विजयाराजे सिंधिया क्रिकेट टूर्नामेंट: सालवॉन स्कूल दिल्ली बनी विजेता

म.प्र. शिवपुरी। हैप्पीडेज स्कूल शिवपुरी खेले जा रहे श्रीमंत विजयाराजे सिंधिया इंटर स्कूल क्रिकेट टूर्नामेंट सालवॉन पब्लिक स्कूल दिल्ली ने जीता। क्रिसमस-डे पर आयोजित फाइनल मैच में सालवॉन स्कूल की टीम ने हैप्पीडेज स्कूल शिवपुरी की टीम को २९ रनों से हराया। सालवॉन स्कूल की टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेवाजी करने का निर्णय लिया।

उनके सलामी बल्लेवाजों निखिल एवं अपूर्व ने पहले ओवर में ही एक चौका औैर छक्का लगाकर अपनी टीम को शानदार शुरूवात दी लेकिन हैप्पीडेज स्कूल के लिये शैलेन्द्र, रविन्द्र आर जौवनजीत ने दो-दो विकेट लेकर सालवॉन को मुश्किल में डाल दिया। विपरीत परिस्थितियों में सालवॉन पब्लिक स्कूल के परवीन ने शानदार ३० रन बनाये और अपनी टीम का कुल स्कोर ११३ रनों पर पहुंचा दिया। 

११४ रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुये हैप्पीडेज स्कूल की टीम, उज्जवल की घातक गेंदबाजी के सामने केवल ८४ रनों पर सिमट गई। उज्जवल ने ४ ओवरों में मात्र ११ रन देकर ३ महत्वपूर्ण विकेट लिये। इस प्रकार सालवॉन पब्लिक स्कूल, दिल्ली की टीम ने यह मैच २९ रनों से जीत कर श्रीमंत विजयाराजे सिंधिया ट्रॉफी पर अपना कब्जा जमाया। सालवॉन के उज्जवल को मैन ऑफ द मैच एवं हैप्पीडेज स्कूल के सारांश भार्गव को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया। 

विजेता एवं उपविजेता टीम को जी.वी. कन्सट्रक्शन, शिवपुरी के सी.ई.ओ. संजय गौतम कीे ओर से क्रमशः ११००० रूपये एवं ५१०० रूपये का नगद पुरस्कार दिया गया।

समापन समारोह में दीवान सुरेन्द्र लाल जी मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। इनके साथ ही संचालिका श्रीमती गीता दीवान, श्रीमती ऊमी दीवान, दीवान अरविन्द लाल जी, श्री ए. एस. पुरी, श्री अश्वत मेहरा, कर्नल पुरी, दीवान अर्जुनलाल, अदिती दीवान, विद्यालय के प्राचार्य श्री एस. कुण्डु, गिरीश मिश्रा सहित विभिन्न विद्यालयों के प्राचार्य, शहर के गणमान्य नागरिक तथा खेल प्रेमी उपस्थित रहे। आज के फाइनल मैच में अंपायरिंग कमल बाथम एवं हेमन्त द्वारा की गई जबकि स्कोरर संजय सिंह एवं चेतन चौहान थे।

बलात्कार की घटनाओं के खिलाफ सड़कों पर उतरे कांग्रेसी : जताई नाराजगी


श्योपुर।
देश की राजधानी दिल्ली में घटित अभी तक के सबसे शर्मनाक और जघन्य बलात्कार को लेकर आम जनमानस में आए देशव्यापी उबाल के बीच कांग्रेस ने मध्यप्रदेश सरकार पर बलात्कारों और छेड़छाड़ जैसी वारदातों के मामलों में नाकाम होने का बिगुल फूंक दिया है। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा संगठनात्मक स्तर पर लिए गए इसी निर्णय के अनुपालन में विगत सोमवार को जिला मुख्यालय की सड़कों पर उतरते हुए बलात्कार और छेड़छाड़ की ताबड़तोड़ घटनाओं के खिलाफ अपने रोष व असंतोष का इजहार किया तथा कानून-व्यवस्था और महिला संरक्षण के मोर्चे पर प्रदेश की भाजपा सरकार को अन्यान्य मोर्चों की तरह नाकारा साबित करने का प्रयास किया। जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष तथा क्षेत्रीय विधायक बृजराज सिंह चौहान की अगुवाई में बलात्कार की घटनाओं के विरोध में सड़क पर उतरकर मशाल जुलूस के रूप में विरोध प्रदर्शन करने वालों में कांग्रेस की विभिन्न संगठनात्मक इकाइयों के तमाम नेता व कार्यकर्ता शामिल रहे। नगरी के ह्रदय स्थल जयस्तंभ चौक से आरंभ हुआ यह मशाल जुलूस अंतत: जयस्तंभ पहुंचकर ही सम्पन्न हुआ जहां विधायक श्री चौहान ने प्रदेश की भाजपा सरकार की विफलताओं को गिनाते हुए महिला उत्पीडऩ के मामलों में बेतहाशा बढ़ोžारी पर चिंता जताई। उल्लेखनीय है कि हाल ही में जो आंकड़े सामने आए हैं उनके मुताबिक बलात्कार, छेड़छाड़ और उत्पीडऩ जैसे मामलों में मध्यप्रदेश देश के अन्यान्य रा'यों में अव्वल बना हुआ है। यह और बात है कि इस तरह के कलंक से निजात पाने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कुछ प्रभावी कदम उठाए जाने का ऐलान किया है जिनका सफल क्रियान्वयन ही प्रदेश की महिलाओं को सुरक्षा का विश्वास दिला सकता है, बशर्ते मुख्यमंत्री का यह ऐलान अन्यान्य घोषणाओं जैसा साबित होकर ना रह जाए।


बेतरतीब प्रणाली और उद्दण्ड कर्मचारी: आधार कार्ड बनवाने हेतु फजीहत भोग रहे हैं लोग


श्योपुर।
भारत सरकार के गृह मंत्रालय की ओर से नागरिक की पहचान सुनिश्चित किए जाने के मकसद से लागू की गई आधार कार्ड योजना श्योपुर जिले में जहां कुछ केन्द्रों पर सलीके से संचालित हो रही है वहीं वार्ड क्रमांक-03 में छारबाग मोहल्ले में संचालित केन्द्र पर तैनात कारिंदों की बेतरतीब कार्य-प्रणाली के चलते योजना अफरा-तफरी का शिकार बनी हुई है। 

एक स्वयंसेवी संगठन के हाथों संचालित इस योजना में छारबाग केन्द्र पर तैनात किए गए कर्मचारियों की गज भर लम्बी जुबान और उद्दण्डतापूर्ण कार्यप्रणाली के चलते आम नागरिकों को खासी फजीहत भोगने पर मजबूर होना पड़ रहा है। इसी का जीता-जागता प्रमाण सोमवार को उक्त केन्द्र पर दिखाई दिया जहां सम्बद्ध संस्था का एक अदना सा कर्मचारी आधार कार्ड बनवाने के लिए भरे हुए प्रपत्र और जरूरी अभिलेखों के साथ खड़े लोगों को हड़काने और चलता करने पर आमादा बना रहा। 

पूछताछ किए जाने पर खुद को केवल गृह मंत्रालय के प्रति जवाबदेह बताने वाले उक्त कर्मचारी का कहना था कि वो काम अपनी सहूलियत के आधार पर करेंगे और इसके लिए कोई उन्हें फांसी पर तो चढ़ा नहीं सकता। यह स्थिति तब निर्मित हुई जब भरे हुए प्रपत्रों को जमा करने और खाली प्रपत्र हासिल करने के लिए केन्द्र पर पहुंचे नागरिकों ने केन्द्र की कार्यप्रणाली और समय के बारे में पूछताछ करते हुए अपनी जिज्ञासाओं को शांत करने का प्रयास किया। 

कर्मचारी का कहना था कि खाली प्रपत्र वितरित करने और भरे हुए प्रपत्रों को जमा करने का समय दोपहर 12.00 से 01.00 बजे तक का है और यह देखना उनका अपना काम है कि एक घण्टे की अवधि में वह इस काम को कैसे निपटाते हैं। इस पर जब एक बुजुर्ग नागरिक ने दोपहर 12.00 बजे केन्द्र के न खुलने और उक्त कर्मचारी के 01.00 बजे के बाद आने की शिकायत दर्ज कराई तो इस बात को पूरी दबंगता के साथ स्वीकारते हुए कर्मचारी ने कहा कि यह सही है लेकिन नागरिकों को कार्ड बनवाना है तो उन्हें 12.00 से 01.00 बजे के बीच ही आना होगा चाहे केन्द्र खुले या बंद रहे। गलती करने और गुर्राने से सम्बद्ध इस मामले ने मौके पर मौजूद आधा सैकड़ा से अधिक लोगों को स्तŽध बनाने का काम किया।

10 मार्च महाषिवरात्रि पर होगा सर्वजातीय सामूहिक विवाह सम्मेलन


दतिया।  नगर से १० किलोमीटर दूरी पर स्थित नगर पंचायत बड़ौनी में सर्वजातीय सामूहिक विवाह सम्मेलन महाषिवरात्रि १० मार्च को आयोजित किया जायेगा। यह जानकारी लवकुष कुषवाह समाज सेवी संस्था बड़ौनी के अध्यक्ष डॉ.वनमालीप्रसाद कुषवाह ने दी। उन्होंने बताया कि इस महा सम्मेलन के मुख्य अतिथि प्रदेष के केविनेट मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र, विषेश अतिथि श्रीमती कृष्णा कुषवाह नगरपालिका अध्यक्ष दतिया, संतोष सरपंच डबरा जबकि अध्यक्षता श्रीमती प्रभादेवी अध्यक्ष नगरपंचायत बड़ौनी करेंगी।

कार्यक्रम हलन्दर छोटी बड़ौनी  प्रातः ८ बजे से आयोजित होगा। इस आयोजन में वर-वधु को दिए जाने वाले प्रमुख उपहार कलर टीवी, बक्सा, पंखा, चार कुर्सी सेट, वर-वधु के कपड़े, चॉंदी जैवर, वर्तन, पलंग, सूटकेष, दीवाल घड़ी आदि प्रमुख रहेंगे। दोनों पक्षों के २५-२५ लोगों की भोजन की व्यवस्था रहेगी। विवाह हेतु प्रमुख षर्तें होंगी दिनांक २०-२-१३ को वर-वधु की आयु २१ वर्ष व वधु की आयु १८ वर्ष होना अनिवार्य है। आवेदन करने के लिए वर-वधु के ६-६ फोटो व पालकों के २-२ फोटो जो कि षपर्थ पत्र पर लगाना आवष्यक है। राषनकार्ड की छाया प्रति व आयु प्रमाण-पत्र या दोनों की अंकसूची अनिवार्य है। पंजीयन हेतु डॉ.वनमाली प्रसाद कुषवाह मोवाइल नं.९६३०४३७४४४ खलक सिंह मोवा ९९७७८०५०६९, संतोश कुमार मोवा ९९२६८१२१६३, जसवंत कुषवाह मोवा९६६९४८०५७४ पर सम्पर्क कर सकते हैं। 
SHARE
    Your Comment

0 comments:

Post a Comment