अन्धों की बस्ती, नबाबों की बारात

व्ही.एस.भुल्ले/  तीन पीढिय़ों का दंश लिये आंखों में सुनहरे सपने लिए देश की आधे से अधिक आबादी आज शासकील जलशों और हुकारों को सुन नवावी अदावत...

व्ही.एस.भुल्ले/ तीन पीढिय़ों का दंश लिये आंखों में सुनहरे सपने लिए देश की आधे से अधिक आबादी आज शासकील जलशों और हुकारों को सुन नवावी अदावत,शानों ,शौकतके जुमले आज भी इतराई नहीं थकती, लगता है। 600 वर्ष की गुलामी आज भी रंगों में स्वाभिमान बन कर दौड़ती है।

नहीं तों क्या बता है कि लेागों के खून पसीने की कमाई को समेट चंद लेाग स्वतंत्र लोकतंत्र की दुहाई दे आय दिन इन गरीबों पर चड्डी गांठते नहीं थकते हॉलात यहां तब पहुंच चुके  है। कि ग्लोबलाइजेशन आर्थिक विकास के नाम पूरी भारतीय संस्कृति सभ्यता को टॉप टू वॉटम झूठे स्वाभिमान की आग की दलाली में झोंक दिया है। क्या शासकीय क्या अशासकीय किसान,मजदूरों को भी इन सžाा लोलुपों ने अपने नागपास में जकड़ रखा है। अगर इस मौके पर यह कहें कि 600 वर्ष की गुलामी पथराई आंखें,अन्धों की वस्ती में नवावी बारात तो कोई अति संयोक्ति न होगी।

भैये- तने आखिर कै कैड़ा चावे कै मारे देश में सब कुछ अंग भंग हो लिया जो तू बड़ी ही निराशा वादी फिžिायां केजरीवाल की तरह कस रहा है।

भैया-चुप कर खबरदार जो तू मारे केसरी के खिलाफ बोला तो बोलना है। तो मारे बैचारे गडकरी जी व्यथा पर बोल अगर कुछ माल मसाला थारे पास भी हो तो हम सूराओं की बस्ती में खोल आखिर मारे महान गडकरी ने थारा क्या विगाड़ा है। बोलना है तो क्लीन चिट पा चुके मारे वाड्रा साहब के बारे में बोल जब सारा देश अंग भंग लेागों के पैसा खाने वालों के बारे में बोल रहा है। ऐसे में हमारे भाई सलमान पर बोल वैसे थारे को मैं एक टिप्स देना चाहुं। इस बेबड़े माहौल में जो भी बोलना हो सलहलकर बोल क्योकि अभी हॉल ही में भाई सलमान सौ करौड़ से अधिक की मानहानी के दावे बोलने वालो के खिलाफ ठोक चुके है। वैसे अन्दर खाने की खबर तो ये है। कि किसी पर कुछ भी बोल गर थारी पार्टी पंजे वाली हो तो केजरीबाल टीम के खिलाफ कुछ भी न बोल क्योकि मूड़धन्यों का मत है। कि इससे केजरीबाल टीम का जनता के बीच बजन बढ़ता है।

भैये- तो क्या मैं रा'य उत्सव,स्थापना दिवसों पर गरीबों के खून पसीने के करोड़ों फूक ठुमके देखने वाले म.प्र. छžाीसगढ़ के महापुरुषों को भूल जाऊ जिनके प्रदेश मे आज भी गरीबी के चलते अध नंगे लेाग घूमते है। सर पर छत नहीं इसलिये झोपड़पट्टी या खुले आसमान में रहते है।

भैया- कहा तू मदारियों कीबस्ती में घुस गया। कै थारे को मालूम कोणी म.प्र. में 3 लाख करोड़ के उघोग लगने कितनी लग्झरी बैठक हुई जिसमें स्व.धीरु भाई के वंशज सहित,गोदरेज,बिड़ला,एस्सार और न जाने किन-किन वंशजों ने भाग लिया। वहीं एक करोड़ 10 लाख मेें एक गत ठुमके लगाने और छžाीसगढ़ को रा'य उत्सव को चार चांद लगाने वाली बैवो पैसे पहले न मिलने पर कानून धुड़की पिला डाली रा'य उत्सव कर्žााओं को फिर भाया भारत कोई म.प्र. छžाीसगढ़ में ही थोड़ा बसता है 30 प्रदेश कई कैन्द्र शासित प्रदेशों वाले देश की बात कर। और अन्धो की वस्ती में नवावों की बारात की कड़ी हल कर ।

भैये- निशक्तजन बोल वरना शŽदावली को लेकर मारे महानपुरुषों की टोली को ले झन्डे पत्थर ले मारे घर पहुंच जायेगी। अब सलमान भाई कानून मंत्री नहीं विदेश मंत्री है। नहीं तो थारे खिलाफ भी मानहानि हो जायेगी। तू ठहरा पन्ने वाला कहां से देगा करोड़ों लाखों हजारों के तो लाले है। और तूने तो गुर्गे भी नहीं पाले है। जो तेरी कुटती मिट्टी पर ही चार शŽदों के पत्थर कहीं फेंक आये।  वरना गाल बजाने तो वालों की कहां कमी है। इतना तो कह देंगें खूब रही।

भैया-तने तो जरा सी बात पर इतना लम्बा चौड़ा लेक्चर दे लिया चलों निशक्त ही सही पथराई आंखे में सपनों की उम्मीद यही लेाकोक्ति बता।

भैये-सुनना चावे तो सुन जहां तक निशक्तजन का सबाल तो सबसे 'यादा निशक्त तो थारे जैसे चिन्दी पन्ने वाले है। उससे बड़े विपक्ष वाले सबसे बड़े वो देश भक्त जो घर बार छोड़ सड़क पर चिल्लाने वाले है। जिन पर सžाा में बैठे लेाग या सžाा की आड़ में देश की मलाई लूटने वाले वो कॉपरेपरेट दुनियां के लेाग है जो भोले भाले देश बासियों को वर गला नंगे भूखे,गरीबों को लालच दिखा खुद के ही देश में अपनों को ही अपनो से लुटवाने का गुर सिखा रहे है। धन्यवाद के पात्र है। हमारे देश के वो उघोगपति जो खुद की जैबे भरने अहंकार के चलते देश की ही जड़ों में मठाडाल अपने यसोगान गबबा रहे है। व्यापार तो पहले भी था उपभोक्ता तब भी थे। मगर इनसानियत को तार-तार कर व्यापार के नाम देश में जो लूट का दौर शुरु हुआ उसने आम भले सरीफ इन्सान का जीवन दूभर कर दिया है। बाजार जिस भी वस्तु का हो सभी जगह जमकर कमीशन खोरी और कमाये धन पर अस्यासी चल रही है। भारत जैसे देश में ऐसा नहीं की भ्रष्टाचार कमीशन खोरी सžाा में बैठे कुछ नेता नौकरशाहों तक सीमित हेा यह कमीशन खोरी भ्रष्टाचार टॉप तू वॉटम चल रही है।यहीं हॉल प्रायवेट सेक्टर का है। चाहे आप बजरी,सीमेन्ट,लोहा पुताई रंग,फर्नीचर,बिजली सामग्री,नल सामग्री,दवाईयां,खादय़ सामग्री सभी में जबरदस्त कमीशन खोरी चल रही अब तो मजदूरी में भी कमीशन के पैर चल निकले है। कैसे बेचेगा आम इन्सान बड़ी कम्पनियां डीलरों को पैकेज दे विदेश घुमाने के नाम अस्यासी को उक्साती है। वहींं डीलर टॉरगेट पूरा करने मजदूरों को अपना सामान ओना पौन दाम विचवाने कहीं होटलों में खाना तो कहीं उपहार या नगद कमीशन खिलाती है। यह सब हर व्यक्ति की आंखों के आगे चल रहा है। मगर दिख किसी को नहीं रहा।

यहीं हॉल बैंको का है। हर बैठक एक-एक सर्च एजेन्ट,मूल्यांकन एजेन्ट,प्रोसेसिंग फीस,शासकीय फीस निर्धारित है। उपभोक्ता को वहां भी मुंह मांगा पैसा देना पड़ता है। स्वयं को खुदा की खुदाई मानने वाले बैंको में भी आम उपभोक्ता निशक्त जैसे कड़ा है। अब ऐसे में हमारे सžाा धारी कहे हम जनता के सेवक है। विकास हो रहा है। सम्पन्नता आई है। तो यह निशक्तों की बस्ती में नवावों की बारात से कम नही।ं रहा सबाल पथराई आंखों में सपनों की उम्मीद तो भैये आजादी के पूरे 65 वर्ष गुजर गये इन 65 वर्षो से पूरी 3 पीढिय़ां संघर्षरत रही देश की आधे से अधिक आबादी के लोग वे तब भी गरीब थे अब भी गरीब है अगर ऐसा ही कुछ चलता रहा तो गरीबी को भी इस देश में नया नाम ढूढना पढ़ेगा।

ऐसे में मात्र 26 रुपये प्रति व्यक्ति आय प्रतिदिन बताने वालो से क्या उम्मीद इससे तो पथराई आंखे ही बेहतर कम से कम सपने तो देखे जा सकते है। धन्य हो नवावों की टोली और मूढ़धन्य बने रहे मारे निशक्तजन।


कैरोसिन डीलरों की मनमानी से राशन कार्ड उपभोक्ता परेशान


भाण्डेर, दतिया। स्थानीय प्रशासन की अनदेखी के चलते राशन कार्ड उपभोक्ता शासकीय उचित मूूल्य की दुकानों पर सुबह से पहुँचकर दोपहर तक एवं शाम के वक्त 3 बजे पहुँचकर 7 बजे तक इंतजार करता है। आखिर इन्तजार करता हुआ अपने घर वापिस आ जाता है। उसे शासकीय उचित मूल्य की दुकान जिनका खुलने का समय सुबह 7 से 12 एवं शाम 3 से 7 बजे तक बोर्डो पर अंकित किया गया है। स्थानीय प्रशासन के द्वारा कभी शासकीय उचित मूल्य की दुकानो का निरीक्षण नही किया गया न ही खाद्य विभाग की टीम द्वारा इसको जरूरी समझा गया कि समय समय पर दुकानो का निरीक्षण होता रहे। ऐसा ही माजरा आवेदक द्वारा एस डी एम को दिये गये शिकायती आवेदन मे बताया गया कि  ज्योति एण्ड संस रिटेल कैरोसिन डीलर द्वारा जिसका लायसेन्स नंबर 142 है और जिसकी संचालक श्रीमती सुनीता उपाध्याय है के द्वारा अपने पति अशोक उपाध्याय को बिठाला गया है और वह दुकान पर आने वाले राशनकार्ड धारियों के साथ मिट्टी का तेल मागने पर अभद्रता पूर्ण बातें करते है और तेल देने से मना कर देते है। कई ऐसे राशन कार्ड धारी भी है जिन्हें 6 - 6 माह से तेल नही मिला है। चूंकि दुकान संचालक दबंग होकर राजनीतिक संरक्षण प्राप्त व्यक्ति है अतः स्थानीय प्रशासन भी कार्यवाही करने से पीछे हट जाता है। एस डी एम को कई बार शिकायते की गयी राशनकार्ड धारियेां के द्वारा  लिखित एवं मौखिक रूप से स्थानीय प्रशासन को अवगत कराया गया लेकिन इन्होने भी भोेली भाली जनता का भी दुख नही समझा क्योंकि कैरेासिन की कालाबाजारी के चलते मिटटी का तेल खुले आम 35 से 40 रूप्ये प्रति लीटर मार्केट मे बिक रहा है और इसका एक मोटा हिस्सा शायद काला बाजारियेां के माध्यम से स्थानीय प्रशासन को भी जाता हो क्योंकि कैरोसिन की राशन कार्ड पर वास्तविक कीमत 15 रूप्ये प्रति लीटर है और कालाबाजारी का प्रति लीटर इजाफा 20 से 25 रूपये है।

यदि यही माजरा चलता रहा तो आने वाले समय मे शायद ही कोई गरीब तबका शासकीय उचित मूल्य की दुकान से कोई भी सामग्री यदि खरीद पाये तो ही है। जबकि म.प्र. सरकार द्वारा नित्य गरीबो के हितो मे नयी नयी घोषणायें एवं योजनायें लागू की जा रहीं है शायद ही है कि इन येाजनाओं का भविष्य मे भी भ्रष्टाचारी के चलते सही क्रियान्वयन हो स्थानीय प्रशासन को शीघ्रता से इस ओर ध्यान देना चाहिए।

इनका कहना है-

मैने तहसीलदार को कार्यवाही के लिए आदेशित कर दिया है और वह जाँच कर रहे है।

अनिल व्यास

एस.डी.एम. भाण्डेर

नगर पंचायत की अनदेखी के चलते पाईप लाईन से निकाले जा रहे रेत भरे डम्फर


भाण्डेर - तहसील मुख्यालय से लगभग 1 किलो मीटर दूर लहार रोड स्थित रिपटा घाट पर रेत के उठाव को लेकर लगभग 25 से 30 डम्फर निकलते है। जो कि भाण्डेर शहर को पेयजल उपलब्ध कराने वाली एक अकेली पाईप लाईन से होकर निकाले जा रहे है। जिससे भाण्डेर शहर कभी- भी पानी विहीन हो सकता है। खास बात यह है कि इस ओर न तो किसी नगर पंचायत अधिकारी का और न ही किसी कर्मचारी का ध्यान गया कि जो डम्फर पाईप लाईन से होकर गुजर रहें है उन डम्फरो ंका वजन क्षमता से अधिक होने के कारण उनको न तो अभी तक बन्द करया गया और न ही डम्फर चालको पर नगर पंचायत प्रशासन ने कोई कार्यवाही की। यदि समय रहते हुये नगर पंचायत द्वारा कोई ार्यवाही नही की गई तो भाण्डेर क्षेत्र की जनता जल विहीन हो जायेगी और पानी के लिए त्राही-त्राही मच जायेगी।



इनका कहना है

जब नगर पंचायत अधिकारी से स्थानीय संवाददाता द्वारा बात की गई तो उनके द्वारा बताया गया कि लाईन से डम्फर निकाले जा रहे है या नही मुझे पता नही है पहले जहाँ डम्फर निकाले जा रहे थे वहाँ पुलिया थी यदि ऐसा है तो दिखवा कर डम्फर चालको पर कार्यवाही की जायेगी।

एम.पी.दीक्षित, सी.एम.ओ. नगर पंचायत भाण्डेर



आवेदन देने के बाद भी नही होती है पुलिस कार्यवाही


भाण्डेर - देश भक्ति और जन सेवा का नारा देने वाली म0प्र0 की पुलिस जनता के प्रति कितनी सजग रहती है यह इस बात से अनुमान लगाया जा सकता है कि एक आवेदक गनेशीलाल वर्मा ने पुलिस को आवेदन दिया कि उसकी कृषि भूमि नम्बर 68,69,70,72 मौजा बरकीसरांय में स्थित है जो पहुज नदी घट के पास स्थित है जिसके आराजी क्रं. 68 में कृषि यंत्र आदि रखने के लिए कमरा बना हुआ है जिस पर वहाँ खदान संचालित करने वाले ठेकेदार ने जबरन ताला तोड़कर उस पर कब्जा कर लिया है और कृषियोग्य भूमि को एल.एन.टी. मशीनो एवं डम्फरो द्वारा नुकसान पहुँचा रहे है। इस पर पुलिस थाना भाण्डेर एवं  एस.डी.ओ.पी. कार्यालय भाण्डेर को दिये गये आवेदन में एक्त बात को बताया गया लेकिन देश भक्ति और जन संवा का नारा देनेवाली म0प्र0 पुलिस ने आवेदक की एक भी बात नही सुनी और उसको चलता कर दिया। यहाँ बताना मुनासिब है कि उक्त ठेकेदार दबंग होने के साथ-साथ पैसे की दम पर अधिकारियों को अपने बस में किये हुए है। चाहे वो पुलिस प्रशासन हो या स्थानीय प्रशासन।

इस सम्बंध में जब एस.डी.ओ.पी. से पूछा गया तो उनके द्वारा बताया गया  िकइस प्रकार की शिकायतो पर जाँच करने क अधिकार तहसीलदार को है यदि तहसीलदार पुलिस को अवैध खनन के बारे में आदेश करें तो पुलिस अवैध उत्खनन को बंद कराने में पीछे नही हटेगी।

एन.के.परिहार

एस.डी.ओ.पी. भाण्डेर



जबरन मकान में किया कब्जा, दी जान से मारने की धमकी


भाण्डेर - आवेदक शिवदयाल साहू पुत्र गिल्ले साहू निवासी घटिया बाजार भाण्डेर ने एक प्रर्थना पत्र पुलिस थाना भाण्डेर को दिया जिसमें बताया गया कि 1 बजे राधाचरण कुशवाहा निवासी कैलिया जिला जालौन हाल निवास सरसई रोड भाण्डेर कुछ गुण्डो को लेकर आया और दुकान पर गाली गलौच करते हुए बहने लगा कि तुमने मकान में यदि दरवाजा नही लगाने दिया तो तुम्हे  और तुम्हारे परिवार को जान से मार देगे। आज के बाद कभी मकान खाली की नही कहना जिस पर फरियादी ,ारा एक आवेदन पूर्व में भी पुलिस को दिया गया था जिस पर कोई कार्यवाही नही हुई थी। क्या पुलिस प्रशासन घटना का इन्तजार कर रही है इसके बाद ही कार्यवाही करेगी।

इनका कहना है पुलिस के द्वारा आरोपी को बुलाया गया था एवं उससे कब्जा हटाने के लिए कहा गया है यदि वह कब्जा नही हटाता है तो आरोपी के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जायेगी।

जी. डी. नौरोजी

ए.एस.आई थाना भाण्डेर



करवा चौथ का निर्जल-निराहार उपवास हुआ पूर्ण


श्योपुर। सुहागिनों के लिए असली श्रंगार माने जाने वाले पति के सुदीर्घ जीवन की कामनाओं के साथ पत्नियों द्वारा मनाया जाने वाला सुहाग पर्व करवा चौथ शुक्रवार को परम्परागत आस्था व उल्लास के साथ मनाया गया। इस पर्व पर विवाहिताओं ने सूर्योदय पूर्व से निर्जल-निराहार व्रत का संकल्प लेते हुए उपवास आरंभ किया तथा इस व्रत का समापन रात्रि काल में चन्द्रदर्शन के उपरांत चन्द्र देवता की पूजा-अर्चना तथा मिट्टी या शक्कर से निर्मित करवे से अध्र्य समर्पित करने के बाद अपने-अपने पतियों सहित परिवार के वरिष्ठजनों का आशीर्वाद ग्रहण करते हुए किया। पतियों ने अपनी पत्नियों को करवों में भरा पानी पिलाकर उनका उपवास पूर्ण कराया वहीं बुजुर्ग महिलाओं ने पर्व से जुड़ी कथा भी परिवार की अन्य महिलाओं को सुनाई जो इस पर्व के महात्म्य को रेखांकित करने वाली थी। 'यादातर महिलाओं ने यह पूजन पारिवारिक तौर पर किया जबकि कुछ परिवारों की महिलाओं ने इस त्यौहार को मिल-जुलकर सामूहिक रूप से भी मनाया। चन्द्रोदय का समय काल-गणनाओं के मुताबिक ग्वालियर-चंबल अंचल में रात्रि 08.20 बजे के आसपास पूर्व निर्धारित था तथापि चन्द्र देवता ने दर्शन देने के लिए महिलाओं को अ'छा खासा इन्तजार कराया तथा निर्जल निराहार महिलाऐं चन्द्रदेव के दिखाई देने के समाचारों पर कान लगाए रहीं। जैसे ही चन्द्रोदय के संकेत मिले यह खबर एक घर से दूसरे घर तक फैल गई और सजी-धजी महिलाओं ने पूजन की थालियां उठाऐं छतों का रूख कर लिया तथा छतों पर प्र"ावलित दीपकों की रोशनियां एक विहंगम दृश्य निॢमत करने लगीं।

सजना था उन्हें सजना के लिए


चूंकि यह पर्व सौभाग्य की कामनाओं से जुड़ा हुआ था लिहाजा इस पर्व की पूर्व तैयारियों का प्रमुख केन्द्र भी सौन्दर्य प्रसाधन की सामग्रियों तथा वस्त्राभूषणों के विक्रय केन्द्रों की मौजूदगी वाले बाजार और उपक्षेत्र बने। इन बाजारों में नगर के मुख्य बाजार सहित चांदनी मार्केट, चूड़ी गली, जैन मार्केट आदि प्रमुख रूप से उल्लेखनीय हैं। महिलाओं में सजने-संवरने की प्रवृžिा भी इस तरह के त्यौहारों पर उल्लास बनकर हावी रहती है जो करवा चौथ के मौके पर भी रही तथा नगरी में संचालित Žयूटी पार्लर्स पर बनाव-श्रंगार के लिए आने वाली विवाहिताओं व नव-विवाहिताओं की आवा-जाही का सिलसिला पर्व के दिन भी सुबह से शाम तक चलता रहा। व्यावसायिक तौर पर मेंहदी स"ाा करने वाली युवतियों और महिलाओं की भी इस त्यौहार से पहले खासी पूछ-परख बनी रही तथा मेंहदी लगवाने वाली महिलाओं की तुलना में लगाने वाली महिलाओं की संख्या बेहद कम रही नतीजतन अधिकांशत: महिलाओं व युवतियों को अपने व अपने परिवार की अन्य महिलाओं के हुनर का ही सहारा लेना पड़ा।

दो झोलाछापों के विरूद्ध कायमी


श्योपुर। बिना लायसेंस व पंजीयन के फर्जीवाड़ा करते हुए हर तरह की बीमारी का गारंटी से इलाज करने का दावा करने वाले दो झोलाछाप चिकित्सकों के खिलाफ कोतवाली पुलिस ने मामला कायम कर लिया है। यह कार्यवाही अनुविभागीय दण्डाधिकारी श्योपुर महीप तेजस्वी तथा स्वास्थ्य विभाग के नोडल अधिकारी डॉ. एस.एन. बिंदल के संयुक्त नेतृत्व में अंजाम दी गई छापामार कार्यवाही के बाद की गई है। कोतवाली पुलिस ने नोडल अधिकारी डॉ. एस.एन. बिंदल को फरियादी बनाते हुए उनकी रिपोर्ट के आधार पर कथित चिकित्सक मंगल दास पुत्र चंदन दास निवासी सलापुरा तथा मुकेश पुत्र हीरालाल शिवहरे निवासी पाली रोड श्योपुर के खिलाफ मध्यप्रदेश उपचार्या गृह अधिनियम 1973 की धारा 8 क तथा मेडीकल काउंसिल एक्ट की धारा 24 के तहत मामला कायम कर विवेचना में ले लिया है। प्रकरण कायम किए जाने की पुष्टि करते हुए नगर निरीक्षक वीरेन्द्र सिंह कुशवाह ने बताया है कि बिना लायसेंस के फर्जी तरीके से इलाज करने के आरोपी दोनों चिकित्सकों की गिरफ्तारी भी जल्दी ही कर ली जाएगी।

हथियारों की नोंक पर लूटपाट: पुलिस ने माल के साथ दबोचे चार बदमाश


श्योपुर। कराहल अनुभाग के अंतर्गत आने वाले ग्राम सेसईपुरा से सटे क्षेत्र में लूट की वारदात को अंजाम देने वाले चार लुटेरों को पुलिस ने दबोच लिया है। उक्त बदमाशों ने दो दिनों पहले कुड़ी का मोड़ के पास जंगल मे कुछ आदिवासी महिला-पुुरुषों से 1500 रुपए नकदी व आभूषणों सहित लगभग 60 हजार रुपए का माल लूटना कुबूल किया है जिसमें से 'यादातर माल बरामद भी कर लिया गया है। प्रभारी पुलिस अधीक्षक के रूप में इस आशय की जानकारी देते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय सिंह ने बताया है कि पकड़े गए लुटेरो में दौलत सिंह कुशवाह निवासी बिलौआ जिला-शिवपुरी, हाकिम सिंह राजावत, मोहर सिंह पवैया तथा अजय सिंह तोमर शामिल हैं। बदमाशों के पास से दो बंदूकें, एक देशी कट्टा, आठ जिंदा कारतूस और एक लुहांगी भी जŽत की गई है। नगर निरीक्षक विजयपुर प्रवीण अष्ठाना, थाना प्रभारी कराहल रशीद खान तथा थाना प्रभारी सेसईपुरा अभिषेक उपाध्याय की अगुवाई में दबोचे गए बदमाशों को शुक्रवार की दोपहर पत्रकारों के सामने प्रस्तुत भी किया गया।

सड़क निर्माण में धांधली की आशंका: प्रशासन को सौंपा गया ज्ञापन


श्योपुर। श्योपुर विकास खण्ड के अंतर्गत आने वाले ग्राम किशोरपुरा से हिरनीखेड़ा तक सड़क निर्माण के कार्य में धांधली व अनियमितताओं की आशंकाऐं जताते हुए इस आशय का एक ज्ञापन कांग्रेसी नेताओं व कार्यकर्ताओं द्वारा विगत दिवस श्योपुर प्रवास पर आए लोक निर्माण विभाग के सचिव को सौंपा गया है। जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष रामलखन हिरनीखेड़ा के नेतृत्व में सौंपे गए इस ज्ञापन में बताया गया है कि नाबार्ड योजना के तहत किशोरपुरा से हिरनीखेड़ा तक स्वीकृत मार्ग का कार्य कराने के लिए लोक निर्माण विभाग को कार्य एजेन्सी बनाया गया था, जिसने 80 लाख रूपए की लागत से 8.5 कि.मी. की लम्बाई वाले इस सड़क मार्ग के निर्माण कार्य में जमकर धांधली की। नतीजतन उक्त सड़क मार्ग बनने से पूर्व ही उखड़ गया है। ज्ञापन में सचिव लोक निर्माण विभाग का ध्यान इस गड़बड़ी की ओर आकृष्ट कराते हुए उक्त सड़क मार्ग के निर्माण कार्य की गुणवžाा की जांच करवाए जाने तथा दोषी कार्य एजेन्सी सहित सम्बद्ध विभागीय अधिकारियों के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही किए जाने की मांग भी उठाई गई है। ज्ञापन भेंट करने वालों में कांग्रेस की प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य चौधरी गिरिराज सिंह, सेवादल के जिला संगठक संजीव कुशवाह, खालिद खिलची, मोहम्मद साबिर, रामअवतार जोशी, ओ.पी. जारोलिया सहित अन्यान्य कांग्रेसी कार्यकर्ता शामिल थे।

खोली जाए बंद पड़ी उप-आंगनबाड़ी: वार्डवासियों ने दिया आवेदन


श्योपुर। विगत चार महीनों से बंद पड़ी उप आंगनबाड़ी को फिर से खुलवाए जाने की मांग जिला मुख्यालय के वार्ड क्रमांक 11 के वाशिंदों द्वारा जिला प्रशासन से की गई है। अपनी इस मांग के साथ जिलाधीश ज्ञानेश्वर बी. पाटील को सौंपे गए एक आवेदन में वार्डवासियों ने बताया है कि उनकी पुरजोर मांग पर वार्ड में एक उप-आंगनबाड़ी केन्द्र खोला गया था, जिससे कुछ माह तक तो ब"ाों को पोषण आहार एवं अन्य सुविधाएं दी जाती रहीं लेकिन बाद में उसे अकारण बंद कर दिया गया। विगत कुछ माह से बंद पड़ी इस उप-आंगनबाड़ी को फिर से खुलवाने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग की परियोजना अधिकारी को आवेदन दिए जाने लेकिन उस पर कोई सुनवाई नहीं होने की शिकायत उठाते हुए वार्डवासियों ने प्राप्त जानकारियों के हवाले से बताया है कि इस बन्द पड़ी उप-आंगनबाड़ी से पोषण आहार व अन्य मदों के पैसे बराबर निकाले जा रहे हंै। वार्डवासियों ने उप-आंगनबाड़ी को शीघ्र शुरू कराए जाने के साथ-साथ आंगनबाड़ी बंद रहने की अवधि में पैसे निकाले जाने की शिकायतों की जांच की भी मांग उठाई है। मांग करने वालों में रामकुमार, कमल सेन, हरपाल सिंह, रूपसिंह, दिनेश, विमला, भरत, महावीर, मुकेश बंजारा आदि शामिल हैं।

COMMENTS

Name

तीरंदाज,328,व्ही.एस.भुल्ले,523,
ltr
item
Village Times: अन्धों की बस्ती, नबाबों की बारात
अन्धों की बस्ती, नबाबों की बारात
http://3.bp.blogspot.com/-N0V8dWsb6HY/UJSkZgX6eGI/AAAAAAAAS0c/fq8Abb6po20/s200/indian_politician_392785.jpg
http://3.bp.blogspot.com/-N0V8dWsb6HY/UJSkZgX6eGI/AAAAAAAAS0c/fq8Abb6po20/s72-c/indian_politician_392785.jpg
Village Times
http://www.villagetimes.co.in/2012/11/blog-post_2.html
http://www.villagetimes.co.in/
http://www.villagetimes.co.in/
http://www.villagetimes.co.in/2012/11/blog-post_2.html
true
5684182741282473279
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS CONTENT IS PREMIUM Please share to unlock Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy