड़़ा साइकिल से दतिया होकर इंदरगढ़़ रोड की तरफ शाम को लगभग ७ बजे जा रहे थे तो ग्राम झड़िया के पास सड़क के निकट भुता जंगल में इन दोनों ने रात व्यतीत करने के लिये एक छोटा सा टेन्ट लगाया था। दोनों रात ९ बजे जब अपने टेन्ट के अंदर थे तो अभियुक्तगंण बन्दूक तथा लाठी लिये टेन्ट के पास पहुंचे और पति को बाहर बुलाकर उससे रूपयों की मांग की। उसी समय झगड़े़़ का माहौल देखकर पत्नी भी टेन्ट के बाहर आ गई थी। अभियुक्तगंण ने दोनों की मारपीट करना प्रारम्भ कर दिया। बन्दूक को दिखाते हुए धमकाया। पति को पकड़कर जमीन पर पटक दिया, उसके दोनों हाथ बांध दिये और पत्नी को पति से अलग हटाकर दूर कर लिया तभी कुछ अभियुक्तों ने पत्नि को घेर लिया और उसके हाथ बांध दिये, मारपीट करने लगे तथा उसके साथ एक-एक करके लगातार बल पूर्वक हिंसात्मक बलात्कार किया था। इस घटना में पति व पत्नि को अनेकों चोटें आई थीं। अभियुक्तगंण ने उनका लपटॉप, मोबाईल, बैटरी, ईयरफोन और दस हजार रूपये छीनकर जंगल की ओर से भाग गये थे। घटना के दो दिन बाद ही पुलिस ने समस्त अभियुक्तगंण को दिनांक १७  मार्च को गिरफ्तार कर लिया था और उनसे लूटा हुआ समस्त सामान जप्त किया जिसकी शनाख्तगी

पीड़ित पति से कार्यपालक मजिस्ट्रेट के समक्ष एवं न्यायालय में ट्रायल के दौरान की गई थी। न्यायालय में फिंगरप्रिंट एक्सपर्ट ने भी यह प्रमाणित किया था कि लेपटॉप आदि पर अभियुक्तगंण के अंगुष्ठ चिन्ह पाये गये तथा अभियुक्तगंण में से एक ने अपने हिस्से में आये मोबाईल में से विदेशी सैलानी की सिम निकालकर एक दूसरी सिम डाल ली थी और लूटे हुए मोबाईल से डायल भी किया था।

संयुक्त परिवहन आयुक्त बने आर के मिश्रा

शिवपुरी 20 जुलाई का.- शिवपुरी जिले में तत्कालीन समय जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के रूप में पदस्थ रह चुके आर.के.मिश्रा की अथक मेहनत और परिश्रम के चलते अब संभाग के संयुक्त परिवहन आयुक्त के रूप में पदोन्नति हुई है। श्री मिश्रा ने शिवपुरी जिले में भी सीईओ रहते हुए जिला पंचायत के कई महत्वपूर्ण योजनाओं को अपने प्रयासों के द्वारा पूर्ण किया और योजनाओं के पात्र हितग्राहियों व अपने अधीनस्थ अमले को लेकर हमेशा कार्य में दृढ़ता दिखाई जिसका परिणाम यह हुआ कि जिला पंचायत शिवपुरी ने भी विकास के नए पथ पर उžारोžार प्रगति की। श्री मिश्रा पूर्व में शिवपुरी जिले के बाद ग्वालियर पहुंचे यहां भी उन्होंने ग्वालियर नगर में मिली महत्वपूर्ण जिम्मेदारी का भी पूर्ण ईमानदारी से निर्वाह किया। इसके बाद धार जिले में पहुंचकर स्थानीय शासन की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाकर उनका लाभ जन-जन तक पहुंचाया। जिसके चलते अब जिला पंचायत सीईओ के रूप में कार्य करने के बाद श्री मिश्रा की पदोन्नति संयुक्त परिवहन आयुक्त के रूप में हुई। श्री मिश्रा की इस पदोन्नति के बाद अंचल भर से उन्हें उनके मित्रजन, परिजन व शुभे'छुओं ने अपनी शुभकामनाऐं प्रेषित की है।


SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment