मप्र: शिवपुरी जिले के 26 लोग अभी भी लापता

शिवपुरी। चारों धाम की यात्रा के तीर्थ स्थान केदारनाथ गए शिवपुरी जिले के नरवर Žलॉक अंतर्गत आने वाले ग्राम बनियानी के 18 लोग आज भी लापता है इनका कोई सुराग इनके परिजनों को नहीं लगा और परिजनों की चिंताऐं लगातार बढ़ रही है।
एक ओर आपदा में फंसे लोगों को बाहर निकालने व बचाव के लिए जहां सेना और उžाराखण्ड सरकार कार्य में लगी है वहीं दूसरी नरवर के ग्राम बनियानी के डेढ़ दर्जन लोगों के लापता होने से पूरे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है और भजन-कीर्तन कर इन परिवारों के सकुशली की कामना की जा रही है। इस संबंध में एक आवेदन जिला कलेक्टर व अति.पुलिस अधीक्षक के माध्यम से राहत बचाव दल को भेजा गया जिसमें 18 लोगों में से 11 लोगों के फोटो सहित सूचना भेजी गई है जबकि शेष लोगों के नाम व पते सूचीबद्ध है। पीडि़तों के परिजनों ने जिला प्रशासन से इस ओर सहायता की गुहार लगाई है।

इस परिवार के सदस्य केदार सिंह पुत्र नारायण सिंह रावत निवासी ग्राम बनियानी ने बताया कि  नरवर Žलॉक सीहोर थानांतर्गत आने वाले ग्राम बनियानी के करीब दो दर्जन लोग चार धाम की यात्रा पर गए थे। बीती 15 जून को यह सभी परिवार केदारनाथ के दर्शन करने गए हुए थे कि इसी बीच केदारनाथ में विपदा आ गई और इस विपदा में हजारों लोगों के हताहत की सूचना मिली। इस घटना में नरवर के ग्राम बनियानी के निवासीगण पंजाब सिंह पुत्र पूरन सिंह रावत उम्र 42 वर्ष, हेमराज सिंह पुत्र भवानी सिंह रावत उम्र 55 वर्ष, महिला विष्णुबाई पत्नि हेमराज सिंह रावत उम्र 50 वर्ष, मायाराम पुत्र बादाम सिंह रावत उम्र 55 वर्ष, दशरथ सिंह पुत्र हरप्रसाद रावत उम्र 35 वर्ष, मिžाीबाई पत्नि नबल सिंह रावत उम्र 45 वर्ष, बालाबाई पत्नि नारायण सिंह रावत उम्र 40 वर्ष, नारायण सिंह पुत्र रघुनंदन रावत उम्र 55 वर्ष, देवकुंवर पत्नि रघुवीर सिंह रावत उम्र 54 वर्ष, जमुना बाई पत्नि हरनारायण रावत उम्र 65 वर्ष, लखन सिंह पुत्र फेरन सिंह रावत उम्र 50 वर्ष व बती बाई पत्नि पंजाब सिंह रावत उम्र 45 वर्ष,प्रेमबाई पत्नि सरमन सिंह रावत उम्र 50 वर्ष, मानसिंह पुत्र गजराज सिंह उम्र 53 वर्ष, कलीबाई पत्नि मानसिंह रावत उम्र 48 वर्ष, सियाबाई पत्नि दौलत सिंह रावत उम्र 50 वर्ष, करतार सिंह पुत्र लालाराम रावत उम्र 48 वर्ष, कुुसमा बाई पत्नि करतार सिंह रावत शामिल है। इनके परिवार के केदार सिंह ने बताया कि इन परिजनों से 16 जून की रात्रि करीब 8 बजे आखिरी बार बात हुई थी उसके बाद से इन सभी परिजनों का कोई सुराग नहीं लगा। हालांकि इसके बाद उžाराखण्ड में प्राकृतिक आपदा में हजारों लोग लापता हो गए है। लेकिन इनकी कोई खैर खबर ना मिलने से परिजनों की आस बंधी है कि परिजन लौटक आ जाए। इस संबंध में कलेक्टर व एसपी से आवेदन देकर अपने परिजनों की सुरक्षा व सुरक्षित घर वापिसी की गुहार पीडि़त लोगों के परिजनों ने लगाई है। वहीं कलेक्टर शिवपुरी आर.के जैन ने कहा कि हमारे पास अभी तक 30 लेाग लापता होने की सूचना थी जिसमें से 4 लोग वापिस आ चुके है,तथा 29 जून तक 26 लेाग लापता होने की सूचना फिलहॉल हमारे पास है।

उत्तराखंड में लापता जिले के चार श्रृद्धालुओं के परिजनों को दो लाख की सहायता मंजूर
ग्वालियर 29 जून 2013/ उश्रराखण्ड में लापता हुए जिले के चार श्रृद्धालुओं के परिजनों को रा'य सरकार के दिशा-निर्देशों के तहत कलेक्टर श्री पी नरहरि ने प्रारंभिक तौर पर कुल दो लाख रूपए की राहत राशि मंजूर की है। चन्द्रबदनी नाका क्षेत्र के निवासी इन श्रृद्धालुओं का गत 15 जून से अपने परिजनों से कोई संपर्क नहीं हुआ है। रा'य सरकार के सहायता शिविरों के जरिए भी इनकी बराबर खोज खबर ली गई है। लेकिन अभी तक इनके बारे में कोई सूचना नहीं मिली है।

तहसीलदार श्री डी डी शर्मा ने बताया कि देवनगर चन्द्रबदनी नाका निवासी श्री नाथूराम पाराशर अपनी धर्मपत्नी श्रीमती कमलादेवी और भाई श्री सतीश पाराशर और उनकी पत्नी विमला देवी के साथ गत 5 जून को उश्रराखण्ड की चारधाम यात्रा पर गए थे। गत 15 जून तक इन सभी का संपर्क अपने परिजनों से होता रहा। इसी दौरान उश्रराखण्ड में प्राकृतिक आपदा आ गई और उसके बाद अभी तक इन सभी तीर्थयात्रियों का न तो सरकार के सहायता शिविरों से और न ही परिजनों से कोई संपर्क हुआ है।

रा'य सरकार के दिशा-निर्देशों के तहत लापता श्रृद्धालु श्री नाथूराम पाराशर व श्रीमती कमलादेवी के पुत्र संतोष कुमार व सुनील कुमार को प्रारंभिक तौर पर एक लाख रूपए की राशि मंजूर की गई है। इसी तरह श्री सतीश कुमार व श्रीमती विमलादेवी के पुत्र श्री मनीष कुमार व कमलकिशोर को भी एक लाख रूपए की प्रारंभिक सहायता स्वीकृत की गई है।

विदित हो रा'य सरकार द्वारा उश्रराखण्ड आपदा में फँसे प्रदेश के श्रृद्धालुओं को सुरक्षित निकालने के लिये उश्रराखण्ड रा'य में जगह-जगह सहायता शिविर खोले हैं। साथ ही विशेष विमान से श्रृद्धालुओं को गंतव्य स्थान पर पहुँचाया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि उश्रराखण्ड आपदा में मृत हुए प्रदेश के श्रृद्धालुओं के परिजनों को दो-दो लाख रूपए की सहायता दी जायेगी। रा'य सरकार ने यह भी निर्देश दिये हैं कि जिन श्रृद्धालुओं की कोई खबर नहीं मिल रही है अर्थात जो लापता हैं उनके परिजनों को  प्रारंभिक तौर पर 50 हजार रूपए के मान से सहायता दे दी जाए।

गुलाबी रंग के राशनकार्ड धारियों को मिलेगा एक रुपये प्रति किलो के मान से 20 किलो गेंहू
गुना 29 जून 2013/ बीपीएल योजनान्तर्गत गरीब वरिष्ठ नागरिक एवं वृद्व दंम्पश्रियों को जुलाई माह में खाद्यान्न आवंटित किये जाने हेतु 40.50 क्विंटल गेंहू का पुर्नावंटन जारी किया गया है । जिसमें जनपद पंचायत गुना के लिये 14 क्विंटल, बमोरी के लिये 13 क्विंटल 50 किलो , आरोन के लिये 11 क्विंटल 50 किलो और राधोगढ़ के लिये एक क्विंटल 50 किलो गेंहू शामिल है।

यह गेंहू गुलाबी रंग के राशन कार्डधारियों को प्रतिमाह एक रुपये प्रति किलो की दर से 20 किलो ग्राम प्रदाय किया जायेगा ।






SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment