15 मई से शिवपुरी को 24 घन्टे बिजली

व्ही.एस.भुल्ले/ पिछोर-ग्वालियर म.प्र. 15 मई से शिवपुरी वासियों को 24 घन्टे बिजली दी जायेगी और प्रदेश भर मे गरीबों के सम्मान की जान देकर भी रक्षा की जायेगी। यह कहना किसी और का नहीं,बल्कि म.प्र. के मुख्यमंत्री स्वयं शिवराज का है।

सामाजिक सरोकारों को सर्वो'च शिखर तक पहुंचाने वाले म.प्र. के मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने उक्त बात म.प्र. ग्वालियर संभाग के पिछोर विधान सभा के मुख्यालय पर पिछोर के खचाखच भरे छत्रसाल स्टेडियम में आयोजित अन्तोदय़  मेले में लगभग 50 हजार के करीब उपस्थित जन समूह की भीड़ को सम्बोधित करते हुये कहीं।

उन्होंने कहां कि मैं गरीबों के सम्मान की रक्षा, जान देकर भी करुगां। क्योकि गरीबों की आंखों में भगवान के दर्शन होते है और जनता ही मेरी भगवान और जिन्दगी है।

उन्होंने ने कांग्रेस की दिग्विजय सरकार पर कटाक्ष करते हुये कहा, कि कांग्रेस के जमाने में लाइट आती कम थी, और जाती 'यादा थी, मगर हमारी सरकार ने प्रदेश भर में बिजली का जाल फैला अटल 'योति के माध्ययम से प्रदेश वासियों को 24 घन्टे लाइट महुैया कराने का कार्य शुरु किया है। उसी श्रंखला में 15 मई से शिवपुरी जिले में भी 24 घन्टे बिजली दी जायेगी।

उन्होंने अपनी आदत अनुसार अपनी विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का पिटारा खोलते हुये कहा कि अब न तो ब'चों का भविष्य हम खराब होने देगें। न हीं कोई छात्र शिक्षा या उ'च शिक्षा के लिए भटकेगा और बेरोजगार हाथ रोजगार के आभाव में बेकार रहेगें। हमने ऐसी योजनायें बना, लागू कर रखी है।

उन्होंने ने कहा कि हमारा प्रयास है सरकार के खजाने का पैसा हर गरीब की झोपड़ी, और किसान के खेत तक पहुंचे। और कोई गरीब भूखा न सोये इसके लिये भाजपा की सरकार ने निर्णय लिया है कि 1 जून से गरीबों के लिये 1 रुपया किलो अनाज मुहैया कराया जायेगा साथ ही हमने हमारे बुर्जुगों का परिवार में रहते हुये ठीक से भरण पोषण ठीक से हो और वह सम्मान जनक जीवन जी सके। ऐसे कानून हमने बनाये है। रही बात गरीबों की तो हमने

गरीबों को रहने गांव ही नहीं शहरों मेें भी छत हों ऐसी योजना बनाई है  हमारा प्रयास हमारा है  जिसके तहत जो गरीब वर्षो से झोपड़ी रह रहा है उसे उसी भूमि का पट्टा दिया जाये। तथा जहां फलेट व्यवस्था है वहां सरकार की ओर से 70,000 का अनुदान मुहैया करायेगी।

इतना ही नहीं प्रदेश को देश में ही नहीं विश्व में पहले पायदान पर लाने के लिए हर सम्भव व प्रयास सरकार करेगी। जगह-जगह आई.टी.आई. प्रशिक्षण केन्द्र खोल, लघु,कुटीर उघोग का जाल फैलाया जायेगा।

उन्होंने चीन को कोड कराते हुये कहा कि चीन के विकास में लघु कुटीर उघोगों का बड़ा रोल है। इसलिये सरकार ने 25 लाख रुपये तक के रिण की गारन्टी स्वयं ली है। इतना ही नहीं औद्योगिक विकास के लिए मुरैना,ग्वालियर,शिवपुरी,गुना के औद्यौगिक कॉटीडोर बनाया जा रहा है। उन्होनें खनियाधाना,पिछोर को 2-2 करोड़ और खनियाधाना में महा विद्यालय सहित,पिछोर में महाविद्यालय स्टाफ की कमी पूरी और आई.टी.आई खोलने की घोषणा की। साथ ही नशा मुक्ति के क्षेत्र में पहल करते हुये। उन्होंने प्रदेश में कहीं भी अब नई शराब की दुकान न खोले जाने की घोषणा की।

सरकार के खजाने से सीधे गरीब के गले तक निवाला पहुंचाने वाले मुख्यमंत्री शिवराज का आलम यह था कि समुचे कार्यक्रम के दौरान वह  अपनी पुरानी तफतीश के अलावा अगर चन्द घोषणायें छोड़ दे तो उनके भाषणों में नया कुछ न था। मगर शिवराज को सुनने,देखने जिस तरह से पिछोर में ऐतिहासिक भीड़ जुटी वह किसी चमत्कार से कम नहीं, समझने वाले लोग, यह कहते नहीं थके, कि यह पहला मौका है जब छत्रसाल स्टेडियम बनने के पश्चात खचाखच भरा है। मगर प्रदेश के मुख्यमंत्री से हर मर्तवा की तरह इस मर्तवा भी मीडिया जगत मायूस रहा। क्योकि सामाजिक सरोकरों के शिखर पुरुष,शिवराज लाख मशक्कत के बावजूद प्रेस से मुखातिब नहीं हो सके।


SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment