सवालों से मुंह छिपाना चाहती है,सरकार - सिंधिया

शिवपुरी। एन.टी.पी.सी. 100 करोड़ की लागत से शिवपुरी में इन्जीनियरिंग कॉलेज स्थापित करेगी। रहा सवाल भाजपा सरकार का वह जनता के सवालों से बचना चाहती। राकेश प्रकरण लेाकतंत्र की हत्या है पार्टी छोडऩा किसी पार्टी में किसी का शामिल होना निश्चित रुप से व्यक्तिगत बैचारिक मामला हो सकता है।  व्यक्ति अपने वैचारिक दृष्टिकोण का स्वयं के लिये इस्तमाल कर सकता और वह उसके लिये स्वतंत्र भी है।

मगर भाजपा की कार्यशैली  हमेशा लेाकतंात्रिक सिद्धान्तों मूल्यों के खिलाफ रही है। जो वर्तमान घटनाक्रम के रुप में सामने है। भाजपा सरकार को डर था कि अगर सदन में अविश्वास प्रस्ताव आता और चर्चा होती तो निश्चित ही भाजपा सरकार का असली चेहरा उजागर हो जाता जनता के सवाल सदन में न हों उससे मुंह छिपाने भाजपा सरकार ने ऐसा कदम उठाया। 

जब केन्द्रीय मंत्री 'योतिरादित्य सिंधिया से विलेज टाईम्स सम्पादक वीरेन्द्र शर्मा ने उनके संसदीय क्षेत्र के सबसे अहम मसले पर सवाल किया कि 82 करोड़ की सिन्ध पेयजल जलावर्धन येाजना संकट में है। वह कभी दम तोड़ सकती है। जिससे शिवपुरी शहर की लगभग ढाई लाख की आबादी गम्भीर संकट में फस सकती है। क्या कहना चाहेंगे आप?

सिंधिया ने म.प्र. की भाजपा सरकार की कार्यप्रणाली  पर कड़े प्रहार करते हुये कहा कि इनकी कार्य प्रणाली क्या है। हम सभी ठीक ढंग से वाखिफ मुझे तो अफसोस होता है। कि मेरे द्वारा लाई गई योजनायें चाहे वह झील संरक्षण,सीवेज प्रोजक्ट,300 विस्तरों वाला अस्पताल पॉलोटेक्निक कॉलेज,जलावर्धन योजना पर्याप्त रुप से राशि देने के बाद 6-6 वर्षो में पूरी नहीं हो पा रही है। मैं केन्द्र से पैसा दिला सकता हूं। काम तो म.प्र. सरकार को ही करना है। उन्होंने कहा कि जहां तक मेरा सवाल है तो गुना में 126 करोड़ की लागत से डिजायन डबलवमेन्ट इन्स्टेटियूट के बाद 100 की लागत से एन.टी.पी.सी. शिवपुरी में इन्जीनियरिंग कॉलेज खोलेगी। जिससे समुचे संसदीय के छात्रो को लाभ होगा।

अन्त में जब सिंधिया से पूछा गया कि क्या शिवपुरी में इन्जीनियरिंग कॉलेज कनफर्म है। इस पर उन्होंने कहा कि मैं पहले करता हूं फिर कहता हूं।

डा. द्विवेदी द्वारा योजनाओं को गति प्रदान की -  कलेक्टर श्री भोंडवे

दतिया/निर्वतमान सीईओ जिला पंचायत डा. रविकांत द्विवेदी के स्थानांतरण पर कलेक्ट्रेट दतिया के सभाकक्ष में उन्हें भावभीनी विदाई दी गई। इस अवसर पर जिला कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे, वर्तमान सीईओ जिला पंचायत श्री संदीप माकिन, डिप्टी कलेक्टर श्री पुरूषोत्तम गुप्ता सहित जिले के अन्य अधिकारी जिला पंचायत के अधिकारी कर्मचारीगण उपस्थित रहे। श्री द्विवेदी को पुष्पहार पहनाकर व स्मृति चिन्ह भेट कर भावभीनी विदाई दी गई।

जिला कलेक्टर श्री संकेत भोंडवे ने इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि डा. रविकांत द्विवेदी ने अ'छी प्रशासनिक क्षमता है। उन्होने योजनाओं केा गति प्रदान करने में काफी योगदान दिया और योजनाओं को प्रदेश की रैकिंग में उपर तक लाने में अ'छा काम किया। उन्होने श्री द्विवेदी के उ'जवल भविष्य की कामना की। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री आगमन के समय श्री द्विवेदी द्वारा अ'छी कार्यकुशलता का परिचय देते हुए टीम भावना से कार्य किया है उनका कार्य प्रेरणादायी है। सीईओ जिला पंचायत श्री संदीप माकिन द्वारा उनके उ'जवल भविष्य की कामना करते हुए सुखद और मंगलमय भविष्य की कामना की।

डा. रविकांत द्विवेदी ने अपवने उदवोधन में कहा कि मुझे जिला कलेक्टर का भरपूर सहयोग मिला जिस कारण वह योजनाओं को गति दे सके। विकास के लिए मै हमेशा उदारवादी प्रवृति से कार्य करते हुए बजट का मू खोलकर रखता हॅू। मनरेगा के तहत् 13 करोड 36 लाख रूपेय व्यय किये गये। उन्होने टीम भावना के लिए सभी को धन्यावाद दिया। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी श्री के.जी शुक्ला, उपसंचालक कृषि श्री डी.आर. राजपूत, उपसंचालक पशुचिकित्सा श्री विश्वकर्मा, जिला आवकारी अधिकारी श्री आर.सी. त्रिवेदी, जिला पंचायत के एपीओ श्री बेदप्रकाश गुप्ता, श्री चौरे, श्री मनीष गुप्ता, श्री प्रशांत लिटोरिया सहित अधिकारीगण उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन व्याख्याता श्री मनोज द्विवेदी ने किया।


खराब परीक्षा परिणाम वाले हाईस्कूल व हायरसैकेण्डरी के प्राचार्यों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई

ग्वालियर 13 जुलाई 2013/ जिले के जिन हाईस्कूल व हायरसेकेण्डरी की बोर्ड परीक्षाओं के  परिणाम अत्यंत खराब रहे है, उन सभी प्राचार्यों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की गई है। कलेक्टर श्री पी नरहरि ने उक्त आशय के निदेश दिये है। उन्होंने संबंधित संकुल प्राचार्यों को भी कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये हैं।

जिला शिक्षा अधिकारी ने कलेक्टर को अवगत कराया था कि 2013 में शासकीय हाईस्कूल केरूआ व शासकीय हाईस्कूल हरसी और शा. उ. मा. वि. करहिया के परीक्षा परिणाम 20 प्रतिशत से भी कम रहे हैं। इसी तरह शासकीय हाईस्कूल निरावली, करहिया, सांखनी, शुक्लहारी, अकबई बडी, सिंघारन व हाईस्कूल सिमरियाताल के परीक्षा परिणाम 20 से 30 फसदी के बीच रहे हैं। जिले में स्थित शा.उ.मा.वि. पटेल, शा.उ.मा.वि. करियावटी, शा.उ.मा.वि. रनगवां व शा.उ.मा.वि. बरई का परीक्षा परिणाम 30 फीसदी से कम रहा है।

आप जागेंगे तभी गांव की सूरत बदलेगी- कलेक्टर

रायसेन 13 जुलाई 2013 जब तक आप अपने गांव के विकास के लिए जागेंगे नहीं तब तक न तो गांव की तस्वीर बदलेगी और न ही गांव में खुषहाली आएगी। यह बात कलेक्टर श्री जेके जैन ने बाड़ी तहसील के अन्तर्गत ग्राम गडरवास में ग्रामीणों से गांव के विकास और समस्याओं के संबंध में चर्चा करतेे हुए कही।

श्री जैन ने कहा कि गांवों के विकास की जिम्मेदारी पंचायतों के माध्यम से आप सभी ग्रामवासियों को सौंपी गई है। इसलिए पंचायतें सही काम कर रही है या नहीं, सरकारी अमला ठीक तरह से अपनी जिम्मेदारी निभा रहा है या नही, इसकी निगरानी भी आपको करना चाहिए। साथ ही  कहीं कुछ गड़बड़ी दिखाई दे तो उसको पूरे अधिकारपूर्वक ठीक करने के लिए कहें।

कलेक्टर श्री जैन द्वारा ग्राम पंचायत गडरवास में एकत्र सभी ग्रामवासियों से एक-एक समस्याओं की गम्भीरतापूर्वक सुनते हुए उसके तत्काल हल भी बताए। श्री जैन ने कहा कि लोकतंत्र में नागरिकों को अधिकार साथ-साथ अपने दायित्व का भी निर्वहन करना चाहिए। श्री जैन ने ग्रामवासियों से स्वास्थ्य, षिक्षा, पेयजल, सामाजिक सुरक्षा पेंषन, राषन वितरण आदि पर विस्तार से बात की और उनके द्वारा बताई गई समस्याओं के निदान के लिए मौके पर उपस्थित जनपद सीईओ, तहसीलदार, आषाकार्यकर्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता तथा अन्य विभागों के उपस्थित अमले को निर्देश दिए।


SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment