समर्थन मूल्य पर गेहूँ खरीदी के लिये किसानों का पंजीयन 31 जनवरी तक

ग्वालियर/ आगामी रबी मौसम में समर्थन मूल्य पर गेहूँ उपार्जन के लिये किसानों का पंजीयन जारी है। जिले में अब तक दो हजार से अधिक किसानों का पंजीयन किया जा चुका है। पंजीयन का काम गत एक जनवरी से शुरू हुआ था, जो 31 जनवरी तक जारी रहेगा। जिले में समर्थन मूल्य पर गेहूँ उपार्जन आगामी 15 मार्च से प्रस्तावित है। इस साल लगभग 26 हजार कृषकों का पंजीयन संभावित है। ज्ञात हो पिछले रबी मौसम में भी लगभग इतने ही किसानों ने समर्थन मूल्य पर गेहूँ बेचने के लिये पंजीयन कराया था।

कलेक्टर श्री पी नरहरि ने जिले के सभी राजस्व अधिकारियों को साफ तौर पर ताकीद किया है कि गत वर्ष की भाँति इस साल भी खसरों में शत प्रतिशत फसलों की प्रविष्टि करायें। उन्होंने कहा है कि फसल प्रविष्टि के आधार पर ही किसानों का पंजीयन समर्थन मूल्य पर गेहूँ खरीदी के लिये किया जायेगा। उन्होंने कम्प्यूटर ऑपरेटर और पटवारियों द्वारा कराए जा रहे फसल प्रविष्टि का शत प्रतिशत सत्यापन करने की हिदायत भी दी है। श्री नरहरि ने कहा है इस काम में सभी अनुविभागीय राजस्व अधिकारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, राजस्व निरीक्षक व पटवारी व्यक्तिगत रूचि लें।


जिले में कुल 57 खरीदी केन्द्र


समर्थन मूल्य पर गेहूँ उपार्जन के लिये जिले में इस साल 57 खरीदी केन्द्र निर्धारित किए गए हैं। जिला आपूर्ति नियंत्रक श्रीमती 'योतिशाह नरवरिया ने बताया कि विकासखण्ड डबरा में 18, भितरवार में 20, मुरार में 11 एवं विकासखण्ड घाटीगाँव में 8 खरीदी केन्द्र बनाए गए हैं।


भण्डारण की इस बार विशेष व्यवस्था


समर्थन मूल्य पर खरीदे गए गेहूँ के भण्डारण के लिये सरकार इस बार विशेष व्यवस्था भी करने जा रही है। जिसके तहत 25 हजार मैट्रिक टन की भण्डारण क्षमता वाले 10 सायलो बैग भण्डारण केन्द्र जिले में प्रस्तावित हैं। कलेक्टर श्री पी नरहरि ने सभी तहसीलदारों को इन केन्द्रों के लिये समतल और पानी आदि से सुरक्षित भूमि चिन्हित करने के निर्देश दिये हैं। यह केन्द्र चीनौर, करहिया, भितरवार, हरसी, उटीला, पिछोर, छीमक, करियावटी, सिमरियाताल व घाटीगाँव में प्रस्तावित हैं।


कलेक्टर श्री जी.पी. कबीरंपथी द्वारा 28 आवेदनों पर जन सुनवाई की गई


म.प्र. दतिया। कलेक्टर जी.पी. कबीरपंथी द्वारा आज कलेक्ट्रेट न्यायालय कक्ष में २८ आवेदनों पर जन सुनवाई की गई। जन सुनवाई के दौरान नामान्तरण, बटवारा, नहर, बी.पी.एल. सूची में नाम जोड़ने, आर्थिक सहायता आदि से संबंधित आवेदन आये। जिनके उचित निराकरण के निर्देश कलेक्टर श्री जी.पी. कबीरपंथी द्वारा संबंधित अधिकारियों को दिये गये। जन सुनवाई के दौरान विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

जन सुनवाई के दौरान श्री वीर ंिसंह एडवोकेट द्वारा ग्राम भिटी में तीन में से तीनों हैण्डपंप खराब की शिकायत की। जिसे ई.ई. पी.एच.ई. को सुधार की कार्यवाही के निर्देशों के साथ भेजा गया। श्री मानसिंह जाटव सिरसा द्वारा घरेलू कनेक्शन होने के बावजूद भी बिजली चोरी का प्रकरण बना देने की शिकायत की। जिसे डी.ई. एम.पी.व्ही. को भेजा गया। ग्राम कुम्हेड़ी के श्री निहाल सिंह ने आवेदन दिया कि उन्होंने बुधेड़ा सोसायटी पर ५८ क्विंटल,   ३४.५० क्विंटल गेंहॅॅू दो बार में डाला था जिसका चैक आज दिनांक तक नहीं मिला हैं। कलेक्टर द्वारा ए.आर.सी.एस. को कार्यवाही के निर्देश दिये। ग्राम कुमरिया के श्री पुष्पराज ने शिकायत की महिला बाल विकास परियोजना भाण्डेर द्वारा उनकी बेटी तनया को लाडली लक्ष्मी नहीं बनाया जा रहा हैं। उनके आवेदन के संबंध में जिला महिला विकास अधिकारी को कार्यवाही के निर्देश दिये गये।



कृषि पखवाड़े का आयोजन - उपसंचालक कृषि ने फसलों का निरीक्षण किया  


म.प्र. दतिया। जिले में किसानों को नई-नई कृषि तकनीकों से अवगत कराने तथा उन्नत खेती की ओर उन्मुख करने के उद्देश्य से कृषि पखवाडे का आयोजन किया जा रहा है। जिसके अंतर्गत उपसंचालक कृषि डी. आर. राजपूत द्वारा ग्राम सिरौल पहुंचकर फसलों का निरीक्षण किया और किसानों को उपयोगी सलाह दी। श्री राजपूत ने ग्राम सिरौल में बीज उत्पान कार्यक्रम का भी निरीक्षण किया। बीज उत्पादन के अंतर्गत किसानों द्वारा ८० हैक्टेयर में गेंहॅू की जी.डब्लू, ३६६, जी.डब्लू ३२२, आर.बी. डब्लू ४१०६, एम.पी. १२०३ आदि फसलें बोई गई। जबकि चने की जेजी १६ व जेएकेआई ९२१८ फसलें बोई गई है। उपसंचालक कृषि द्वारा फसलों में समय-समय पर सिंचाई, खरपतवार नियंत्रण, रोग नाशक, दवायें छिड़कने की सलाह दी। फसलों के निरीक्षण के दौरान ग्राम के श्री बहादुर सिंह, श्री मलखान सिंह, श्री सिरोमन सिंह आदि कृषि मौजूद रहे।

 उन्होंने कहा कि प्रतिदिन तापमान गिरता जा रहा हैं तथा शीतलहर भी चल रही है। ऐसी स्थिति में फसलों को पाला एवं शीत लहर से क्षति होने की संभावना पैदा हो गई है। इसलिए उपसंचालक दतिया द्वारा सभी अधीनस्थ अमले को निर्देश दिये गये है कि वे किसानों को पाला एवं शीतलहर से फसलों के बचाव हेतु सलाह दी है कि फसलों के चारो  ओर सायंकाल के समय धुआं करें जिससे पाला से बचा जा सके, यथा सम्भव फसलों में सिंचाई की जावे, जहां तक संभव हो स्प्रिंकलर सिस्टम से सिंचाई करना लाभप्रद होगा, सरसों की फसल में माहो आदि का प्रकोप दिखने पर कीटनाशक दवा मानो कोटोफास ट्राजोफास दवा ८०० मिली. से १ लीटर दवा १०० लीटर पानी में घोल बनाकर प्रति हैक्टेयर क्षेत्र में छिड़काव करें।



कलेक्टर द्वारा स्कूलों में 11 जनवरी तक अवकाश घोषित


म.प्र. श्योपुर 08 जनवरी 2013 कलेक्टर श्री ज्ञानेश्वर बी पाटील द्वारा श्योपुर जिले में तापमान में अत्याधिक गिरावट तथा शीतलहर में लगातार हो रही बृद्वि के कारण समस्त प्राथमिक एवं माध्यम विद्यालयों में कम उम्र के विद्यार्थियों के स्वास्थ पर पडने वाले विपरीत प्रभाव की संभावना को ध्यान में रखते हुये जिले के समस्त शासकीय, अशासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक स्तर तक की शिक्षण संस्थाओं में 9 जनवरी 2013 से 11 जनवरी 2013 तक अवकाश घोषित किया है।


फौजी की शिकायत पर कलेक्टर ने पटवारी को किया निलंबित


म.प्र. भिण्ड 8 जनवरी 2013/ साहब, मेरी मदद कीजिए! मेरे प्लाट की रजिस्ट्री हुए तीन साल हो गए, परन्तु पटवारी और राजस्व निरीक्षक द्वारा प्लाट का नामांतरण नहीं किया जा रहा है। व्यथित शब्दों में यह फरियाद आज यहां जनसुनवाई में रौन निवासी श्री जगतपाल सिंह ने कलेक्टर श्री अखिलेश श्रीवास्तव से की। उसने कलेक्टर को बताया कि उसने भिण्ड में एक प्लाट खरीदा है, जिसके नामांतरण के लिए वह लगातार भटक रहा है। कलेक्टर श्री श्रीवास्तव ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए उसी समय पटवारी श्री योगेश शर्मा को निलंबित करने के अपर कलेक्टर को निर्देश दिए और जगतपाल सिंह के प्लाट का तीन दिन में नामांतरण करने के तहसीलदार भिण्ड को निर्देश दिए ।

भिण्ड निवासी श्री नारायणीदेवी और गोहद चौराहा निवासी श्रीमती शहनाज बानो ने कलेक्टर से शिकायत की कि उनके ससुरालवालों द्वारा उन्हें लगातार प्रताडि़त किया जा रहा है और उन्हें दहेज लाने के लिए परेशान किया जाता है। उन्होंने ससुरालवालों की प्रताडऩा से मुक्ति दिलाने की कलेक्टर से फरियाद की। कलेक्टर ने इन दोनों महिलाओं के ससुरालवालों के खिलाफ घरेलू हिंसा अधिनियम के अन्तर्गत मामले दर्ज कराने के जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास को निर्देश दिए।

चिरोल निवासी श्री रामप्रकाश ने कलेक्टर को अपनी व्यथा सुनाते हुए बताया कि उसकी पत्नी के गर्भाशय में कैंसर है और वह गरीबी के कारण उसका इलाज नहीं करा पा रहा है। उसने पत्नी का ईलाज कराने में मदद देने की कलेक्टर से फरियाद की। कलेक्टर ने रामप्रकाश की पत्नी का समुचित ईलाज करने के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए। सुरपुरा निवासी परशुराम गोस्वामी ने कलेक्टर से शिकायत की कि पटवारी व राजस्व निरीक्षक द्वारा उसके खेत का सीमांकन नहीं किया जा रहा है। उसने अपने खेत का सीमांकन कराने हेतु उचित कदम उठाने की कलेक्टर से फरियाद की। कलेक्टर ने इस गंभीर लापरवाही के लिए पटवारी व राजस्व निरीक्षक को कारण बताओ नोटिस जारी कर उनके खिलाफ कार्रवाई करने के अपर कलेक्टर को निर्देश दिए।

ग्राम डगर निवासी श्री विजय सिंह ने कलेक्टर से क्षेत्र के पटवारी की शिकायत करते हुए बताया कि पटवारी उसको भू-अधिकार पत्र एवं ऋण पुस्तिका नहीं दे रहा है। विजय सिंह ने भू-अधिकार पत्र एवं ऋण पुस्तिका दिलवाने की कलेक्टर से गुहार लगाई। कलेक्टर ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए अपने समक्ष पेशी के लिए पटवारी को नोटिस जारी करने के अपर कलेक्टर को निर्देश दिए। भिण्ड निवासी कु.आरती जाटव ने कलेक्टर को बताया कि वह एक निजी महाविद्यालय में पढ़ती है। मगर गरीबी के कारण वह अपनी फीस नहीं दे पा रही है जबकि वह अपनी आगे की पढ़ाई पूरी करना चाहती है। उसने फीस माफ करवाने में मदद देने की कलेक्टर से फरियाद की। कलेक्टर ने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व भिण्ड को निर्देश दिए कि वे उक्त महाविद्यालय के संचालक से बात कर आरती जाटव की फीस माफ कराना सुनिश्चित करें। दबोहा निवासी कैलाश शर्मा ने अपना नाम बीपीएल सूची में शामिल करने और बीपीएल राशन कार्ड बनवाने की कलेक्टर से फरियाद की। कलेक्टर ने कैलाश शर्मा का नाम बीपीएल सूची में शामिल करने और उसको राशन कार्ड बनवाने हेतु उचित कार्रवाई करने के तहसीलदार को निर्देश दिए।

भिण्ड निवासी संगीता जैन ने कलेक्टर को अपनी व्यथा सुनाते हुए बताया कि उसके पति की मृत्यु के बाद लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा उसको न तो अनुकम्पा नियुक्ति दी जा रही है और न ही उसको पेंशन का भुगतान किया जा रहा है। उसने इन मामलों में तत्काल उचित कार्रवाई करने की कलेक्टर से फरियाद की। कलेक्टर ने इस प्रकरण में तत्काल कार्रवाई करते हुए संगीता जैन को अनुकम्पा नियुक्ति देने और पेंशन का भुगतान करने के कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को कड़े निर्देश दिए। कनाथर निवासी विकलांग श्री रतीराम ने विकलांग पेंशन  स्वीकृत  करने  की  कलेक्टर  से गुहार लगाई। कलेक्टर ने रतीराम को विकलांग पेंशन स्वीकृत करने हेतु प्रकरण तैयार करने के उप संचालक सामाजिक  न्याय  को निर्देश दिए। खनेता निवासी दाताराम ने एक दबंग द्वारा अपने खेत में जबरदस्ती पेड़ काटने की ओर कलेक्टर का ध्यान आकर्षित कराते हुए इस मामले में तत्काल उचित कार्रवाई करने का उनसे अनुरोध किया। कलेक्टर ने इस मामले में जल्द उचित कदम उठाने के तहसीलदार गोहद को निर्देश दिए।
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment